Jharkhand Budget: CM हेमंत ने बीजेपी को लपेटा, झामुमो बोला-सदन में मौजूद रहें विधायक

Jharkhand Budget 2021: झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन।

Jharkhand Budget 2021 झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बुधवार को वर्ष 2021-22 का वार्षिक बजट पेश होने के दौरान विधायकों को सदन में मौजूद रहने को कहा है। इधर विधानसभा की कार्रवाई बाधित कर रही भाजपा पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि विपक्ष बिना वजह सदन बाधित कर रहा है।

Alok ShahiTue, 02 Mar 2021 08:58 PM (IST)

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Budget 2021, Jharkhand News झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बुधवार को वर्ष 2021-22 का वार्षिक बजट पेश होने के दौरान विधायकों को सदन में मौजूद रहने को कहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मौजूदगी में झारखंड मुक्ति मोर्चा के मुख्य सचेतक नलिन सोरेन के आवास पर हुई बैठक में यह निर्देश दिया गया। बैठक में कई मंत्री भी शामिल हुए। बैठक संपन्न होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि बुधवार को बजट पेश करना है। इसके लिए सभी विधायकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उन्होंने कहा कि बजट पेश होने के बाद ही इसपर कुछ बोलना उचित होगा। बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए मुख्य सचेतक नलिन सोरेन ने कहा कि किस विधायक को किस विषय और किस मांग पर बोलना है, यह तय किया गया। सभी को विधानसभा में उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया है। नवनियुक्त मंत्री हफीजुल हसन ने कहा कि उनकी जिम्मेदारी काफी बड़ी है। विधायक दीपक बिरुआ ने कहा कि कोरोना काल के बाद सरकार अपना पहला बजट ला रही है। बजट राज्य को सही दिशा देगा।

विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि भाजपा की पिछली डबल इंजन वाली सरकार ने अपने शासनकाल में बहुत कचरा किया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पूरी दिलेरी और मजबूती से सरकार चला रहे हैं। स्टीफन मरांडी ने कहा कि भाजपा ने झारखंडियों की भावना के विपरीत नीतियां बनाई। अब झारखंड के लोगों की भावना के अनुरूप सरकार बनी है। सरकार भाजपा की गलत नीतियों को सुधारने में जुटी है।

बिना वजह सदन को बाधित कर रहा विपक्ष - हेमंत सोरेन

लगातार विधानसभा की कार्रवाई को बाधित कर रही भाजपा पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मंगलवार को निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विपक्ष बिना वजह, बिना किसी मुद्दा के सदन को बाधित कर रहा है। पूरा राज्य यह देख रहा है। विपक्ष को ऐसा लग रहा है कि वह इससे सुर्खियों में रहेगा, लेकिन यह उनकी गलतफहमी है। खुद को बौद्धिक और अनुशासित कहने वाली भाजपा का यह दूसरा चेहरा है।

बौद्धिक व अनुशासित कहने वाली भाजपा का यह दूसरा चेहरा

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि सदन की गरिमा को बनाए रखना सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों की जिम्मेदारी है। उन्होंने लोबिन हेम्ब्रम की ओर से दुमका में अवैध खनन पर सवाल उठाने संबंधी प्रश्न पर कहा कि अवैध खनन कानूनन अपराध है। जो भी इसके लिए दोषी होंगे, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। आर्थिक सर्वेक्षण पर उन्होंने कहा कि अगले बार के सर्वेक्षण से बेहतर तुलना की जा सकेगी।

सीपी सिंह ने फाड़ी अधिसूचना, प्रदीप यादव ने किया विरोध

बजट सत्र के दौरान दूसरी पाली की शुरुआत में ही भाजपा के वरिष्ठ विधायक सीपी सिंह ने सीनेट सदस्य से हटाए जाने के तरीके पर रोष प्रकट करते हुए श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय की अधिसूचना की प्रति को सदन में फाड़ दिया और इसके साथ ही भाजपा के कई विधायक उनके पीछे जय श्रीराम का नारा लगाते हुए सदन से निकल गए। सीपी सिंह ने दूसरी पाली के प्रारंभ होते ही पूछा कि क्या सीनेट सदस्य बनाने के लिए किसी से खुशामद की थी। एक दिन सीनेट सदस्य बनाया गया और अगले ही दिन हटा दिया गया। यह तो अपमान है। अध्यक्ष ने कहा कि विधायक समरी लाल के माध्यम से इसकी जानकारी उन्हें मिली है, तब तक सीपी सिंह सदन से बाहर निकल गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.