जल प्रलय की जद में झारखंड: पलामू-लातेहार-कोड़रमा में भारी बारिश, नदियों व डैम का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर

Rain in Jharkhand Jharkhand Weather Update विश्रामपुर प्रखंड लालगढ़ गांव में ग्रामीण पेयजलापूॢत के पंप हाउस का एप्रोच पथ कोयल नदी में आई बाढ़ में बह गया है। लातेहार जिले के सदर प्रखंड के परसही पंचायत के जलता गांव के बैराही टोला में स्थित बैरागी बांध पूरी तरह टूट गया।

Sujeet Kumar SumanSat, 31 Jul 2021 04:04 PM (IST)
Rain in Jharkhand, Jharkhand Weather Update लातेहार में बांध टूट गया है।

रांची, जेएनएन। पड़ोसी राज्य बिहार में बाढ़ की विभीषिका देखने वाला झारखंड जल प्रलय की जद में है। लगातार हो रही बारिश के कारण राज्य के विभिन्न जिलों में नदियां और डैम खतरे के निशान से ऊपर आ गए हैं। गांव में कच्चे मकान गिर रहे हैं। बिजली सप्लाई बाधित है। कई जगहों पर इंटरनेट सेवाएं काम नहीं कर रहीं। अलग-अलग जिलों में सैकड़ों गांवों का संपर्क मुख्यालय से टूट गया है। रांची के साथ-साथ पलामू, लातेहार, कोडरमा, खूंटी, चतरा, गुमला हर तरफ बारिश हो रही है।

पलामू का कुछ ऐसा है हाल

पलामू में 36 घंटे से लगातार हो रही भारी बारिश ने तबाही मचा दी है। जनजीवन पूरी तरह प्रभावित हो गया है। कोयल व अमानत नदियां उफनाई हुई हैं। मेदिनीनगर शहर में कोयल नदी का पानी खतरे के निशान पर पहुंचने वाला है। मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय स्थित भीम बराज पर उतरी कोयल नदी के बाढ़ का पानी खतरे के निशान तक पहुंच गया है। मोहम्मदगंज रविवारीय बाजार के निकट श्मशान शेड पानी में डूब गया है। रेलवे थर्ड लाइन के निर्माण कार्य में लगी मशीनें पानी में डूब गई हैं।

विश्रामपुर प्रखंड लालगढ़ गांव में ग्रामीण पेयजलापूर्ति के पंप हाउस का एप्रोच पथ कोयल नदी में आई बाढ़ में बह गया है। जिला मुख्यालय मेदिनीनगर नगर निगम क्षेत्र के कई मुहल्लों में भारी जल जमाव हो गया है। दर्जनों घरों में नाला व बाढ़ का पानी घुस गया है। लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गए हैं। प्रभावित क्षेत्र के लोगों का कहना है कि घर व मुहल्ले तालाब बन गए हैं। ऐसे में रहना मुश्किल हो गया है। शहर का सीवरेज व ड्रेनेज सिस्टम ठप हो गया है। लगातार बारिश के कारण बिजली आपूर्ति बाधित हो गई है।

शहर की 80 प्रतिशत दुकानें नहीं खुली हैं। सड़कों पर सन्नाटा पसर गया है। एनएच 98 पंडवा मोड़-हरिहरगंज-औरंगाबाद व एनएच 75 मेदिनीनगर-रांची मुख्य पथ पर जल जमाव हो गया है। इससे वाहनों का परिचालन प्रभावित हो गया है। इधर मेदिनीनगर, हुसैनाबाद, हैदरनगर, हरिहरगंज, छतरपुर, नौडीहा, चैनपुर, सतबरवा, पांकी, लेस्लीगंज, मनातू, पाटन, तरहसी, नीलांबर-पीतांबरपुर, रामगढ़, छतरपुर, नावाबाजार, उंटारी रोड, मोहम्मदगंज, पांडू समेत सभी प्रखंडों में बारिश जारी है। प्रशासनिक स्तर पर नदी किनारे बसे लोगों को बाढ़ से सावधान रहने का निर्देश दिया गया है।

गेतलसूद डैम पानी से लबालब, पांच गेट खोले गए

लगातार बारिश के कारण गेतलसूद डैम पानी से लबालब भर गया है। पानी की आवक को देखते हुए शनिवार तड़के एक बजे के करीब गेतलसूद डैम के पांच रेडियल गेट को खोल दिया गया। पिछले 24 घंटा में गेतलसूद डैम में दस फीट पानी अतिरिक्त जमा हो गया। फिलहाल गेतलसूद डैम का जलस्तर 34 फीट है। गेतलसूद डैम की भंडारण झमता 36 फीट है। सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता राजेश कुमार व कनीय अभियंता वीरेन्द्र प्रसाद लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

गेतलसूद में सिंचाई विभाग के अधिकारी कैंप कर रहे हैं। कनीय अभियंता वीरेंद्र प्रसाद ने बताया कि तीन नंबर रेडियल गेट में स्टॉक ब्लॉक के ऊपर से पानी का प्रवाह हो रहा है। इस गेट का मरम्मतीकरण चल रहा है। पानी का लेवल कम होते ही गेट नंबर तीन के ऊपर से बह रहा पानी बंद हो जाएगा। रेडियल गेट नंबर 4 व 5 को दो फीट खोला गया है। जबकि 6 व 7 गेट को एक-एक फीट खोला गया है। भविष्य में पानी की आवक को देखते हुए सभी गेट खोलने का निर्णय लिया जाएगा।

बारिश से टूटा बैराही टोला का बैरागी बांध

लातेहार जिले में दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से सदर प्रखंड के परसही पंचायत के जलता गांव के बैराही टोला में स्थित बैरागी बांध पूरी तरह टूट गया है। इससे ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पंचायत समिति सदस्य कुलेश्वर उरांव ने कहा कि गांव के पूर्वजों ने 80 वर्ष पहले यह बांध बनाया था। कुछ वर्ष पहले इस बांध की मरम्मत कराने को लेकर पूर्व प्रखंड विकास पदाधिकारी गणेश रजक से मांग की गई। लेकिन बातों को अनदेखा कर दिया गया। बांध टूट जाने से ग्रामीणों का आवागमन बंद हो गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.