इंदौर की यौन शोषण पीड़‍िता ने न्याय नहीं मिलने पर दी झारखंड पुलिस मुख्यालय के सामने खुदकुशी की चेतावनी

झारखंड के गिरिडीह ज‍िले के मधुबन थाना क्षेत्र का निवासी है आरोपित। पुलिस पर सहयोग नहीं करने का पीड़‍िता ने लगाया आरोप। पांच साल की बेटी की डीएनए रिपोर्ट के साथ पुलिस मुख्यालय से लगा चुकी है न्याय की गुहार।

M EkhlaquePublish:Sat, 04 Dec 2021 09:30 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 09:30 PM (IST)
इंदौर की यौन शोषण पीड़‍िता ने न्याय नहीं मिलने पर दी झारखंड पुलिस मुख्यालय के सामने खुदकुशी की चेतावनी
इंदौर की यौन शोषण पीड़‍िता ने न्याय नहीं मिलने पर दी झारखंड पुलिस मुख्यालय के सामने खुदकुशी की चेतावनी

रांची (राज्य ब्यूरो) : मध्य प्रदेश के इंदौर की रहने वाली एक यौन शोषण पीडि़ता ने पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर गिरिडीह के मधुबन थाने की पुलिस की शिकायत की है। पत्र में बताया है कि पुलिस उन्हें सहयोग नहीं कर रही है और आरोपित तथा उसके परिवार को बचा रही है। पीडि़ता ने यह चेतावनी दी है कि उसके आवेदन पर विचार नहीं किया गया तो वह झारखंड पुलिस मुख्यालय के सामने ही अपनी पांच साल की बेटी के साथ आत्मदाह कर लेगी।

पुलिस मुख्यालय को दिए गए आवेदन में यौन शोषण पीडि़ता ने लिखा है कि उसका कथित पति प्रशांत कुमार मंदिलवार र‍िंंकू से उसकी पांच साल की बेटी है। आरोपित गिरिडीह के मधुबन थाना क्षेत्र का रहने वाला है और इंदौर में नौकरी के दौरान दोनों ने प्रेम विवाह किया था, जिससे बेटी हुई। इसके बाद आरोपित उसे छोड़कर झारखंड के गिरिडीह आ गया था।

आरोपित ने स्टांप पेपर पर लिखा- विधिवत तलाक लेगा

पीडि़ता ने जब कानूनी मदद ली तो आरोपित ने नवंबर 2020 में स्टांप पेपर पर लिख कर दिया कि वह विधिवत तलाक ले लेगा। उसने बिना मुआवजा, बिना तलाक लिए ही दिसंबर-2020 में दूसरी शादी कर ली है। पीडि़ता का कहना है कि पांच साल की बेटी की डीएनए जांच में भी यह स्पष्ट हो गया है कि वह आरोपित प्रशांत की ही बेटी है।

पीड़‍िता ने कहा- विधिवत तरीके से तलाक चाहिए

पीडि़ता की मांग है कि उसे विधिवत तरीके से तलाक चाहिए, ताकि वह सम्मान की ङ्क्षजदगी जी सके और बेटी का भविष्य भी सुरक्षित कर सके। उसने इसे लेकर मधुबन थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई है, लेकिन पुलिस केस के अनुसंधान के लिए पैसे की मांग कर रही है।