गुमला हत्याकांड: 80 ग्रामीणों ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम देने का लिया था निर्णय, एक ही परिवार के 5 लोगों को उतारा था मौत के घाट

गुमला हत्याकांड: 80 ग्रामीणों ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम देने का लिया था निर्णय। जागरण

कामडारा के बुरुहातु गांव के फुटबॉल मैदान में बैठक कर 23 फरवरी को 70-80 ग्रामीणों ने मिलकर निकोदीन टोपनो व उसकी पत्नी जोसफीना डहंगा की हत्या करने का निर्णय लिया था। हत्या करने के लिए 8 लोगों का नाम बैठक में ही तय किया गया।

Vikram GiriFri, 26 Feb 2021 03:33 PM (IST)

गुमला, जासं । Jharkhand News, Jharkhand Crime News, Gumla Murder Case कामडारा के बुरुहातु गांव के फुटबॉल मैदान में  बैठक कर 23 फरवरी को 70-80 ग्रामीणों ने मिलकर निकोदीन टोपनो व उसकी पत्नी जोसफीना डहंगा की हत्या करने का निर्णय लिया था। हत्या करने के लिए आठ लोगों का नाम बैठक में ही तय किया गया जो रात में एक स्थान पर पहुंचे और सभी ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया। इस मामले में सुनिल तोपनो उर्फ कोने, सोमा तोपनो, सलीम तोपनो, फिरंगी तोपनो, उर्फ पुजार, फिलिप तोपनो, अमृत तोपनो, सावन तोपनो व दानियल तोपनो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जबकि अन्य सहयोगियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। यह बातें संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए एसपी एचपी जनार्दनन ने शुक्रवार को कही। सभी अभियुक्तों के खिलाफ डायन प्रथा प्रतिषेध अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस कांड के उद्भेदन के लिए एसआईटी टीम का गठन किया गया था। एसपी ने बताया कि इस गांव में शिक्षा की कमी है। इस कारण अंधविश्वास से ग्रामीण जकड़े हुए है।

डायन बिसाही के संदेह में दिया वारदात को अंजाम

एसपी ने बताया कि बुरुहातु गांव में पिछले कुछ महीनों से लोगों की मृत्यु हो रही थी और गांव के लोग बीमार भी पड़ रहे थे। गांव में ऐसा होने पर ग्रामीणों के मन में यह धारणा बन गई कि निकोदीन टोपनो व उसकी पत्नी जोसफीना डहंगा द्वारा ही जादू टोना किया जा रहा है। जिससे लोगों की मौत हो रही है और वे बीमार हो रहे हैं। इस बात को लेकर बैठक में इन दोनों ही हत्या करने का निर्णय लिया गया हत्या करने के दौरान पकड़े जाने के भय से पूरे परिवार की ही हत्या हत्यारों ने कर दी। हत्या करने वाले मृतक के दूर के रिश्तेदार व ग्रामीण हैं।

यह सामान हुए बरामद

सोमा तोपनो के घर से हत्या में इस्तेमाल किया गया खून लगा हुआ बसुला व एक टांगी, फिलिप तोपनो के घर से खून लगा हुआ टांगी, सोमा तोपनो का पहना हुआ चप्पल जिसमें खून लगा हुआ था। सुनिल तोपनो उर्फ कोने का पहना हुआ ट्राउजर जिसमें मृतकों का खून लगा था। सुशील तोपनो, सोमा तोपनो, सलीम तोपनो के निशानदेही पर उनके द्वारा छुपा कर रखा गया हत्या में प्रयुक्त खून लगा हुआ दो टांगी को भी बरामद किया गया है।

इनकी हुई थी हत्या

निकोदीन तोपनो, उनकी पत्नी जोसफीना तोपनो, पुत्र, विनसेंट तोपनो, बहू शिलवंती तोपनो, पोता अलवीन तोपनो की हत्या गांव के बैठक में फरमान जारी  होने के बाद मंगलवार की रात आठ लोगो ने मिलकर चार टांगी व एक बसुला का इस्तेमाल कर मंगलवार की रात कर दिया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.