Jharkhand Police: जागरण प्रभाव : पुलिस ने ठेकेदारों को दिलाया भरोसा, बखौफ होकर करें काम

Jharkhand Police उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया(Peoples Liberation Front of India) (पीएलएफआइ) की धमकी के बाद रेलवे के ठेकेदारों ने दहशत में काम बंद कर दिया है। दैनिक जागरण(Dainik Jagran) में प्रकाशित खबर पीएलएफआइ के खौफ से ठेकेदारों ने बंद किया काम खबर पर संज्ञान लिया पुलिस मुख्यालय।

Sanjay KumarFri, 03 Dec 2021 10:53 AM (IST)
Jharkhand Police: जागरण प्रभाव : पुलिस ने ठेकेदारों को दिलाया भरोसा, बखौफ होकर करें काम

रांची (राज्य ब्यूरो)। Jharkhand Police: उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया(People's Liberation Front of India) (पीएलएफआइ) की धमकी के बाद रेलवे के ठेकेदारों ने दहशत में काम बंद कर दिया है। रेलवे(Railway) की बंद पड़ी परियोजनाओं को चालू कराने को लेकर झारखंड पुलिस(Jharkhand Police) मुख्यालय गंभीर है। दैनिक जागरण(Dainik Jagran) में एक दिसंबर को प्रकाशित खबर 'पीएलएफआइ के खौफ से ठेकेदारों ने बंद किया काम' खबर पर संज्ञान लेते हुए पुलिस मुख्यालय ने रेलवे की परियोजनाओं पर काम कर रहे ठेकेदारों की एक बैठक बुलाई और उनकी समस्याओं को जाना। पुलिस मुख्यालय(Police Headquarters) ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि रेलवे परियोजनाओं के निर्माण में नक्सली-उग्रवादी बाधक नहीं बनेंगे। ठेकेदारों को पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी, ताकि परियोजनाएं ससमय पूरा हो सकें।

रेलखंड पर आठ ठेकेदारों ने बंद कर दिया है काम:

गौरतलब है कि हटिया-बंडामुंडा रेल लाइन पर रेलवे लाइन दोहरीकरण का मामला हो या रेल ओवरब्रिज निर्माण का, इस रेलखंड पर आठ ठेकेदारों ने इसलिए काम बंद कर दिया है कि यहां उग्रवादियों ने लेवी-रंगदारी को लेकर ठेकेदारों को धमकाया है और बिना लेवी दिए काम नहीं करने की चेतावनी दी है।

उग्रवादियों ने कैसे धमकी दी, पुलिस कर रही है अनुसंधान:

पुलिस इस बात का भी अनुसंधान कर रही है कि उन्हें उग्रवादियों ने कैसे धमकी दी। पुलिस मुख्यालय ने ठेकेदारों से धमकी संबंधित साक्ष्य जैसे मोबाइल नंबर, चिठ्ठी-पत्री, पोस्टर आदि उपलब्ध कराने को कहा है, जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई कर सके।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.