शादी के नाम पर फिरोज अंसारी ने तीन वर्षों तक बनाए शारीरिक संबंध, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

Jharkhand Garhwa Crime News मामला गढ़वा जिले का है। महिला ने तीन वर्षों से शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। प‍ुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है। इससे पूर्व गांव में पंचायत में फिरोज पर जुर्माना लगाया गया था।

Sujeet Kumar SumanMon, 27 Sep 2021 05:11 PM (IST)
Jharkhand Garhwa Crime News मामला गढ़वा जिले का है।

श्री बंशीधर नगर (गढ़वा), जासं। पुलिस ने तीन वर्षों से शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने के नामजद आरोपित नयाखांड़ गांव निवासी फिरोज अंसारी पिता मैनुद्दीन अंसारी को गिरफ्तार कर सोमवार को न्यायिक हिरासत में गढ़वा जेल भेज दिया है। इस संबंध में थाना प्रभारी पंकज कुमार तिवारी ने बताया कि फिरोज के विरुद्ध गांव की एक विवाहिता स्वजातीय महिला ने तीन वर्षों तक शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाते हुए थाने में मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने पीड़‍िता के आवेदन पर थाना कांड संख्या 180/21 धारा 376 भादवि के तहत मामला दर्ज कर 24 घंटे के अंदर फिरोज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार एक बार फिरोज पीड़‍िता के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया था। तब इस मामले को लेकर गांव में पंचायत हुई थी। पंचायत में फिरोज पर दंड लगाया गया था। दंड स्वरूप फिरोज के द्वारा पीड़‍िता को 21000 रुपये नगद दिया गया था। दंड स्वरूप नगद राशि देने के बाद गांव के पंचायत में मामले को रफा-दफा कर दिया गया था। बावजूद दोनों का मिलना-जुलना व शारीरिक संबंध बनाना जारी रहा। शादी से इन्‍कार करने पर पीड़‍िता ने फिरोज के विरुद्ध थाने में मामला दर्ज कराया।

पुलिस बल पर हमला करने के आरोपित सहित तीन धराए

भंडरिया पुलिस ने सघन छापेमारी अभियान चलाकर अलग-अलग घटनाओं में शामिल तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर सोमवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। जिन लोगों को जेल भेजा गया, उनमें  परसवार निवासी अंगद तुरी पिता शिव प्रसाद तुरी भी शामिल हैं। गढ़वा पुलिस अधीक्षक अंजनी कुमार झा ने लगातार फरार चल रहे इन अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए निर्देश दिए गए थे। इस आलोक में यह कार्रवाई हुई है।

अंगद तुरी, वर्ष 2007 में पुलिस बल पर जानलेवा हमला कर हथियार लूटने के उद्देश्य से बारूदी सुरंग बिछाने व माओवादी सहयोगी के आरोप में पिछले 14 वर्षों से फरार चल रहा था। उसे भंडरिया पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर उसके घर से गिरफ्तार कर जेल भेजा। वहीं बिजपुर निवासी प्रवेश कुजूर पिता चेतियस कुजूर 2015 में चोरी की घटना में शामिल था। जबकि नौका गांव निवासी भूषण सिंह के विरुद्ध न्यायालय से वारंट निर्गत था तथा वह पुलिस की पकड़ से फरार चल रहा था। उक्त जानकारी इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत ने दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.