India vs South Africa 3rd Test, Ranchi: रांची टेस्ट में खेलेंगे झारखंड के नदीम, कुलदीप यादव की जगह टीम में शामिल किए गए बाएं हाथ के स्पिनर

रांची, [जागरण स्‍पेशल]। धनबाद के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम में शामिल किए गए हैं। नदीम को चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की जगह टीम में शामिल किया गया है। शुक्रवार को अभ्यास के क्रम में कुलदीप ने कंधे में दर्द की शिकायत की । इसके बाद नदीम को टीम में शामिल करने का निर्णय लिया गया।

टेस्ट टीम में शामिल होने वाले झारखंड के तीसरे खिलाड़ी

शहबाज नदीम टेस्ट टीम में शामिल होने वाले झारखंड के तीसरे खिलाड़ी हैं। महेंद्र सिंह धौनी व तेज गेंदबाज वरुण आरोन के बाद नदीम को टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद ने अंतिम टेस्ट के लिए नदीम के चयन पर मुहर लगाई है।

झरिया स्थित ससुराल में भी जश्न का माहौल

शाहबाज नदीम के भारतीय क्रिकेट टेस्ट टीम में शामिल किए जाने की सूचना से उनकी झरिया ऊपर कुल्ही स्थित ससुराल में जश्न का माहौल है। शनिवार को रांची में भारत व साउथ अफ्रीका की टीम का मुकाबला होगा। नदीम को कुलदीप यादव की जगह टीम में जगह दी गई है। इसके पूर्व वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन क्रिकेट मैचों की टी-20 सीरीज में भी नदीम का चयन हो चुका है। नदीम के पिता जावेद महमूद 19 वर्ष पूर्व व झरिया व जोड़ापोखर में इंस्पेक्टर थे। बाद में वे डीएसपी होकर सेवानिवृत्त हुए। नदीम की प्रारंभिक शिक्षा डिगवाडीह के डिनोबिली स्कूल से हुई। शुरुआत से ही उसने क्रिकेट में हाथ दिखाने शुरू कर दिए थे। उसकी लगन और मेहनत से उसे मुकाम मिला।

नदीम के भारतीय टीम में चयन से ससुर अख्तर अली, चाचा ससुर मोहम्मद अली, शहाबुल इस्लाम, साला दानिश महमूद सहित पूरा परिवार गदगद है। दानिश ने बताया कि बहन शमन अख्तर से वर्ष 2015 में कोलकाता में नदीम का निकाह हुआ था। हमारे दादा महमूद हुसैन समाजसेवी थे। वहीं चाचा ससुर मोहम्मद अली ने बताया कि नदीम के पिता जावेद महमूद से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पढ़ाई के दौरान  जान पहचान हुई थी। इसके बाद हमलोग रिश्तेदार बन गए। नदीम ने क्रिकेट की शुरुआत डिगवाडीह मैदान से की थी।

धनबाद रेलवे ग्राउंड मैदान में भी वह खेले। उनके कोच इम्तियाज अहमद थे। क्रिकेट खिलाड़ी रहमान का भी उनको मार्गदर्शन मिलता था। नदीम का टेस्ट टीम में शामिल होना हम सभी व झरिया के लिए गौरव की बात है। वर्ष 2014 व 15 में सबसे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड नदीम के नाम है। वे झारखंड रणजी टीम के कप्तान भी रह चुके हैं। नदीम अब तक इंग्लैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, यूएई का दौरा भारतीय क्रिकेट ए टीम से कर चुके हैं।

नदीम के बड़े भाई थे अच्छे क्रिकेटर

दानिश ने बताया कि नदीम के बड़े भाई असहद इकबाल भी अच्छे क्रिकेटर रहे। वे भी ईस्ट जेान क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके हैं। अभी दिल्ली में जॉब कर रहे हैं। इकबाल  की प्रेरणा से नदीम क्रिकेट में आए। पिता जावेद महमूद ने भी बच्चों को क्रिकेट के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.