पहले CM हेमंत सोरेन, अब झामुमो ने मारा ताना... चार्टर्ड प्लेन देंगे, दिल्ली जाकर PM मोदी से मिलें BJP सांसद-विधायक

Jharkhand Mukti Morcha, Hemant Soren: झामुमो ने कोरोना वैक्सीन खरीद में 20 हजार करोड़ के घोटाले की आशंका जताई।

Jharkhand Mukti Morcha Hemant Soren झामुमो ने कोरोना वैक्सीन खरीद में 20 हजार करोड़ के घोटाले की आशंका जताई। कहा कि केंद्र ने टीकाकारण के लिए 35 हजार करोड़ का बजट प्रावधान किया। इसके बाद 18 से 45 वर्ष के लोगों को टीकाकरण के लिए शुल्क निर्धारित कर दिया गया।

Alok ShahiSat, 08 May 2021 09:10 PM (IST)

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Mukti Morcha, Hemant Soren राज्य में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक बार फिर भाजपा को निशाने पर लिया है। महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य में भाजपा के सारे सांसद और विधायक दिल्ली जाकर प्रधानमंत्री से मुलाकात करें और झारखंड को कोरोना से लड़ने के लिए सारे संसाधन उपलब्ध कराएं। झारखंड मुक्ति मोर्चा उनके दिल्ली जाने के लिए चार्टर्ड प्लेन की व्यवस्था कराएगी। झामुमो का दावा है कि झारखंड में अब कोरोना वैक्सीन का भंडार इतना भी नहीं है कि लोगों को दूसरा डोज दिया जा सके। इसके अलावा अन्य मेडिकल मेडिकल संसाधनों के लिए भी केंद्र सरकार से अपेक्षित सहयोग नहीं मिल पा रहा है।

झामुमो महासचिव ने कहा, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सही बात भी भाजपा के नेताओं को बुरी लग रही है। उनकी बातों पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। जिस तरह से भाजपा के नेताओं ने विरोध में सुर एक किया है, वैसे ही राज्य में मेडिकल संसाधनों की कम आपूर्ति पर केंद्र से बात करेंगे तो बड़ी राहत मिल सकती है। झारखंड सरकार ने केंद्र सरकार से वैक्सीन के लिए 4.5 करोड़ डोज मांगा, लेकिन झारखंड को केवल 29.83 लाख डोज ही मिल पाया।

रेमडेसिविर का 4028500 डोज मांगा गया लेकिन 29534 ही मिला। कोरोना से जंग लड़ने के लिए आवश्यक अन्य दवाएं भी काफी कम मात्रा में मिली। 500 वेंटिलेटर मांगा गया, लेकिन 300 ही मिल पाया। यही हाल ऑक्सीजन कंटेनर और सिलिंडर का भी है। उन्होंने राज्य में भाजपा के सांसदों और विधायक से मांग की कि वे इन तमाम तथ्यों को केंद्र सरकार के पास रखें और झारखंड के लोगों को राहत दिलाने का प्रयास करें।

झामुमो महासचिव ने वैक्सीन खरीद मामले में 20 हजार करोड़ रुपये के घोटाले की आशंका जाहिर करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने टीकाकारण के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का बजट में प्रावधान किया था। इसके बाद 18 से 45 वर्ष की उम्र वालों को टीकाकरण के लिए शुल्क निर्धारित कर दिया गया है। देश में 55 साल से टीकाकरण हो रहा है। अभी तक जितने टीकाकरण हुए हैं, वह मुफ्त हुए हैं। ऐसे में कोरोना टीका के लिए पैसा वसूलना सरासर गलत है। एक देश, एक निशान और एक विधान का दावा करने वाली भाजपा के शासनकाल में वैक्सीन की अलग-अलग दर निर्धारित की गई है।

झारखंड के साथ गलत क्यों

झामुमो महासचिव ने सवाल उठाया कि झारखंड के साथ केंद्र सरकार दोहरा रवैया क्यों अपना रही है। क्या यह इस वजह से है कि यहां भाजपा की सरकार नहीं है। झारखंड के लोगों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। अगर संघीय शासन व्यवस्था में केंद्र सरकार हमारी बात नहीं सुनेगी तो मुश्किल होगी। कहा, हम अलग विचारधारा के हैं, इसलिए ऐसा हो रहा है। दावा किया कि भाजपा के सांप्रदायिक एजेंडा को देश ने नकार दिया है। भाजपा फेल हो गई है। झारखंड के प्रति गलत रवैया रखने वालों का पर्दाफाश होना चाहिए।

जांच कराएगी सरकार

झामुमो महासचिव ने साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की आत्महत्या मामले में कहा कि एसआईटी जांच कर रही है। एसआइटी की जांच रिपोर्ट के बाद सरकार सीबीआई ही नहीं, किसी भी स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने को तैयार है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.