Naxal-Police Encounter: मुंगेर निवासी बीएसएफ डिप्‍टी कमांडेंट राजेश शहीद, इस वर्ष अबतक 5 जवानों ने गंवाई जान

Naxal-Police Encounter झारखंड के लातेहार में मंगलवार को नक्‍सली हमले में बिहार के मुंगेर निवासी बीएसएफ के डिप्‍टी कमांडेंट राजेश कुमार शहीद हो गए। जानकारी के मुताबिक अलग-अलग उग्रवादी घटनाओं में इस वर्ष अब तक पांच जवान व अधिकारी शहीद हो चुके हैं।

Alok ShahiWed, 29 Sep 2021 01:05 AM (IST)
Naxal-Police Encounter: नक्‍सली हमले में बिहार के मुंगेर निवासी बीएसएफ के डिप्‍टी कमांडेंट राजेश कुमार शहीद हो गए।

रांची, राज्य ब्यूरो। Naxal-Police Encounter झारखंड के लातेहार में मंगलवार को नक्‍सली मुठभेड़ में बिहार के मुंगेर जिले के रहने वाले बीएसएफ के डिप्‍टी कमांडेंट राजेश कुमार शहीद हो गए। शहीद डिप्टी कमांडेंट की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उन्‍हें दो गोलियां लगी थीं। एक गोली दाहिनी तरफ छाती में लगी और बायीं तरफ से निकली। इसी गोली से उनका हृदय और फेफड़ा क्षतिग्रस्त हुआ, जिसके चलते डिप्टी कमांडेंट राजेश की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दूसरी गोली उनके दाहिने जांघ में आर-पार होकर बाहर निकल गयी।

शहीद राजेश कुमार बिहार के मुंगेर जिले के लाल दरवाजा इलाके के रहने वाले थे। इनके पिता का नाम लाल बहादुर राय बताया गया है। इन्होंने झारखंड जगुआर में 07 सितंबर 2018 को अपना योगदान दिया था। राजेश ने 12 नवंबर 2007 को बीएसएफ की नौकरी ज्‍वाइन की थी। इसके साथ ही राज्य में इस वर्ष अब तक नक्सलियों-उग्रवादियों के हमले में पांच अधिकारी-जवान शहीद हो चुके हैं।

इनमें एक बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट राजेश कुमार के अलावा, झारखंड जगुआर के एक हवलदार देवेंद्र कुमार पंडित, सिपाही हरिद्वार साह, किरण सुरीन व सैट के जवान दिलेश्वर प्रास शामिल हैं। इस वर्ष अब तक घायल जवान व ग्रामीणों की संख्या भी करीब दस है। गत वर्ष 2020 में नक्सलियों से मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया था।

झारखंड में इस वर्ष 2021 में प्रमुख नक्सली घटनाएं

- 07 फरवरी : पश्चिमी सिंहभूम जिले के टोकलो थाना क्षेत्र में नक्सलियों से मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान जख्मी। - 16 फरवरी : लोहरदगा के सेरेंगदाग थाना क्षेत्र के दुंदरू जंगल में नक्सलियों के बिछाए गए प्रेशर बम की चपेट में आने से सैट का एक जवान दिलेश्वर प्रास शहीद। - 25 फरवरी : गुमला के मरवा जंगल में नक्सलियों के आइईडी ब्लास्ट में सीआरपीएफ 218 बटालियन के जवान रॉबिंस कुमार के पैर उड़े। - 27 फरवरी : गुमला के मरवा जंगल में आइईडी ब्लास्ट में एक ग्रामीण महेंद्र महतो का एक पैर उड़ा। - 04 मार्च : पश्चिमी सिंहभूम जिले के टोक्लो थाना क्षेत्र स्थित लांजी पहाड़ी पर नक्सलियों के डायरेक्शनल बम के हमले में झारखंड जगुआर के सिपाही हरिद्वार साह, किरण सुरीन व हवलदार देवेंद्र कुमार पंडित शहीद हो गए थे। दो जवान दीप टोपनो व निकू उरांव जख्मी हुए थे। - 21 जून : लोहरदगा के पेशरार थाना क्षेत्र में नक्सलियों के बिछाए गए प्रेशर बम की चपेट में आने से एक बुजुर्ग हीरालाल भगत की मौत। - 13 जुलाई : गुमला के कुरुमगढ़ थाना क्षेत्र में नक्सलियों के बिछाए गए लैंड माइंस विस्फोट में कोबरा बटालियन का खोजी कुत्ता ड्रोन शहीद हो गया। उसका हैंडलर जवान विश्वजीत कुंभकार जख्मी हो गए थे। - 14 जुलाई : गुमला के केरागनी जंगल में आइईडी ब्लास्ट में ग्रामीण रामदेव मुंडा की मौत, दो अन्य ग्रामीण जख्मी। - 15 जुलाई : गुमला जिले के कुरुमगढ़ थाना क्षेत्र में पुलिस से मुठभेड़ में 15 लाख का इनामी बुद्धेश्वर उरांव ढेर। - 17 जुलाई : पश्चिमी सिंहभूम व खूंटी जिले की सीमा पर स्थित गुदड़ी थाना क्षेत्र में पुलिस से मुठभेड़ में उग्रवादी संगठन पीएलएफआइ का जोनल कमांडर 10 लाख का इनामी शनिचर सुरीन ढेर। - 28 सितंबर : लातेहार के सलैया जंगल में जेजेएमपी उग्रवादियों से मुठभेड़ में बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट राजेश कुमार शहीद। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.