बिहार ले जाई जा रही अवैध शराब जब्‍त, रांची पुलिस ने 4 तस्‍करों को पकड़ा Ranchi News

बिहार ले जाई जा रही अवैध शराब जब्‍त, रांची पुलिस ने 4 तस्‍करों को पकड़ा Ranchi News
Publish Date:Thu, 06 Aug 2020 09:54 AM (IST) Author: Sujeet Kumar Suman

रांची, जासं। रांची पुलिस ने पूरे जिले में अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। अवैध शराब के तस्करों को चिन्हित कर लगातार छापेमारी की जा रही है। बुधवार की देर रात पिठौरिया इलाके के ओयना गांव में छापेमारी कर भारी मात्रा में शराब जब्‍त किया है। शराब तस्कर ओयना गांव में स्टॉक कर उसे बिहार भेजते थे।

इसके अलावा पिठौरिया के लोकल इलाकों में भी इसकी बिक्री की जाती थी। इसकी सूचना मिलने के बाद पिठौरिया थाने की टीम थाना प्रभारी विनोद राम के नेतृत्व में मौके पर पहुंची और छापेमारी की। हालांकि अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से शराब तस्कर फरार हो गए। पुलिस अवैध शराब जब्‍त कर एफआइआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है।

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम भी मौके पर पहुंचे हैं। ओयना गांव में शराब बनाकर बिक्री की जा रही थी। कई ब्रांड के लेवल लगाकर बिहार और लोकल इलाकों में उसकी बिक्री होती थी। मौके से चार लोग पकड़े गए हैं। उनसे पूछताछ चल रही है। बड़े पैमाने पर रैकेट चलाने की आशंका है।

पुंदाग में भी तीन कार में भरकर ले जाई जा रही 2100 बोतल शराब जब्त

बीते मंगलवार की देर रात तीन अलग-अलग कार में रख 2100 बोतल शराब पुलिस ने जब्त किया था। पुलिस को जानकारी मिली थी कि तस्‍कर शराब कार में भरकर बिहार ले जा रहे हैं। इसकी सूचना मिलने पर पुंदाग थाने की पुलिस ने छापेमारी की और कार जब्‍त कर ली है। हालांकि मौके से शराब के तस्कर फरार हो गए। जानकारी के अनुसार पुंदाग ओपी की पुलिस को तीन गाड़ियों में भरकर शराब को बिहार ले जाने की सूचना मिली थी।

बताया गया कि बुधवार की सुबह करीब चार शराब भरी गाड़ियां गुजरने वाली है। इसके बाद पुलिस ने सेल सिटी के पास इन तीनों वाहनों को पकड़ने के लिए चेकिंग लगाई। चालकों ने पुलिस को देखा तो तीनों वाहनों में सवार चालक गाड़ी छोड़कर अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। दो कार और एक पिकअप वैन में तीन पेटी में 300 एमएल की 2100 बोतल भरकर बिहार ले जाया जा रहा था। पुलिस ने मामले में बंदा गोपी में एफआइआर दर्ज की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.