दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

सादगी से मना भगवान श्रीरामजन्मोत्सव, घरों में हुई पूजा

सादगी से मना भगवान श्रीरामजन्मोत्सव, घरों में हुई पूजा

रांची व खूंटी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को कोरोना को देखते हुए भगवान

JagranThu, 22 Apr 2021 06:30 AM (IST)

रांची : रांची व खूंटी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को कोरोना को देखते हुए भगवान राम का जन्मोत्सव सादगी के साथ मनाया गया। इस दौरान शोभायात्रा नहीं निकाली गई। लोगों ने अपने-अपने घरों में रहकर पूजा-अर्चना की। हालांकि, महावीर व राम मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था।

खलारी : खलारी प्रखंड क्षेत्र में कोरोना महामारी के बीच बुधवार को भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया गया। रामनवमी को लेकर खलारी स्थित श्रीजानकी रमण मंदिर, पहाड़ी मंदिर सहित अन्य मंदिरों में सादगी के साथ पूजन एवं रामजन्मोत्सव मनाया गया। पूजन के लिए काफी कम संख्या में लोग उपस्थित थे। श्रीजानकी मंदिर में पुजारी सर्वानन्द दुबे तथा पहाड़ी मंदिर में बाबा बृजराज द्वारा विधिविधान से दोपहर सावा बारह बजे भगवान राम का जन्मोत्सव मनाया गया। मौके पर मंदिर कमेटी के कुछ सदस्य ही उपस्थित थे। वहीं, महावीरी ध्वज लगाया गया। ज्ञात हो कि खलारी कोयलाचल के प्रसिद्ध पहाड़ी मंदिर तथा श्रीजानकी रमण मंदिर में रामभक्त हनुमान व भगवान राम की पूजा करने के लिए श्रद्धालुओ की अपार भीड़ उमड़ती थी। श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए मंदिर समितियों द्वारा विशेष व्यवस्था की जाती थी। जाता था।

--------

बेड़ो : बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रखंड मुख्यालय सहित प्रखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को कोविड 19 के नियमों व दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए रामनवमी पर्व सादगी के साथ मनाई गई। यहा लोगों ने अपने-अपने घरों में विधिवत पूजा-अर्चना की। वहीं, कुछ लोगों द्वारा महादानी मंदिर व देवी मंडप में सादगी के साथ पूजा की गई। पहले रामनवमी की पूजा के लिए मंदिर व मंडप में श्रदालुओं की भीड़ उमड़ पड़ती थी, लेकिन इस बार सन्नाटा पसरा हुआ था।

---

सोनाहातू : रामनवमी के अवसर पर बुधवार को सोनाहातू एवं आसपास के क्षेत्रों में श्रद्धापूर्वक महावीर मंदिरों में बजरंग बली का पूजन किया गया। यहा कोविड-19 का पूर्णत: अनुपालन करते हुए सादगी तरीके से रामनवमी की पूजा-अर्चना की गई। कहीं भी शोभायात्रा नहीं निकाली गई। पूजन के पश्चात सिर्फ प्रसाद का वितरण किया गया।

----

धूमधाम से हो रही बसंती दुर्गापूजा

सोनाहातू : बासंती दुर्गा पूजा समिति पाडुडीह, बारेंदा के द्वारा सतीघाट के पवित्र स्थल पर आयोजित बसंती दुर्गापूजा धूमधाम से की जा रही है। यहां पूजा के दौरान कोरोना संक्रमण का ख्याल रखते हुए शारीरिक दूरी का पालन भी किया जा रहा है। श्रद्धालु प्रतिमा दर्शन के लिए प्रतिदिन आ रहे हैं। यहा आयोजन समिति के द्वारा श्रद्धालुओं का पूरी तरह से सहयोग प्रदान किया जा रहा है। दुर्गापूजा के दौरान दुर्गा मंदिर में बुधवार को नवमी पूजन किया गया। वहीं, गुरुवार को दशमी पूजन, कलश विसर्जन एवं संध्या में प्रतिमा विसर्जन किया जाएगा।

