top menutop menutop menu

Mughal Empire Treasure: झारखंड के पलामू में मिला मुगलकालीन खजाना, धातु के घड़े में मिले 200 चांदी के सिक्के

Mughal Empire Treasure: झारखंड के पलामू में मिला मुगलकालीन खजाना, धातु के घड़े में मिले 200 चांदी के सिक्के
Publish Date:Mon, 13 Jul 2020 12:06 PM (IST) Author: Alok Shahi

पलामू, जेएनएन। पलामू जिले के पांकी थाना स्थित नवडीहा गांव में भलही पहाड़ी की तलहटी स्थित एक खेत से 200 चांदी के सिक्के मिले हैं। ये सिक्के धातु के घड़े (गगरी) में बंद मिले, जो 11वीं शताब्दी काल के बताए जा रहे हैं। इनमें से कुछ सिक्कों पर 1032 व 1092 अंकित है। उस पर अरबी व फारसी के शब्द लिखे हुए हैं, जो उसे मध्यकालीन भारत में प्रचलित सिक्के से जोड़ता है।

भूमि समतलीकरण में गागर में मिले सिक्कों पर इंगित है 1032 व 1092

बताते चलें कि जेसीबी मशीन से नवडीहा गांव निवासी बचन बैठा के खेतों के समतलीकरण का कार्य हो रहा था। इसी दौरान धातु की गगरी निकलने की बात सामने आई। हालांकि मिट्टी से लिपटे होने के कारण लोगों की नजर उस पर नहीं गई। इस बीच हुई बारिश से मिट्टी धुल गई और यह नक्काशीदार घड़ा गांव के ही जहीर मियां के बेटे सलीम मियां के हाथ लग गया, जिसे वह घर ले गया और उसे गिनने के उद्देश्य से जमीन पर बिखेर दिया, परंतु उसके बंटवारे को लेकर उसके भाइयों के बीच तनातनी हो गई और मामला थाना पहुंच गया। इसके बाद सिक्के मिलने का राज खुला।

सिक्के के बंटवारे को लेकर भाइयों के बीच बढ़ा विवाद तो थाने में खुला राज

इधर पुलिस सूत्रों के अनुसार सिक्के मिलने का राज सामने के आने के बाद दबाव में आकार सलीम मियां ने 102 सिक्के पांकी थाना के हवाला कर दिया। शेष सिक्कों को लेकर पुलिस छानबीन कर रही है। बताते चलें के नवडीहा गांव के खेतों में इससे पूर्व भी हल जोतने के दौरान चांदी के सिक्के मिलने की बात सामने आ चुकी है। पलामू जिला के हैदरनगर प्रखंड स्थित सोननदी के किनारे कबरा कलां में बौद्धकाल के सिक्के आदि मिले हैं। पुरातत्व विभाग द्वारा संबंधित स्थलों की खोदाई में भी प्राचीन काल के बर्तन आदि भी मिले है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग को  नवडीहा में मिले सिक्कों की जांच के लिए कहा गया है। इस संबंध में विभाग के निदेशक से बात की गई है। डा. शांतनु कुमार अग्रहरि, उपायुक्त, पलामू।

पलामू जिला के पांकी  प्रखंड अंतर्गत नवडीहा गांव के भलही में खुदाई के दौरान धातु के घड़े में भरे लगभग 200 चांदी सिक्के मिले हैं। सभी सिक्के मुगलकाल के बताए जा रहे हैं। सूचनानुसार बचन बैठा के खेतों के समतलीकरण के लिए जेसीबी से खुदाई की गई थी। इसी दौरान धातु की गगरी निकलने की बात कही जा रही है। खुदाई मे निकली यह गगरी किसी ठोस धातु की नक्काशीदार है।

खेत जोतने के दौरान किसान को मिले मुगलकालीन चांदी के सिक्के
पलामू जिले के पांकी  प्रखंड अंतर्गत नवडीहा गांव के भलही में एक किसान को खेत जोतने के दौरान धातु के घड़े में भरे लगभग 200 चांदी सिक्के मिले हैं। ये सिक्के मुगलकाल के बताए जा रहे हैं। ये सिक्के ठोस धातु की बनी नक्काशीदार गगरी ( घड़ा और सुराही जैसा बर्तन) में रखे थे।

नवडीहा के जहीर मियां के बैटे सलीम मियां को यह गगरी  हाथ लगी तो उसने गगरी को घर लाकर खोलकर देखा तो उसमे 200 चांदी के सिक्के थे। इसे लेकर भाइयों मे बंटवारे को लेकर विवाद भी हुआ। बाद में सलीम मियां ने 102 सिक्के पांकी पुलिस को सौंप दिए। शेष बचे सिक्कों की बरामदगी के लिए पुलिस छानबीन कर रही है। आसपास के खेतों में पहले भी कई बार हल जोतने के क्रम मे चांदी के सिक्के मिले हैं।

खुदाई के वक्त किसी को इस बारे मे पता नहीं चल सका। बारिश से धुलने के बाद नवडीहा के जहीर मियां के बैटे सलीम मियां को यह गगरी   हाथ लगी। सलीम इस गगरी को घर लाकर खोलकर देखा तो उसमे चांदी के सिक्के पाए गए। इससे गिनने के लिए वह जमीन पर बिखेर दिया।

लगभग 200से अधिक सिक्के थे। भाईयों मे बंटवारे को लेकर विवाद हुआ। और मामला थाना पहुंचा। सलीम मियां ने 102 सिक्कों को पांकी पुलिस को सौंप दिया। शेष बचे सिक्कों को लेकर पुलिस छानबीन कर रही है। विदित हो कि आसपास के खेतों में भी कई बार हल जोतने के क्रम मे चांदी के सिक्के मिले हैं।

पाकी प्रखंड के नौडीहा गांव के खेत में मुगलकालीन चांदी का सिक्का मिलने की सूचना मिली है। प्रशासनिक स्तर पर रिपोर्ट तैयार की जा रही है। फिलवक्त मिले चांदी के सिक्के पाकी थाना में रखे गए हैं। फुलेश्वर मुर्मू, बीडीओ, पाकी पलामू 

पांकी के नौडीहा गांव में निकला खजाना

पांकी के नौडीहा गांव के भलही में खुदाई के दौरान धातु के घड़े में भरे लगभग 200 मुगलकालीन चांदी के सिक्के मिलने से क्षेत्र में कौतूहल की स्थिति बन गई है। यहां बचन बैठा के खेतों के समतलीकरण के दौरान यह घड़ा निकला है। बारिश से धुलने के बाद नौडीहा के जहीर मियां के परिजनों को यह हाथ लगा। पांकी पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.