Ramgarh Samachar: देवर के साथ गुलछर्रे उड़ाते रही भाभी, अवैध संबंधों में पति का किया ये हाल...

Jharkhand Ramgarh Crime News: रामगढ़ के अधिवक्ता अजय कुमार महतो की हत्या उसकी पत्नी व मौसेरे भाई ने की थी।

Jharkhand Ramgarh Crime News रामगढ़ व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ता अजय कुमार महतो की हत्या कोर्ट के समीप एक लाइन होटल में उसकी पत्नी व मौसेरे भाई ने मिलकर की थी। पत्थर से कूचकर व गला दबाने के बाद धारदार चाकू से गला रेतकर उसकी निर्मम हत्या की गई।

Alok ShahiSat, 10 Apr 2021 07:15 PM (IST)

रामगढ़, जासं। Jharkhand Ramgarh Crime News रामगढ़ व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ता अजय कुमार महतो की  हत्या कोर्ट के समीप एक बंद लाइन होटल में उसकी पत्नी व मौसेरे भाई ने मिलकर की थी। सोने की हालत में पत्थर से कूचकर व गला दबाने के बाद धारदार चाकू से गला रेतकर उसकी निर्ममता से हत्या की गई थी। घटना के पीछे सबसे बड़ा कारण मृतक अधिवक्ता के मौसेरे भाई का पत्नी के साथ अवैध संबंध था। बंद होटल से तीन अप्रैल को शव मिलने के बाद एसपी प्रभात कुमार ने शनिवार को प्रेस वार्ता कर अधिवक्‍ता हत्‍याकांड से जुड़े इस सनसनीखेज मामले का पर्दाफाश किया।

पत्‍नी सुमन और उसका आशिक गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपित पत्नी व मौसेरे भाई को गिरफ़्तार कर लिया है। वारदात को अंजाम देने के लिए प्रयुक्त धारदार चाकू व बाइक को बरामद किया गया है। एसपी ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि रजरप्पा थाना क्षेत्र के सेवराडीह, बोरोबिंग निवासी अधिवक्ता अजय कुमार महतो की हत्या उसकी पत्नी विराजो कुमारी उर्फ सुमन व मौसेरे भाई हेमंत कुमार उर्फ टिंकू ने मिलकर की है।

बंद होटल में कर दी थी हत्‍या

रजरप्पा थाना क्षेत्र के उरबा गांव निवासी हेमंत हमेशा बोरोबिंग आता जाता रहता था। एक अप्रैल को भी वह अपनी बाइक (जेएच01सीएक्स 9046) से सेवराडीह पहुंचा और अजय महतो को घर से करीब दो बजे दिन को घूमने के लिए अपने साथ ले गया। बाइक से बैठाकर उसे बड़कीपोना से होते हुए घुमते-घुमते गेतलसुद डैम व सिकिदरी होते हुए रामगढ़ उसी दिन कोर्ट के पास पहुंचा और बंद होटल कृष्णा पैलेस में सुनसान देखकर रात में रुक गया।

दिमागी रूप से बीमार था महिला का पति

पहले दिन की रात को नींद पड़ जाने के कारण हत्या नहीं कर सका। क्योंकि अजय सीधा-साधा एवं दिमागी रूप से बीमार था, कुछ भी बोलने पर सुन लेता था। एसपी ने बताया कि दूसरे दिन दो अप्रैल को फिर हेमंत उसे बाइक से पतरातु डैम घूमने निकल गया। रात को रामगढ़ वापस आने के बाद सुभाष चौक स्थित मंदिर में अजय महतो को भजन-कीर्तन में शामिल कराया।

पहले गला दबाया, फिर काट डाला

भजन-कीर्तन समाप्त होने के बाद बाइक से बैठाकर फिर कोर्ट के सामने उसी होटल में हेमंत को ले गया। वहां कार्टून बिछाकर सो गया। इसके बाद देर रात को उठकर बगल में रखे पत्थर को उठकार सोये हालत में अजय महतो के मुंह व सिर पर पत्‍थर से वार कर दिया। फिर उसका गला दबाकर हत्या करने के बाद चाकू से उसका गला काट दिया। इसके बाद बाइक लेकर जेल रोड हुए चाकू को रेलवे क्रॉसिंग के पहले झाड़ी फेंक कर घर चले गए।

2018 में हुई थी शादी

एसपी ने बताया कि विराजो कुमारी उर्फ सुमन व अजय महतो की शादी वर्ष 2018 में हुई थी। लेकिन शादी के बाद से ही दोनों के बीच वैवाहिक संबंध बहुत अच्छे नहीं रहे। पति-पत्नी के बीच के रिश्ते में दरार पड़ी, तो सुमन ने अपने मौसेरे देवर हेमंत के साथ अपना अवैध संबंध बना लिया। शादी के कुछ ही दिन बाद जब दोनों में प्रेम परवान चढ़ने लगा, तो उसी वक्त अजय महतो की हत्या की साजिश का ताना-बाना बुना जाने लगा।

पहले भी किया हत्‍या का प्रयास

दोनों देवर-भाभी ने मिलकर कई बार अजय महतो की हत्या करने का प्रयास किया। लेकिन हर बार सुमन व हेमंत नाकाम रहे। जिस वक्त हत्या हुई उस वक्त भी हेमंत व सुमन के बीच मोबाइल पर बात हुई थी। मोबाइल पर ही हेमंत ने सुमन को अजय महतो की मौत की खबर सुनाई।

एक साल पहले रची गई थी अधिवक्ता की हत्या की साजिश

एसपी ने बताया कि गत वर्ष 2020 में एक रात हेमंत ने अधिवक्ता अजय कुमार महतो घर में घुसकर लोहे के रड से उसपर हमला किया था। लेकिन चोर-चोर का हल्ला होने पर वह भाग गया था। इस हमले में अजय महतो बच गया था। इसके बाद भी हेमंत व मृतक की पत्नी विराजो उर्फ सुमन के बीच चोरी-छिपे मिलना-जुलना एवं शारीरिक संबंध जारी रहा।

एक बार हत्‍या का प्रयास विफल हो जाने के बाद इधर फिर से अधिवक्‍ता अजय महतो की हत्या की योजना बनाई गई। एसपी ने बताया कि अधिवक्‍ता हत्‍याकांड का खुलासा करने में एसडीपीओ किशोर कुमार रजक के नेतृत्व में रामगढ़ थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुशील कुमार, पुअनि जय प्रकाश शर्मा, सिद्धांत व सोनू कुमार ने सराहनीय काम किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.