--------

लापुंग में लोगों ने घर में रहकर की पूजा

संसू, लापुंग : लापुंग प्रखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के गावों में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव रामनवमी पूजा सादगी से मनाई गई। इस दौरान प्रखंड के गावों में स्थित महावीर मंदिरों को आकर्षक रूप से सजाया गया है। स्थानीय लोग सुबह से सरकार के बताई गई गाइडलाइन के अनुसार पूजा-अर्चना किए। वहीं, लापुंग प्रखंड के ककरिया, लापुंग, कारूम, पोकटा के मंदिर परिसर में स्थित बजरंग बली मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। बजरंग मंदिर परिसर में स्थानीय पंडितों के द्वारा पूरे विधि-विधान से पूजा कराई गई। साथ ही बजरंगी झडा लगाया गया। इसके बाद प्रत्येक सनातन घरों में बजरंगी झडा लगाया और लोगों ने अपने-अपने घरों में पूजा-अर्चना की। कहीं भी झंडा मिलन समारोह नहीं हुआ।

------

पिस्कानगड़ी : नगड़ी प्रखंड में भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव रामनवमी पूजा सादगी से मनाई गई। कहीं भी जुलूस नहीं निकाला गया। हालांकि, क्षेत्र के स्थानीय हनुमान मंदिरों और महावीर चबूतरों को आकर्षक रूप से सजाया गया।

----

सादगी से रामनवमी पूजा संपन्न, नहीं निकला शोभायात्रा

सिल्ली फोटो 4 महावीर सेवक संघ मंदिर प्रागण में लाठी खेल कर अखाड़े की परंपरा का निर्वहन करते

सिल्ली:- सिल्ली एवं आसपास क्षेत्रों में बुधवार को रामनवमी के पर्व सादगी पूर्ण संपन्न हुआ। कोरोना के कारण क्षेत्र में किसी तरह का अखाड़ा और जुलूस नहीं निकला। जगह-जगह मंदिर समिति की ओर से मंदिरों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए पूजा-अर्चना की। मंदिर में आनेवाले लोगों के लिए शारीरिक दूरी का पालन करना एवं मास्क अनिवार्य कर दिया गया। वहीं घरों में भी लोग अपने आगन में हनुमानजी की ध्वज लगाकर पूजा अर्चना किया। वहीं सिल्ली महावीर सेवक संघ के मंदिर प्रागण में अस्त्र शास्त्र का पूजन एवं एक दो खिलाड़ियों ने लाठी खेल कर अखाड़े के परंपरा का निर्वहन किया।

----

तमाड़ : तमाड़ प्रखंड में रामनवमी सादगी के साथ संपन्न हो गई। इस दौरान सरकारी गाइडलाइन के अनुसार लोगों ने पूजा-अर्चना की।

------

इटकी : इटकी व आसपास के गावों में बुधवार को रामनवमी का पर्व सादगी के साथ मनाया गया। जुलूस नहीं निकाले गए। श्रद्धालुओं द्वारा अपने घरों में ही महावीरी झडों की पूजा-अर्चना की गई। परंपरा का निर्वाह करते हुए मुख्य महावीर मंदिर से मात्र पाच महावीरी झडों के साथ लोग मौसीबाड़ी मैदान पहुंचे व पूजा-अर्चना के बाद वापस लौट गए। इसमें इटकी महावीर मंडल के पूर्व अध्यक्ष कृष्णा राम तिवारी, थाना प्रभारी विजय कुमार, लाला खान व बबलू हाशमी सहित अन्य शामिल थे। इधर, रामनवमी महोत्सव के अवसर पर स्थानीय श्री जगन्नाथ मंदिर प्रागण में आयोजित नौ दिवसीय रामचरितमानस पाठ का समापन हुआ।

---------

पिपरवार : पिपरवार कोयलाचल में भी रामनवमी सादगी के साथ मनाई गई। अधिकतर लोगों ने अपने ही आवास पर ही रामनवमी का त्योहार को सादगीपूर्ण तरीके से मनाया। रामनवमी के पावन अवसर पर एक तरफ जहा बीओसी स्थित हनुमान मंदिर में आकर्षक नजारा देखने को मिला, वहीं पूरा कोयलाचल महावीरी पताकों से पटा दिखा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.