top menutop menutop menu

Coronavirus Update: रांची में दफन हुआ खूंटी के कोरोना संक्रमित का शव, जमशेदपुर में हंगामा

खूंटी/जमशेदपुर, जासं। Jharkhand Coronavirus Cases News Update कोरोना का खौफ लोगों में कुछ हदतक व्याप्त हो गया है कि संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद उसे दफनाने को जमीन तक नहीं मिल रही है। दफनाने की सूचना मात्र पर लोगों का जमावड़ा लग जा रहा है। लिहाजा प्रशासन को कई मौकों पर घुटने टेकने पड़ रहे हैं। शनिवार को कुछ ऐसा ही नजारा खूंटी और जमशेदपुर निवासी कोरोना पॉजिटिव दो व्यक्तियों की मौत के बाद देखने को मिला।

खूंटी के मेलाटांड़ निवासी 70 वर्षीय कोरोना संक्रमित वृद्ध की शुक्रवार को रिम्स रांची में मौत हो गई। इसके बाद शनिवार की सुबह महादेव मंडा के समीप कब्रिस्तान में शव को दफनाने के लिए प्रशासनिक कवायद शुरू की गई। जैसे ही आपरेटर जेसीबी लेकर कब्रिस्तान में गड्ढा खोदने पहुंचा, आसपास के टोलों के लोग गोलबंद हो गए। हो-हंगामा इतना बरपा कि प्रशासनिक अधिकारियों को घुटने टेकने पड़े। अंत में शव को रांची में दफनाया गया।

इधर, जमशेदपुर में शुक्रवार को एक कोरोना संक्रमित की मौत हो गई। इसकी खबर शहर में वायरल हो गई, तो हड़कंप मच गया। इसी बीच दोपहर करीब डेढ़ बजे अनुमंडल अधिकारी धालभूम चंदन कुमार भुइयांडीह स्थित स्वर्णरेखा बर्निंग घाट पहुंचे। घाट के कर्मचारी से कहा कि शनिवार सुबह में एक कोरोना से मृत मरीज का शव लाया जाएगा। उसके दो घंटे पहले और दो घंटे बाद तक कोई शव नहीं लाया जाएगा, इसकी व्यवस्था करनी है। शव लाने का समय रात में बताया जाएगा। यह कहकर एसडीओ तो चले गए, लेकिन यह बात लीक होते ही पास की बस्ती से सैकड़ों महिला-पुरुष श्मशान घाट पहुंच गए। उन्होंने वहां हंगामा कर दिया।

बात श्मशान घाट के पास रहने वाले पूर्व मंत्री दुलाल भुइयां तक पहुंची, तो मामला गंभीर हो गया। अंत में दुलाल ने एसडीओ चंदन कुमार से बात की, तो मामला स्पष्ट हुआ। इसके बाद दुलाल ने बस्तीवासियों को समझाया कि प्रशासन जिम्मेदारी ले रहा है कि अंतिम संस्कार से कोई परेशानी नहीं होगी। एसडीओ चंदन कुमार ने कहा कि आजतक कहीं से ऐसी शिकायत नहीं मिली है कि अंतिम संस्कार की वजह से कहीं कोरोना फैला हो। बस्ती के लोग भी समझ गए हैं, दुलाल भुइयां ने भी कहा है कि प्रशासन को कोई परेशानी नहीं होगी। कोई हंगामा नहीं होगा। हालांकि जिला प्रशासन ने यह नहीं बताया कि अंतिम संस्कार रविवार को कितने बजे होगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.