top menutop menutop menu

बिहार चुनाव को ले लालू प्रसाद ने कसी कमर, झारखंड हाई कोर्ट में दाखिल की जमानत याचिका

रांची, राज्य ब्यूरो। Bihar Election News बिहार में चुनावी शोर सुनाई देना लगा है। ऐसे वक्त में लालू को बिहार की याद आने लगी है। चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर जमानत देने की गुहार लगाई है। उनकी ओर से चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में जमानत याचिका दाखिल की गई है।

याचिका में कहा गया है कि उन्होंने चाईबासा मामले में सीबीआइ कोर्ट से मिली सजा की आधी सजा काट ली है। इसलिए उन्हें जमानत की सुविधा प्रदान की जाए। माना जा रहा है कि चुनाव में अपने बेटों की मदद के लिए राजद सुप्रीमो ने यह कदम उठाया है। बिहार में राजनीति अपने उफान पर हैं। जमानत दाखिल करने पर इस बात का कयास लगाया जा रहा है कि लालू प्रसाद बिहार चुनाव को देखते हुए जेल से बाहर आना चाहते है, ताकि राजद को चुनाव में फायदा हो सके।

बता दें कि बिहार में विधानसभा चुनाव इस वर्ष अक्टूबर-नवंबर में होंगे। यहां 243 सीटों के लिए चुनाव होना है। 2015 के विधानसभा चुनाव में चुने गए वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर 2020 को समाप्त होना है। बिहार चुनाव के लिए राजनीतिक दलों की तैयारियां शुरू हो गई हैं। पाेस्‍टर वार के साथ सोशल मीडिया पर भी आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है।

बिहार में मुख्‍य मुकाबला राजद और जदयू के बीच नजर आ रहा है। लालू प्रसाद के बिना राजद कमजोर नजर आ रहा है। इसके लिए लालू प्रसाद ने हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है, ताकि वे बिहार चुनाव में अपनी सक्रियता दिखा सकें। इधर, बिहार चुनाव के कारण रिम्‍स में भर्ती लालू प्रसाद से मिलने वालों की संख्‍या भी बढ़ गई है। दो दिन पहले भी नियम-कानून को ताक पर दो नेताओं ने लालू प्रसाद से उनके वार्ड में मुलाकात की थी।

लालू प्रसाद के वार्ड का हुआ निरीक्षण, ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने दिए दिशा निर्देश

रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के वार्ड का शनिवार को ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने निरीक्षण किया। करीब आधे घंटे तक उन्होंने पूरे वार्ड की गहनता से जांच की। साथ ही सुरक्षा पर तैनात सभी पुलिस कर्मियों को विशेष दिशा निर्देश भी दिए।

निरीक्षण कर निकलते वक्त उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से उन्हें सूचना मिली थी कि लालू प्रसाद से लोग मुलाकात कर रहे हैं। एक्शन के बाद उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात फिलहाल सामने नहीं आई है। हालांकि नजर रखी जा रही है। अगर ऐसी बात सामने आने पर पुष्टि होती है तो उचित कार्रवाई भी की जाएगी।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन में प्रधानाध्यापक ने बनाया सीक्रेट सुपर स्टार ग्रुप, शिक्षा विभाग ने सराहा; दिया प्रशस्ति पत्र

यह भी पढ़ें: बिहारी इतने भारी कि कुर्सी भी नहीं उठा पा रही वजन... पढ़ें पुलिस महकमे की अंदरुनी खबर

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.