ग्रामीण विकास और सामाजिक सुरक्षा में झारखंड ने जीते आठ पुरस्कार

राज्य ब्यूरो, रांची। ग्रामीण विकास और सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर झारखंड ने राष्ट्रीय स्तर के आठ पुरस्कार झटके हैं। मंगलवार को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय पुरस्कार कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इस सराहनीय प्रदर्शन के लिए झारखंड के अफसरों को सम्मानित किया। ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव अविनाश कुमार, मनरेगा आयुक्त सिद्धार्थ त्रिपाठी, निदेशक सामाजिक सुरक्षा मनोज कुमार, चतरा के निवर्तमान डीडीसी जीशान कमर तथा वर्तमान डीडीसी मुरली मनोहर प्रसाद ने ये पुरस्कार ग्रहण किए। अफसरों को सम्मान स्वरूप मोमेंटो और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

झारखंड को मनरेगा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर चार, सामाजिक सुरक्षा पेंशन में तीन तथा प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में एक पुरस्कार मिले हैं। मनरेगा में डीबीटी के बेहतरीन क्रियान्वयन पर झारखंड को जहां प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया, वहीं मनरेगा में ही गुड गवर्नेस का द्वितीय श्रेणी का पुरस्कार झटकने में भी राज्य कामयाब रहा। मनरेगा में ही बेहतर जियो कनेक्टिविटी के लिए जहां चतरा पूरे देश में अव्वल रहा, वहीं मनरेगा में मजदूरी भुगतान में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए ग्रामीण डाक सेवक, पांकी (पलामू) को पुरस्कृत किया गया।

डीबीटी के जरिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन के भुगतान में बेहतरीन प्रदर्शन करने पर झारखंड को द्वितीय पुरस्कार मिला है, जबकि आधार आधारित पेंशन भुगतान तथा बेस्ट प्रैक्टिस के लिए प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री ने इसी तरह वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से बड़ी संख्या में बसावटों को जोड़ने के लिए भी झारखंड को सम्मानित किया। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.