top menutop menutop menu

Chatra, Jharkhand Lockdown: यहां फिर से एक हफ्ते का लॉकडाउन, कल से सबकुछ बंद

चतरा, जासं। Lockdown Update, Lockdown in India बुधवार से संपूर्ण जिला एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन में रहेगा। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सारी दुकानें बंद रहेगी। यह निर्णय सोमवार को उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने चेंबर ऑफ कॉमर्स के आग्रह पर लिया है। चेंबर ऑफ काॅमर्स ने रविवार को एक बैठक की थी। जिसमें कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए एक सप्ताह के लिए दुकानों को बंद रखने पर सहमति बनी थी। उसके बाद सोमवार को चेंबर का एक शिष्टमंडल उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह से भेंट कर मांगाें का एक ज्ञापन सौंपा।

शिष्टमंडल का नेतृत्व चेंबर का अध्यक्ष जितेंद्र कुमार जैन कर रहे थे। शिष्टमंडल में सचिव संजय अग्रवाल, नगर शिकायत मंत्री रियाजउद्​दीन ओवैसी और सह सचिव ताराचंद्र सोनी शामिल थे। डीसी ने दैनिक जागरण को बताया कि चेंबर आॅफ कॉमर्स के आग्रह पर यह लॉकडाउन का निर्णय लिया गया है। उन्हाेंने कहा कि आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सारी दुकानें पूरी तरह से बंद रहेगी।

उपायुक्त ने कहा कि कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में लॉकडाउन अनिवार्य हो गया है। उन्होंने कहा कि हालात की समीक्षा के लिए शनिवार को पुलिस अधीक्षक ऋषव कुमार झा एवं कुछ अन्य अधिकारियों के साथ इस पर व्यापक रूप से विचार विमर्श किया गया। निष्कर्ष यह निकला है कि वर्तमान हालात पर काबू पाने के लिए एक मात्र विकल्प लॉकडाउन है।

उन्होंने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि घरों में रहें, अनावश्यक रूप से बाजार नहीं निकले। यदि बहुत जरूरी हो, तो चेहरे पर मास्क लगाकर ही घर से बाहर जाएं। डीसी ने कहा कि शहर के सभी किराना दुकानदारों, दवा दुकान, कपड़ा, जूता-चप्पल दुकान और सब्जी विक्रेताओं की स्वाब का जांच कराया जाएगा। इसके लिए कार्यक्रम तैयार किए जाए रहे हैं। एक सप्ताह के भीतर इन सभी व्यवसायियों का काेरोना जांच कराई जाएगी।

बगैर पास अब दूसरे प्रदेशों के लोगों को नहीं मिलेगी इंट्री

दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों की इंट्री अब थोड़ी मुश्किल हो गई है। बगैर ई-पास का जिले में प्रवेश संभव नहीं है। यह व्यवस्था सोमवार से लागू की गई है। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने यह निर्णय लिया है। डीसी ने जिला से लगे सभी अंतरराज्यीय सीमाओं पर विशेष चौकसी का निर्देश दिया है। साथ ही साथ यह भी कहा है कि बगैर पास वालों को किसी भी परिस्थिति में प्रवेश नहीं करने दें। यदि जबर्दस्ती करते हैं, तो उनके विरूद्ध कार्रवाई करें।

जिले से लगने वाले अंतरराज्यीय सीमाओं पर पैनी नजर

उन्होंने बिहार से सटे जिले के सीमाओं पर पैनी नजर बनाए रखते हुए बिना ई-पास के अंतरराज्यीय किसी भी वाहन को प्रवेश करने पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया है। साथ ही इसका सख्ती से अनुपालन कराने कहा है। जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी राजीव रंजन ने बताया कि एक राज्य से दूसरे राज्य जाने के लिए झारखंड सरकार द्वारा ई-पास की सुविधा दी गई है। एक राज्य से दूसरे राज्य जाने के लिए झारखंड सरकार द्वारा जारी वेबलिंक https://epassjharkhand.nic.in पर जाकर आवेदक आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि ई-पास निर्गत करने के पश्चात इसे वाहनों पर लगाना अनिवार्य होगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.