Jharkhand: हेमंत सरकार के सचिवालय में कोरोना विस्फोट, 12 सीनियर IAS संभालेंगे मोर्चा

Jharkhand Coronavirus Update: रांची के प्रोजेक्ट भवन तथा नेपाल हाउस स्थित सचिवालयों में कोरोना विस्फोट हुआ है।

Jharkhand Coronavirus Update झारखंड सरकार ने कोरोवा वायरस संक्रमण को काबू में रखने के लिए तमाम कोशिशें शुरू कर दी हैं। शुक्रवार को सरकार ने कोरोना के प्रभावी नियंत्रण के लिए वरीय आइएएस अधिकारियों को जिलों का नोडल पदाधिकारी बनाया है।

Alok ShahiFri, 09 Apr 2021 09:24 PM (IST)

रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। Jharkhand Coronavirus Update कोरोना पर नियंत्रण के लिए 12 सीनियर आइएएस जिलों के नोडल पदाधिकारी बनाए गए हैं। ये अफसर कोरोना जांच, मरीजों के इलाज, कोरोना टीकाकरण आदि की निगरानी करेंगे। स्वास्थ्य विभाग तथा आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन कराएंगे। राज्य सरकार ने कोरोना पर नियंत्रण के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक दर्जन पदाधिकारियों को बड़ी जिम्मेदारी दी है। इनमें प्रधान सचिव तथा सचिव रैंक के पदाधिकारी शामिल हैं। इन्हें कोरोना पर नियंत्रण के लिए जिलों का नोडल पदाधिकारी बनाया गया है।

ये सभी कोरोना जांच, मरीजों के इलाज, टीकाकरण आदि पर आवंटित जिलों में निगरानी रखेंगे। साथ ही स्वास्थ्य विभाग तथा आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुुनिश्चित करेंगे। इसे लेकर वे जिलों में जाकर नियमित रूप से समीक्षा करेंगे तथा किसी तरह के आवश्यक हस्तक्षेप को लेकर संबंधित विभागों के अलावा मुख्य सचिव को अवगत कराएंगे। ये कोरोना के संक्रमण को लेकर राज्य सरकार द्वारा लागू प्रतिबंधों का अपने आवंटित जिलों में अनुपालन भी सुनिश्चित कराएंगे।

किस अधिकारी को किस जिले की जिम्मेदारी

अजय कुमार सिंह, प्रधान सचिव, योजना-सह-वित्त विभाग : धनबाद एवं देवघर वंदना डाडेल, प्रधान सचिव, वाणिज्य कर विभाग : कोडरमा एवं रामगढ़ हिमानी पांडेय, सचिव, खाद्य, सार्वजनिक वितरण विभाग : पूर्वी सिंहभूम एवं सरायकेला-खरसावां आराधना पटनायक, सचिव, ग्रामीण विकास विभाग : लातेहार एवं लोहरदगा राहुल शर्मा, सचिव, योजना-सह-वित्त विभाग (योजना प्रभाग) : पश्चिमी सिंहभूम एवं खूंटी विनय कुमार चौबे, सचिव, नगर विकास एवं आवास विभाग : रांची सुनील कुमार, सचिव, पथ निर्माण विभाग : बोकारो एवं गिरिडीह पूजा सिंघल, सचिव, उद्योग विभाग : हजारीबाग एवं चतरा राजेश शर्मा, सचिव, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग : पाकुड़ एवं साहिबगंज अब्बुबकर सिद्दीख पी, सचिव, कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग : पलामू एवं गढ़वा प्रवीण कुमार टोप्पो, सचिव, श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग : गुमला एवं सिमडेगा प्रशांत कुमार, सचिव, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग : दुमका, जामताड़ा एवं गाेड्डा।

सचिवालय में आज एक साथ 47 मिल चुके कोरोना संक्रमित, आंकड़ा सौ पहुंचने की संभावना

झारखंड में कोरोना का संक्रमण खतरनाक ढंग से बढ़ रहा है। दैनिक मामले लगातार बढ़ रहे हैं। एक दिन पूर्व गुरुवार को राज्य में 1,882 मामले मिलने के बाद शुक्रवार को भी विभिन्न जिलों में बड़ी संख्या में संक्रमित पाए गए हैं। इधर, रांची के प्रोजेक्ट भवन तथा नेपाल हाउस स्थित सचिवालयों में कोरोना विस्फोट हुआ है। जांच में लगभग सभी विभागों में कमोबेश मरीज मिले हैं। इससे विभिन्न विभागों के कर्मियों में हड़कंप है।

बताया जाता है कि विभिन्न विभागों में अबतक 49 पदाधिकारी और कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। कई अन्य पदाधिकारी व कर्मी बीमार हैं जिनकी रिपोर्ट आनी है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि विभिन्न विभागों में सौ से अधिक पदाधिकारी, कर्मी संक्रमित हो सकते हैं। राजधानी रांची स्थित जिस कार्यालय में सामूहिक जांच हो रही है, वहां कोई न कोई संक्रमित मिल रहा है। यहां तक कि स्वास्थ्य विभाग में भी कई कर्मी संक्रमित हुए हैं।

गृह विभाग, खाद्य आपूर्ति, राजस्व एवं भूमि सुधार, कार्मिक सहित कई अन्य विभागों में पदाधिकारी व कर्मी संक्रमित मिले हैं। इधर, रांची सदर अस्पताल के सात चिकित्सक तथा तीन कर्मी भी संक्रमित पाए गए हैं। बता दें कि रांची में तीन दिनों तक लगातार पांच सौ से अधिक मरीज मिलने के बाद शु्क्रवार को 858 नए संक्रमित मिले थे। यहां सौ लोगों की जांच में लगभग 16 एक दिन में संक्रमित पाए गए। पूरे राज्य की बात करें तो सौ में छह से अधिक मरीज संक्रमित पाए गए। राज्य में सक्रिय मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। फरवरी के प्रथम सप्ताह में सक्रिय मामले महज 428 थे जो अब बढ़कर 9249 हो गए हैं।

लगातार घट रही रिकवरी रेट

झारखंड में हाल के दिनों में लगातार संक्रमण बढ़ने से रिकवरी रेट लगातार घट रही है। वर्तमान में यह दर घटकर 92.16 हो गई है। एक समय यह दर लगभग 98 पहुंच गई थी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.