किसान 50 हजार तक लोन माफ कराने के लिए 31 मार्च तक करें आवेदन, जानें- कर्ज माफी की पूरी प्रक्रिया

Jharkhand Farmers Loan Waiver सरकार 9 लाख किसानों के 50 हजार रुपये तक के बैंक कर्ज माफ कर रही है।

Jharkhand Kisan Rin Mafi Yojna झामुमोनीत महागठबंधन सरकार के एक साल पूरे होने पर 29 दिसंबर को किसान कर्ज माफी योजना की घोषण हुई थी। इसके तहत 2000 करोड़ रुपये से सभी रैयत और गैर रैयत के 50 हजार रुपये तक के ऋण माफ किए जाएंगे।

Publish Date:Thu, 28 Jan 2021 04:54 AM (IST) Author: Alok Shahi

रांची, जेएनएन। Krishi Rin Mafi Yojana Jharkhand, Jharkhand Farmers Loan Waiver  झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने राज्‍य के 9 लाख किसानों के 50 हजार रुपये तक के बैंक कर्ज की माफी की घोषणा की है। चालू वित्तीय वर्ष में अब इस पर काम शुरू हो गया है। बीते 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर राज्‍यपाल द्रौपदी मूर्मू की अहम घोषणा के बाद बुधवार से सभी जिलों में एक साथ किसानों के कर्ज माफ करने को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है।

मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने झामुमोनीत महागठबंधन सरकार के एक साल पूरे होने पर 29 दिसंबर को इस बड़े फैसले का एलान किया था। किसान कर्ज माफी योजना के तहत 2000 करोड़ रुपये की स्‍वीकृति दी गई है। इस राशि से सभी रैयत और गैर रैयत के 50 हजार रुपये तक के ऋण माफ किए जाएंगे। इधर जिलों में झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के संबंध में जिला स्तरीय समिति (DLC ) के साथ बैठक हुई।

इसमें कहा गया कि किसान मात्र एक रुपये देकर अपने ऋण की माफी से संबंधित जानकारी ले सकेंगें। इसके बाद सम्बन्धित पदाधिकारी द्वारा लाभुक को झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के बारे में जानकारी देंगे एवं योग्य किसानों को बैंक की शाखाओं में लाएंगे। झारखंड किसान ऋण माफी योजना के सफल संचालन को लेकर जिले में कृषक मित्रों को भी बड़ी जिम्‍मेवारी सौंपी गई है।

झारखंड कृषि ऋण माफी योजना में कृषक मित्रों की अहम भूमिका होगी। इस दौरान ऋण माफी को लेकर अपनायी जाने वाली प्रक्रिया के साथ योजना से संबंधित कृषक मित्र किसान की शंकाओं का भी निराकरण करेंगे। इसके अलावे सभी कृषक मित्र अपने स्तर से योजना का व्यापक प्रचार प्रसार करेंगे, ताकि किसानों को किसी प्रकार भ्रम या समस्या का सामना न करना पड़े।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.