Coronavirus Vaccine: कोविड से लड़ने में वैक्सीन बना हथियार, कोरोना टीका नहीं लेने वाले ही हो रहे बीमार

COVID-19 Vaccine Corona Vaccine in Jharkhand झारखंड के संक्रमितों में 89 फीसद ऐसे हैं जिन्होंने वैक्सीन की एक भी डोज नहीं ली है। पहली डोज लेने वालों में भी एक प्रतिशत ही ऐसे हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ी।

Sujeet Kumar SumanSun, 01 Aug 2021 08:10 PM (IST)
COVID-19 Vaccine, Corona Vaccine in Jharkhand वर्तमान संक्रमित मरीजों में केवल तीन प्रतिशत ने ही दोनों डोज लगाई थी।

रांची, राज्य ब्यूरो। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव में वैक्सीन कितनी कारगर है, इसे झारखंड में संक्रमण के वर्तमान आंकड़ों से समझा जा सकता है। आंकड़े बताते हैं कि वैक्सीन की दोनों डोज लेनेवाले गिने-चुने लोग ही संक्रमित हुए हैं। जिसने एक डोज भी ली है, उसे भी कोरोना या तो छू नहीं सका या संक्रमण की चपेट में आने के बाद भी ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। यानि कि कोविड से लड़ने में वैक्‍सीन हथियार बन कर सामने आया है। वैक्सीन ने उनकी इम्यूनिटी का स्तर ऐसा बनाए रखा कि वह संक्रमण से आसानी से लड़कर हराने में सफल रहे। दैनिक जागरण की पड़ताल में यह बात सामने आई है।

झारखंड में भी 252 मरीज अब भी संक्रमित हैं। इनमें 89 प्रतिशत संक्रमितों ने एक भी डोज का टीका नहीं लिया था। वहीं, महज तीन प्रतिशत संक्रमित ऐसे थे, जिन्होंने दोनों डोज का टीका लिया है। हालांकि इनमें भी एक प्रतिशत से भी कम संक्रमितों को ही कोविड अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। शेष सभी संक्रमित होम आइसोलेशन में हैं। विशेषज्ञ भी मानते हैं कि अधिक से अधिक टीकाकरण से ही कोरोना से हम सुरक्षित हो सकते हैं।

गढ़वा में एक मजदूर से संक्रमित हुए 19 लोग, किसी ने नहीं लिया था टीका

गढ़वा में पिछले हफ्ते चेन्नई से लौटे मजदूरों के दल में एक मजदूर संक्रमित था। जांच नहीं होने के कारण वह सामान्य रूप से अपने घर, परिवार व समाज के बीच रहने लगा। इस लापरवाही का दुष्परिणाम यह हुआ कि 19 लोग संक्रमित हो गए। इन सभी के संक्रमित होने की पहचान एक ही दिन कांटेक्‍ट ट्रेसिंग से हुई। इन 19 लोगों में किसी ने टीका नहीं लिया था। इससे पहले गढ़वा में एक मरीज को छोड़कर सभी मरीज संक्रमणमुक्त हो चुके थे। अब एक साथ 19 नए मामले आने से यहां एक माह बाद सक्रिय मरीजों की संख्या 20 हो गई है।

'दूसरी लहर में वैसे लोग संक्रमित नहीं हुए, जिन्होंने एक या दोनों डोज का टीका ले लिया था। दोनों डोज लेनेवाले संक्रमित भी हुए तो वे गंभीर रूप से बीमार नहीं हुए। तीसरी लहर से बचाव में भी टीकाकरण, मास्क तथा शारीरिक दूरी का अनुपालन सबसे बड़ा हथियार बनेगा। राज्य सरकार भी सभी लोगों को टीका लगाने पर तेजी से काम कर रही है।' - डाॅ. अजीत प्रसाद, राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी, स्वास्थ्य विभाग।

किस जिले में कितने संक्रमित, कितने ने कराया था टीकाकरण

जिला   पहली डोज  दूसरी डोज

रांची  49  05  00

पश्चिमी सिंहभूम 03  01  01

साहिबगंज 93  01  01

सरायकेला खरसावां 05 00  00

दुमका 02  00  00

चतरा  02  00  00

रामगढ़  02  00 00

सिमडेगा 04  03 01

देवघर 12  00  00

पाकुड़  00  00  00

बोकारो  26  01  00  

खूंटी  03  00  00

पूर्वी सिंहभूम 22  05  02

जामताड़ा  07 00  00

लोहरदगा 06  00  00

गढ़वा 21  00  00

लातेहार  07 04 02

कोडरमा 15 02 00

पलामू 04  00 00

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.