Weekly News Roundup Ranchi: जालसाजों के नाम रहा यह सप्ताह, बैंक ही नहीं बेरोजगारों को भी ठगा

रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य में गत सप्ताह जालसाजों के नाम रहा। जालसाजों ने बैंक ही नहीं, बेरोजगारों को भी चूना लगाया। जमशेदपुर में जहां पंजाब नेशनल बैंक के बिष्टुपुर व मानगो शाखा को फर्जी दस्तावेज पर 17 करोड़ रुपये का चूना लगाया। वहीं, रांची में नौकरी के नाम पर 10.50 लाख रुपये की जालसाजी की। इसी हफ्ते केस डायरी व इंज्यूरी रिपोर्ट भेजने के एवज में रिश्वत लेते गिरिडीह के गावां में एएसआइ एसीबी के हत्थे चढ़ा। चतरा में अफीम तस्करी में 8.23 लाख रुपये के साथ तीन आरोपित गिरफ्तार भी किए गए। रामगढ़ में ट्यूशन से लौट रहे चार बच्चों को विस्फोटक भरी वैन की चपेट में आने की खबर भी लोगों को दिल दहला गई।

गत हफ्ते घटीं कुछ प्रमुख घटनाएं

16 अक्टूबर 

गिरिडीह के गावां थाने के एएसआइ सत्येंद्र शर्मा को एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) की धनबाद टीम ने एक महिला किरण देवी से दो हजार रुपये रिश्वत लेते दबोच लिया। एएसआइ सत्येंद्र शर्मा पर यह आरोप है कि उसने मारपीट के एक मामले में केस डायरी व इंज्यूरी रिपोर्ट भेजने के एवज में तीन हजार रुपये रिश्वत में मांग रहे थे। अंतत: रिश्वत लेते पकड़े गए। रामगढ़ स्थित नईसराय-गिद्दी मार्ग के बिंझार में तेज रफ्तार एक्सप्लोसिव वैन ने ट्यूशन पढ़कर घर लौट रहे चार बच्चों को रौंद दिया। इससे घटनास्थल पर ही दो सगी बहनों (छात्राओं) की मौत गई। जबकि एक छात्रा व एक छात्र गंभीर रूप से घायल हैं। अफरा-तफरी के माहौल में दोनों को नईसराय स्थित सीसीएल केंद्रीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराने के बाद रिम्स रेफर कर दिया गया। इस घटना में बिंझार निवासी सुनील यादव की दो पुत्री सपना कुमारी (14)  व नीतू कुमारी (9 )की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वहीं सुनील यादव की पुत्री छोटी कुमारी (11) व देवचंद दास के पुत्र अनुज कुमार (14) को गंभीर हालत में केंद्रीय अस्पताल नईसराय से रिम्स रेफर कर दिया। चतरा के सदर थाना पुलिस ने अफीम तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 8.23 लाख रुपये के साथ तीन युवकों को गिरफ्तार किया। उनकी गिरफ्तारी चतरा-इटखोरी मुख्य पथ पर स्थित भेड़ी फार्म के समीप से की गई थी। तीनों युवक अफीम बेचकर एक निजी चार पहिया वाहन से लौट रहे थे कि पुलिस ने दबोच लिया था।

17 अक्टूबर 

रिटायर्ड आइपीएस अधिकारी मृत्युंजय किशोर मीतू की बहन को रांची के खादगढ़ा बस स्टैंड से एक 12 वर्ष की बच्ची को जबरन ले जाने की कोशिश महंगी पड़ी। उन्हें जबरन बच्ची को खींचते देख वहां मौजूद बस स्टैंड के एजेंट ह्यूमन ट्रैफिकिंग से जुड़ा मामला समझ उनसे उलझ गए और बच्ची को ले जाने से रोका। इसपर रिटायर्ड आइपीएस की बहन उन एजेंटों से उलझ गईं। इस मामले में सेवानिवृत्त आइपीएस की बहन के खिलाफ मानव तस्करी के मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। जमशेदपुर में फर्जी दस्तावेज पर पंजाब नेशनल बैंक की बिष्टुपुर शाखा और मानगो शाखा से ऋण लेने का मामला सामने आया है। दोनों शाखाओं से करीब सत्रह करोड़ लेकर जालसाज फरार हो गए। फर्जीवाड़े की जानकारी मिलने पर बैंक प्रबंधन ने सीबीआइ के रांची स्थित कार्यालय में  प्राथमिकी दर्ज कराई है।

18 अक्टूबर :  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) रांची की टीम ने जामताड़ा से तीन साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार साइबर अपराधियों में जामताड़ा के नारायणपुर थाना क्षेत्र के मिरगा गांव निवासी पिंटू मंडल, अंकुश मंडल और प्रदीप मंडल शामिल हैं। इन पर साइबर क्राइम कर 2.94 करोड़ रुपये की संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। मनी लाउंड्रिंग के मामले में गिरफ्तार तीनों अपराधियों को ईडी की टीम ने शुक्रवार को रांची स्थित एके मिश्रा की विशेष अदालत में प्रस्तुत किया, जहां से तीनों को एक नवंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

19 अक्टूबर : खूंटी जिले में नक्सल प्रभावित सायको थानांतर्गत आड़ा गांव में अज्ञात नकाबपोशों ने भाजपा नेता व कुड़ापूर्ति पंचायत के उप मुखिया शीतल मुंडा (50 वर्ष) व उनकी पत्नी मादे मुंडाइन की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना के पीछे नक्सलियों का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है। हत्यारों का अब तक पता नहीं चल सका है।

20 अक्टूबर : रांची में मॉन्स्टर डॉट कॉम में नौकरी दिलाने के नाम पर 10.50 लाख रुपये की ठगी करने की आरोपित महिला को कोतवाली थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपित यूपी के गाजियाबाद निवासी प्रिया प्रकाश कौशिक है। उसे गाजियाबाद से कोतवाली पुलिस गिरफ्तार कर रांची लाई है। प्रिया के खिलाफ रांची कोतवाली क्षेत्र के श्रद्धानंद रोड निवासी अश्लेष कुमार ने 16 सितंबर 2017 को प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

अश्लेष ने पुलिस को बताया था कि नौकरी की तलाश में उसने अलग-अलग कंपनियों और वेबसाइटों में आवेदन डाला था। इस बीच उन्हें एक कॉल आई, जिसमें कॉल करने वाली महिला ने खुद को मॉन्स्टर डॉट कॉम का प्रतिनिधि बताते हुए कहा कि कंपनी ने उसे 6.80 लाख के पैकेज का जॉब ऑफर किया है। इसके बाद नौकरी के नाम पर महिला ने कई किस्तों में उससे कुल 10.50 लाख रुपये अलग-अलग मद में अपने खाते में मंगवा लिए। झांसे में आकर वह ठगी का शिकार हो गया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.