Suicide in Ranchi: महिला थाने में फंदे से झूल कर अर्द्धविक्षिप्त महिला ने की आत्महत्या Ranchi News

रांची, जासं। राजधानी रांची के महिला थाना के आश्रय में अर्द्धविक्षिप्त महिला ने फंदे से झूल कर आत्महत्या कर ली। म‍हिला यहां अपनी साड़ी का फंदा बनाकर झूल गई। मृतका को रांची रेलवे स्टेशन के पास देर रात भटकती मिलने पर पीसीआर वैन ने महिला थाना लाकर छोड़ा था। इस बीच देर रात महिला आश्रय के एंगल में साड़ी का फंदा बनाकर वह झूल गई।

भटकती अर्ध्दविक्षिप्त को महिला थाना पहुंचाया, फंदे से झूलकर दी जान

रांची में फिर एक कस्टोडियन डेथ का मामला सामने आया है। रातू थाना के बाद रांची के महिला थाने में एक महिला साड़ी के फंदा बनाकर झूल गई। घटना सोमवार की सुबह करीब 4:00 बजे की बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार महिला अर्धविक्षिप्त बताई जा रही है। महिला का नाम श्री बाई (40) पति सुकना राम बताया जा रहा है। वह डुमरी चैनपुर गुमला की रहने वाली थी।

इस महिला को रविवार की रात पीसीआर-21 वैन की पुलिस ने महिला थाने पहुंचाया था। वह रांची रेलवे स्टेशन के आसपास भटकती हुई मिली थी।  इसके बाद उसे महिला थाने में शेल्टर के लिए भेजा गया था। जो रविवार की सुबह करीब 4:00 बजे साड़ी के फंदा बनाकर झूल गई। उसी आश्रय में अन्य दो महिलाओं ने यह देख पुलिसकर्मियों को जानकारी दी। इसके बाद पूरी थाने में हड़कंप मच गया।

छुपाने में जुटे महिला थाना के पुलि‍सकर्मी

घटना के तुरंत बाद महिला थाना प्रभारी विंध्यवासिनी सिन्हा सहित अन्य अधिकारी थाना पहुंचे और आनन-फानन में शव का पंचनामा तैयार करने के बाद रिम्स भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि सुबह एनएचआरसी की गाइड लाइन पर मजिस्ट्रेट के सामने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। हालांकि इस घटना के बाद महिला थाने की पुलिस पूरी तरह से तथ्‍य छुपाने में जुटी है। महिला थाने के पुलिसकर्मियों का कहना है कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है। हालांकि पुलिस के वरीय अधिकारियों ने इस कस्टोडियल डेथ की छानबीन शुरू कर दी है।

रातू थाना के हाजत में भी हुई थी आत्महत्या

रातू थाने के हाजत में बंद नेसार अंसारी (23 वर्ष) ने बीते 22 सितंबर की रात फंदे से झूलकर आत्महत्या कर ली थी। नेसार रातू के फुटकलटोली अलकमर कॉलोनी में रहता था। मूल रूप से चतरा जिले के लावालौंग का रहने वाला था। हाजत में बंद एक अन्य बंदी अमर नायक ने बाथरूम के वेंटीलेटर के सहारे झूलता देखा था। हालांकि इस मामले में पुलिस पर प्रताड़ना के आरोप लगे थे। इसके बाद रातू थानेदार को हटा दिया गया था।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.