स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता बोले, आइसीएमआर दिशानिर्देश जारी करता तो कोरोना से मौत का सही पता चलता

Jharkhand Health Minister Banna Gupta Hindi Samachar झारखंड के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता मंगलवार को रांची में मीडिया से बात कर रहे थे। कहा कि मैं कोई विशेषज्ञ नहीं हूं। लेकिन ऑक्‍सीजन की कमी से देश में मौतें हुई।

Sujeet Kumar SumanTue, 07 Sep 2021 08:14 PM (IST)
Jharkhand Health Minister Banna Gupta, Hindi Samachar रांची में मीडिया से बात करते झारखंड के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता। एएनआइ

रांची, एजेंसी। झारखंड के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता ने कहा है कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद यानि (आइसीएमआर) दिशा-निर्देश जारी किया होता तो कोरोना से मौत का सही पता चलता। मंगलवार को रांची में मीडिया से बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि अगर आइसीएमआर ने इस संबंध में दिशानिर्देश जारी किए होते, तो मौत के सही कारणों का पता चल जाता। अपने पूर्व के बयान के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा कि मैं इन्‍कार नहीं कर रहा। देश में ऑक्सीजन की कमी से लाखों लोग मारे गए।

बन्‍ना गुप्‍ता ने कहा कि आइसीएमआर का दिशा-निर्देश रहता तो पोस्‍टमार्टम में मौत का सही कारण पता चलता। पोस्‍टमार्टम में मृत्‍यु के कारण का उल्‍लेख ही नहीं है। कहा कि मैं कोई विधि विशेषज्ञ नहीं हूं। मैं तो इस विभाग का साधारण सेवक हूं। कहा कि देश में आक्‍सीजन की बहुतायत कमी हुई। इस कारण लाखों लोग मरे।

दरअसल, झारखंड विधानसभा में चल रहे मानसून सत्र के दौरान आज राज्य सरकार ने बताया कि झारखंड में ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी भी COVID-19 मरीज की मौत नहीं हुई। राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि राज्य में आक्सीजन की कमी से किसी भी कोरोना मरीज की मृत्यु की रिपोर्ट नहीं है। हालांकि कोरोना महामारी की पहली एवं दूसरी लहर में अभी तक कुल 5,132 मरीजों की मौत कोरोना संक्रमण से हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने विधायक अमर कुमार बाउरी द्वारा पूछे गए अल्प सूचित प्रश्न के जवाब में यह जानकारी दी है।

इसे लेकर पत्रकारों ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री से सवाल पूछा। मंत्री ने कहा कि वे अपने उस बयान पर कायम हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि देश में लाखों कोरोना मरीजों की मौत आक्सीजन की कमी के कारण हो गई। उन्होंने यह बयान उस समय दिया था, जब केंद्र सरकार द्वारा यह कहा गया था कि आक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई है।

15 सितंबर तक चालू हो जाएंगे सभी 72 आक्सीजन प्लांट

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में पीएम केयर फंड से 38 तथा सीएसआर फंड से 34 पीएसए आक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इन सभी को 15 सितंबर तक इंस्टाल करने के निर्देश सभी जिलों को दिए गए हैं। गैर सरकारी संस्थानों में कुल 16 संस्थानों में आक्सीजन प्लांट इंस्टाल करने का कार्य पूरा हो चुका है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.