Ranchi news : जेल जाने से पहले फर्जी आइएएस बोली, जल्दी छूटकर बनूंगी अफसर

अशोक नगर इलाके से पकड़ी गई फर्जी महिला आइएएस अधिकारी मोनिका को पुलिस ने जेल भेज दिया है। हालांकि मोनिका के बारे में हुई अबतक की छानबीन में किसी भी तरह की ठगी या कोशिश का मामला नहीं मिला है। स्टेटस मेनटेन करने के लिए आइएएस बनकर घूम रही थी।

Sanjay Kumar SinhaSun, 25 Jul 2021 06:10 AM (IST)
एमपी के कटनी में मोनिका का घर।

रांची (जासं): अशोक नगर इलाके से पकड़ी गई फर्जी महिला आइएएस अधिकारी मोनिका को पुलिस ने जेल भेज दिया है। हालांकि मोनिका के बारे में हुई अबतक की छानबीन में किसी भी तरह की ठगी या कोशिश का मामला नहीं मिला है। केवल वह अपना स्टेटस मेनटेन करने के लिए आइएएस बनकर घूम रही थी। जेल जाने से पहले पुलिस के सामने मोनिका ने कहा कि जेल जा रही हूं, बहुत बुरा लग रहा। लेकिन जेल से छूटकर हर हाल में आइएएस अफसर बनकर दिखाउंगी। उसने बताया अपने किए पर पछतावा है। पर उसे नहीं पता था कि ऐसा करना अपराध है।

मोनिका ने पुलिस को बताया कि उसने वर्ष 2018 में ही यूपीएससी का पीटी और मेंस क्लियर किया था। इसके बाद उसने अपने रिश्तेदारों, दोस्तों को बता दिया था कि वह यूपीएससी क्रैक कर चुकी है। इसके बाद सभी रिश्तेदार उसे एक आइएएस के रूप में जानने लगे थे। इस झूठ से पर्दा न उठ जाए, इसलिए वह आइएएस बनकर स्टेटस मेनटेन करने लगी। रांची में वह खुद को 2020 बैच की आइएएस अधिकारी बता रह रही थी। इसकी जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने बीते शुक्रवार को उसे गिरफ्तार कर लिया। वह अशोकनगर रोड नंबर एक के मकान में रहती है। जबकि मूल रूप से वह 213 बड़वाराकला, ग्राम कला, तहसील बड़वारा जिला-कटनी मध्य प्रदेश की रहने वाली है। पिता शेषमणि हेडमास्टर हैं। जबकि मां हेड क्लर्क हैं।

डीसी-डीडीसी से मिलती, कभी बैठकों में भी शामिल होती : मोनिका ने पूछताछ में बताया है कि वह रांची, जमशेदपुर सहित अन्य जिलों के डीसी-डीडीसी से मिलने चली जाती थी। कहीं आइएएस अफसरों की बैठक या कोई कार्यक्रम की जानकारी मिलती थी वहां भी पहुंच जाती थी। फर्जी न लगे इसलिए वह अपने साथ बॉडीगार्ड, असिस्टेंट कलेक्टर लिखी व सरकार की लोगो लगी कार में घूमती थी। घर में रसोइया भी रखती थी। वह अपने मकान मालिक व पड़ोसियों को बताती थी कि असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में वह जमशेदपुर में पोस्टेड हैं। संदिग्ध गतिविधि लगने पर पुलिस को सूचना हुई और मोनिका गिरफ्तार कर ली गई। इधर, पुलिस ने मोनिका के घरवालों को सूचना दी है। घरवाले रांची के लिए निकल चुके हैं।

मोनिका आइएएस के नाम से बना रखी है फेसबुक आइडी : मोनिका ने मोनिका आइएएस नाम से फेसबुक आइडी भी बना रखी है। हालांकि फेसबुक में केवल एक ही तस्वीर पोस्ट किया है। फेसबुक में सारी जानकारियां भी नहीं है। आखिरी तस्वीर बीते 14 अप्रैल को पोस्ट की गई थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.