Three Sisters and a Dream: IPS संजय रंजन ने लिखी है फिल्म थ्री सिस्टर एंड ए ड्रीम की कहानी, हुई स्क्रीनिंग

Three Sisters and a Dream आईपीएस संजय रंजन सिंह ने लिखी है फिल्म 'थ्री सिस्टर एंड ए ड्रीम' की कहानी।

Three Sisters and a Dream बेटियों पर आधारित यह फ़िल्म बेटियों के संघर्ष की कहानी को चरितार्थ करता है। झारखंड कैडर के आईपीएस संजय रंजन सिंह द्वारा लिखित हिन्दी फिल्म थ्री सिस्टर एंड ए ड्रीम फिल्म पहली बार सामूहिक निर्देशन में बनी है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 03:31 PM (IST) Author: Vikram Giri

रांची, जासं । Three Sisters and a Dream शुक्रवार को फिल्म 'थ्री सिस्टर एंड ए ड्रीम' हिंदी फ़ीचर फ़िल्म की स्क्रीनिंग मुख्य अतिथि राज्यसभा सदस्य दीपक प्रकाश ने  फ़िल्म देख कर के की। इस अवसर पर मुख्य रूप से संजय रंजन सिंह, देव कुमार धान, शशि भूषण प्रसाद, अशुतोष द्विवेदी, राजीव रंजन, आनंद पांडेय, रोहन देव पाठक अवनिश भारद्वाज, रिया जुनी आदि उपस्थित थे। कोविड 19 कोरोना वायरस महामारी के अंतर्गत केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइंस को फॉलो करते हुए फ़िल्म की स्क्रीनिंग की गई। 

दोसुत प्रोडक्शन के बैनर तले इस फ़िल्म की पूरी शूटिंग झारखंड में की गई है। बेटियों पर आधारित यह फ़िल्म बेटियों के संघर्ष की कहानी को चरितार्थ करता है। झारखंड कैडर के आईपीएस संजय रंजन सिंह द्वारा लिखित हिन्दी फिल्म 'थ्री सिस्टर एंड ए ड्रीम' फिल्म पहली बार सामूहिक निर्देशन में बनी है। इसकी अगुवाई संजय ने खुद की। उन्होंने ही पटकथा और गीत भी लिखे हैं। इस फिल्म को यू सर्टिफिकेट मिला है। 

पहले यह फिल्म कई ऑनलाइन चैनलों पर रिलीज की गई थी। उन्होंने बताया कि यह फिल्म एक मां राधा सिन्हा और उसकी तीन बेटियों दिव्या, भव्या और नव्या की संघर्षपूर्ण जीवन यात्रा के कैनवास पर बुनी गई है। फिल्म सामाजिक मूल्यों और सरोकारों को पकड़ कर चलती है। यह फिल्म राधा सिन्हा के त्याग और बलिदान को बहुत ही मार्मिक और संवेदनशील तरीके से दर्शाती है। दूसरी चरित्र है राबिया, जो राधा सिन्हा के साथ परछाई की तरह चलती है और बिना कहे दर्शकों से सब कुछ कह जाती है। 

इन्होंने निभाई है भूमिका

इस फ़िल्म में बॉलीवुड की अभिनेत्रि विविदा बाग, सिसिर शर्मा,ओमकार दास, माणिक पूरी,गुलसन पांडेय,कित्री अदाकार,निशान,रेनिता कपूर है।फ़िल्म के लेखक सह निर्देशक संजय रंजन सिंह एवं निर्माता शशि भूषण प्रशाद है।dop शाहिद लाल,एडिट शिवा वयप्पा,एजक्यूटीव डायरेक्टर चंद्रकांत पांडेय है। इस फ़िल्म में राधा सिन्हा के पिता के रूप में प्रोफेसर वर्मा का किरदार शिशिर शर्मा ने निभाया है। अरिजीत के रूप में निशान एन ने दर्शकों को बहुत प्रभावित किया है। गुलशन पांडेय और मीना शर्मा की जबरदस्त केमिस्ट्री है। 

इस फिल्म में कई कलाकार रांची के थिएटर की दुनिया से हैं। इनमें रीना सहाय, इन्द्रजीत सिंह, नमिता सिंह, विनय कुमार,रिया जुन्नी, अपर्णा श्रीवास्तव और शेखर वत्स शामिल हैं। फिल्म में डीपीएस रांची के कई शिक्षकों समेत विद्यार्थियों विश्रुति, कुहू, पीहू अनिमेष सिंह, वनिशा, तनीषा, अविशा ने अहम भूमिका निभाई है। पार्श्व गायन शान, पायल देव, जावेद अली और असीस कौर ने किया है। रांची के ही रोहन देव पाठक ने फिल्म में संगीत दिया है। कोरियोग्राफर रांची के इंद्रजीत सिंह हैं। बेटियों पर आधारित फिल्म की पूरी शूटिंग झारखंड में हुई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.