Jharkhand Politics : दीपक प्रकाश ने कहा- हाथी के दांत खाने के और दिखाने के और, कांग्रेस पर यह कहावत फिट

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पर साधा निशाना। कहा झामुमो और कांग्रेस के अलग-अलग राग से लोगों को होने लगता है भ्रम। उधर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा क‍ि हम सरकार के समक्ष रखते हैं अपनी बात भाजपा सरकार में तो मंत्री करते थे खुलेआम विरोध।

M EkhlaqueTue, 07 Dec 2021 06:30 AM (IST)
कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष राजेश ठाकुर और भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष दीपक प्रकाश। जागरण

रांची, (राज्य ब्यूरो) : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कांग्रेस पर सहूलियत की राजनीति करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की का एसटी-एससी की प्रोन्नति मामले को लेकर दिया गया बयान और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर का दूसरे प्रदेश से 10 वीं और 12 वीं पास करने वाले खतियानी को नौकरी देने का बयान कुछ ऐसा ही दर्शाता है। इन सवालों पर झामुमो और कांग्रेस का अलग-अलग राग जनता को दिग्भ्रमित करने वाला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं का बयान महज राजनीतिक है। कांग्रेस अगर वास्तव में जनता और आदिवासियों की हितैषी है तो बयानबाजी छोड़कर तत्काल सरकार से समर्थन वापसी की घोषणा करे। उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रोन्नति की सारी अड़चनें तत्काल दूर करने की भाजपा पक्षधर है।

दीपक प्रकाश ने कहा कि सरकार में रहकर भी कांग्रेस के मुंह से इस प्रकार का बयान शोभा नहीं देता। कांग्रेस केवल झूठी बयानबाजी कर आदिवासियों की हितैषी होने का ढोंग रचती है। जब आदिवासियों को वास्तव में न्याय और मरहम की जरूरत होती है तब कांग्रेस उनकी चिंता नहीं करती। कांग्रेस नेताओं का उपरोक्त बयान हाथी के दांत खाने के और दिखाने के और वाली कहावत चरितार्थ कर रहा है।

दीपक प्रकाश ने आरोप लगाया कि झारखंड सरकार के दो चेहरे हैं। दिखावे के लिए मुख्यमंत्री प्रोन्नति की अड़चनों को दूर करने का कुछ और आदेश देते हैं और अनुपालन के लिए अधिकारियों को बाद में मौखिक कुछ और आदेश मिलता है। अब दोनों में सच क्या है, यह या तो सरकार बता सकती है। कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री के आदेश के बावजूद अधिकारियों की इतनी हिम्मत है कि वह रोड़ा अटका सकते हैं।

हाथी उड़ाने वाले तानाशाह के पास मुंह नहीं खोल पाते थे भाजपाई : राजेश ठाकुर

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश के आरोपों पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि हाथी उड़ाने वालों को हाथी के ज्यादा सपने आते हैं। खाने के दांत अलग और दिखाने के दांत अलग वाली कहावत भाजपा नेताओं पर चरितार्थ होती है। जो लोग आज हमें नसीहत देने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें बताना चाहिए कि हाथी उड़ाने वाले तानाशाह के सामने क्या इनका मुंह खुल पाता था? हरमू मैदान का वीडियो इसका उदाहरण है।

ठाकुर ने कहा कि गठबंधन की सरकार में आंतरिक लोकतंत्र है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सबकी बात गंभीरता से सुनते हैं और राज्य हित में निर्णय भी लेते हैं। कहा कि भाजपा को याद रखना चाहिए कि उनके शसनकाल में मंत्री ही सरकार के खिलाफ बोलते रहते थे। सवाल उठाया कि राज्य में हमारे गठबंधन की सरकार है तो हम सरकार को बात नहीं बताएंगे तो किसे बताएंगे। गठबंधन में लोकतंत्र हैं। भाजपा के नेताओं को हमें सलाह देने के पहले अपना घर झांकना चाहिए। दीपक प्रकाश खुद हमारे प्रतिनिधिमंडल के साथ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिलने गए हैं तो उन्हें इसका अहसास होना चाहिए कि झारखंड में गठबंधन की सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों पर कितनी गहराई से विश्वास करती है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि भाजपा के कार्यकाल में संतोषी भात-भात चिल्लाते मर गई। निर्दोष आदिवासियों, दलितों पर गोलियां बरसाई गई। पारा शिक्षकों पर मुकदमे लादे गए। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष यह भूल गए कि तानाशाह के राज में सीएम आवास के सामने अपराधी अपराध कर निकल जाते थे। विधानसभा चुनाव में जनता ने इन्हें बेदखल कर दिया। ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार की लोकप्रियता देखकर भाजपा के नेता बौखला गए हैं। अफवाह फैलाने का तरीका भाजपाइयों को खूब आता है, लेकिन झारखंड को भाजपा की प्रयोगशाला नहीं बनने दिया जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.