रांची में कारोबारी के साथ बैठकर शराब पीने वाला दोस्त ही निकला 1.25 करोड़ लूट का मास्टरमाइंड, आज भेजा जाएगा जेल

रांची में कारोबारी के साथ बैठकर शराब पीने वाला दोस्त ही निकला 1.25 करोड़ लूट का मास्टरमाइंड। जागरण

रांची के जगन्नाथपुर इलाके में पिस्टल की नोक पर हुई महुआ कारोबारी निकेश मिश्रा से 1.25 करोड़ रुपये डकैती मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। मामले में पुलिस ने चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से लूटे गए 90 लाख रुपये भी बरामद कर लिया गया।

Vikram GiriSat, 17 Apr 2021 02:33 PM (IST)

रांची, जासं । रांची के जगन्नाथपुर इलाके में पिस्टल की नोक पर हुई महुआ कारोबारी निकेश मिश्रा से 1.25 करोड़ रुपये डकैती मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। मामले में पुलिस ने चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से लूटे गए 90 लाख रुपये भी बरामद कर लिया गया है। सभी से पूछताछ की जा रही है। हालांकि आधिकारिक तौर पर पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है। जानकारी के अनुसार सवा करोड़ लूटपाट का मास्टरमाइंड कारोबारी निकेश मिश्रा का दोस्त ही निकला।

उसका नाम कमल सिंघानिया है। 11 अप्रैल की रात महुआ कारोबारी निकेश मिश्रा के साथ बैठकर शराब पी थी। इस दौरान उसे पता चल गया था कि निकेश मिश्रा ओडिशा के कारोबारी पुत्र शुभम अग्रवाल को पैसे देने वाला है। संबंधित पैसा लेकर ओडिशा के लिए रवाना होना है। इसकी जानकारी मिलते ही कमल सिंघानिया ने लूट का प्लान बनाया और अपराधियों से संपर्क की।

इसके बाद निकेश सहित अन्य के घर से निकलते ही पूरे सवा करोड़ रुपये लूट लिया। इसके बाद सभी खूंटी की ओर फरार हो गए थे। घटना के बाद रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी में शामिल मुख्यालय वन डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में पूरी लूट कांड का पर्दाफाश हो गया और एक एक कर कमल सिंघानिया सहित चार आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए। इस मामले में पुलिस प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा कर सकती है। आज इस मामले में आरोपितों को पुलिस जेल भेज सकती है।

ये हुए गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपितों में चुटिया थाना क्षेत्र के अपर चुटिया निवासी अनमोल सिंघानिया पिता संजय सिंघानिया, हिंदपीढ़ी थाना क्षेत्र के  हिंदपीढ़ी थर्ड स्ट्रीट निवासी मनोज भगत हिंदीपीढ़ी फर्स्ट स्ट्रीट निवासी नजमी हसन पिता नूर हसन और पुनदाग इलाही नगर निवासी वसीम अहमद पिता मो.  इस्लाम शामिल है।

12 अप्रैल को घर से निकलते ही बनाया था शिकार

12 अप्रैल की सुबह करीब साढ़े पांच बजे इंडिका कार से आये पांच अपराधियों ने सवा करोड़ रुपये लूट लिया था। जब कारोबारी निकेश मिश्रा, ओडिशा में शुभम अग्रवाल और उनके साथ मौजूद कर्मी पैसा लेकर ओड़िसा जाने की तैयारी कर रहे थे। सभी कार में बैठे ही थे और लूटपाट कर ली गई। लूट के बाद अपराधी कार से खूंटी की ओर भाग निकले थे। अपराधियों ने इस वारदात को हटिया टीओपी से करीब 50 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया था। इस मामले का खुलासा के लिए एसएसपी द्वारा गठित स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया था।

पुलिस को घटना की जानकारी रखने वाले पर ही था शक

घटना के बाद से ही पुलिस को शक था कि इस लूट कांड को अंजाम उन्हीं लोगों ने दिया है, जो इस पैसे की ट्रांजैक्शन की पूरी जानकारी रखता है। आखिरकार पुलिस की जांच में कारोबारी निकेश मिश्रा का दोस्त ही घटना का मास्टरमाइंड निकला इस मामले में पकड़े गए चार आरोपितों के अलावा अन्य की भूमिका की भी जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.