एम्‍स पटना की महिला अफसर से 8 वर्षों तक दुष्‍कर्म, विरोध पर बच्‍चे को जान से मारने की धमकी

शिकायत करने पर आरोपित ने पुलिस को कहा कि दोनों शादीशुदा हैं।
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 12:56 PM (IST) Author: Sujeet Kumar Suman

रांची, जेएनएन। बिहार की राजधानी पटना स्थित एम्स की एक महिला अफसर ने रांची के बरियातू निवासी संजीव प्रसाद पर अपहरण व दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। चुटिया थाने में इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी में पीड़िता ने कहा है कि संजीव कुमार से उसका परिचय लगभग आठ साल पहले पति से तलाक के बाद हुआ। इसके बाद संजीव ने उससे नजदीकी बढ़ाई। फिर बच्चे को कब्जे में लेकर उससे दुष्कर्म करता रहा।

इतना ही नहीं उसने जबरन एटीएम कार्ड भी अपने कब्जे में कर लिया और उसकी सैलरी भी निकाल लिया करता है। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार संजीव पिछले 24 सितंबर को उसे तथा उसके बच्चे का अपहरण कर रांची लेता आया। उसने दोनों को रांची के चुटिया स्थित स्थित होटल ब्लू शिवालिक के कमरा नंबर 303 में रखा है। अब वह उस पर जबरन शादी का दबाव बना रहा है।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि दुष्कर्म का विरोध करने पर आरोपित उसे और बच्चे को जान से मारने की धमकी देता है। इधर एफआइआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपित संजीव एक टेलीकॉम कंपनी में काम करता है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि इससे पहले भी उसने पुलिस से शिकायत की थी, लेकिन आरोपित ने पुलिस के सामने कह दिया कि दोनों शादीशुदा हैं।

इस वजह से पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। जबकि पीड़िता का कहना है कि उसने संजीव से शादी नहीं की है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कोर्ट मैरेज करने के इरादे से आरोपित ने उसका अपहरण किया है। इससे इतर वह शादी करना नहीं चाहती है।

पीड़‍ित महिला मूल रूप से झारखंड के गुमला की रहने वाली है। उसका अपने पति से 2016 में ही तलाक हो गया है। तलाक के बाद से वह रांची में रह रही थी। इसी दौरान वह संजीव कुमार के संपर्क में आई और दोनों के बीच दोस्‍ती हो गई। दोस्‍ती के बाद उसका महिला के घर आना-जाना शुरू हो गया। अकेली महिला को देखकर 2012 से ही संजीव कुमार उसके साथ दुष्‍कर्म करता आ रहा है। इस दौरान आरोपित ने महिला का एटीएम और मोबाइल लूट लिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.