top menutop menutop menu

परीक्षा समाप्त होने के बाद भी एक घंटे बैठाए रखा

जागरण संवादददाता, रांची : झारखंड एकेडमिक काउंसिल की बुधवार को नौवीं की सोशल साइंस व लैंग्वेज की परीक्षा हुई। परीक्षार्थियों ने प्रश्नों को आसान बताया। डेढ़ घंटे में (10 बजे से 11:30 बजे तक) 40 आब्जेक्टिव प्रश्नों के सही विकल्प को ओएमआर शीट में कलर करना था। छात्र-छात्राओंने एक घंटे में ही पेपर पूरा कर लिया। उन्हें आधे घंटे बाद 11:30 बजे बाहर निकलना था, लेकिन जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय से सेंटर सुप्रीटेंडेंट को मैसेज आया कि समाज अध्ययन सभी के लिए अनिवार्य है। यदि 21 जनवरी के प्रथम पाली में बच्चे ने दो विषयों की परीक्षा दी है तो वह सिर्फ समाज अध्ययन का ही परीक्षा देगा। यदि किसी बच्चे ने एक ही विषय का परीक्षा दी है तो वह दो विषय की परीक्षा देगा। लेकिन एक विषय की परीक्षा देने वाला परीक्षार्थी भी तीन घंटे के बाद ही हॉल से बाहर जाएगा। इसके बाद सेंटर सुप्रीटेंडेंट के निर्देश पर 11:30 बजे ओएमआर शीट जमा करने के बाद भी परीक्षार्थी कक्षा में बैठे रहे।

जिन विद्यार्थियों की परीक्षा खत्म हो गई थी वो सभी आपस में जोर-जोर से बात करने लगे। इससे लैंग्वेज विषय की परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों को दिक्कत होने लगी। करीब 12:30 बजे डीइओ कार्यालय से फिर मैसेज आया जिसमें बच्चों को छोड़ देने को कहा। इसके बाद बच्चों की छुट्टी कर दी गई। इधर दूसरे लैंग्वेज विषय के छात्रों की परीक्षा 11:30 से एक बजे तक चली।

98.43 प्रतिशत रही उपस्थिति

राज्य भर में कुल 422370 परीक्षार्थियों को प्रवेशपत्र जारी किया गया था। जैक ने बताया कि बुधवार की परीक्षा में 416082 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। यानी इनकी उपस्थिति 98.43 प्रतिशत प्रतिशत रही। इधर रांची में 35656 में 35088 परीक्षार्थी उपस्थित व 562 अनुपस्थित रहे। परीक्षार्थियों ने कहा कि सभी विषयों के प्रश्न जैक द्वारा जारी मॉडल प्रश्नपत्र पर ही आधारित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.