राष्ट्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं चार्टर्ड एकाउंटेंट : राज्यपाल

दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आइसीएआइ) की रिसर्च कमेटी ने सम्ममानित किया।

JagranWed, 01 Sep 2021 06:00 AM (IST)
राष्ट्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं चार्टर्ड एकाउंटेंट : राज्यपाल

जासं, रांची : दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आइसीएआइ) की रिसर्च कमेटी ने दुनिया भर के रिसर्च स्कॉलर और शिक्षाविदों को सम्मानित किया, जो इनोवेशन और वैल्यू क्रिएशन के लिए रिसर्च स्टडी को बढ़ावा देने में योगदान देते आए हैं। इन विजेताओं को राज्यपाल रमेश बैस ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। उन्होंने सभी पुरस्कार विजेताओं को उनकी उपलब्धियों पर बधाई दी। कुल 14 पेपर में 32 रिसर्चर को सम्मानित किया गया है। मंगलवार को रांची के रेडिशन ब्लू होटल में दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया की ओर से अवार्ड सेरेमनी का आयोजन किया गया।

राज्यपाल ने रिसर्च को लेकर कहा कि इनके रिसर्च से ही सीए का मान बढ़ता है। चार्टर्ड एकाउंटेंट ने अपनी मेहनत और प्रतिभा के बल पर स्वतंत्र रूप से अपने पेशेवर कार्यों द्वारा समाज में ख्याति प्राप्त की है और अपने टेलेंट से विभिन्न मल्टीनेशनल कंपनियों को सलाह देकर राष्ट्र के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र के विकास में अन्वेषण का एक महत्वपूर्ण स्थान रहता है। अन्वेषण से विभिन्न प्रथाओं एवं संभावनाओं को समझने एवं नयी प्रणालियों को विकसित करने का मार्ग प्रशस्त होता है। चार्टर्ड एकाउंटेंट संस्थान द्वारा चलाए जा रहे इन अनुसंधान कार्यक्रमों से भारत आर्थिक क्षेत्र में काफी प्रगति करने की क्षमता रखता है और देश आर्थिक विकास के क्षेत्र में चार्टर्ड एकाउंटेंट की सकारात्मक भागीदारी की अपेक्षा रखता है।

भारत की डा ऋचा सिघल द्वारा अर्थशास्त्र श्रेणी के तहत रजत और प्रशंसा पत्र से सम्मानित किया गया। वित्त श्रेणी के तहत चार पेपरों को सम्मानित किया गया था। डा रश्मि चौधरी, डा प्रीति बख्शी और डा हेमेंद्र गुप्ता को ए स्टडी ऑफ एसएमई एंड अनलिस्टेड नॉन-फाइनेंशियल फ‌र्म्स इन इंडिया विषय पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए गोल्ड ऑनर दिया गया। डा रेणुका शर्मा और सीए डा अमन चुघ के अलावा डा पीयूष पांडे और डॉ संजय सहगल द्वारा प्रस्तुत पेपर को रजत सम्मान दिया गया। इस पुरस्कार समारोह के लिए विश्व के कुल 12 देशों से 138 आवेदन प्राप्त हुए थे। जिसमें श्रीलंका के सह लेखकों डा नुवान गुणरथने, डा पुबुदु हितिगला कलुआराचिलगे और डा एस राजसूर्या को अर्थशास्त्र श्रेणी के तहत आइसीएआइ इंटरनेशनल रिसर्च अवा‌र्ड्स 2021 के स्वर्ण सम्मान और सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र से सम्मानित किया गया। इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ अकाउंटेंट्स के अध्यक्ष एलन जॉनसन की अध्यक्षता में जूरी पैनल ने विजेताओं का चयन किया।

------------------------

अनूप जलोटा ने किया सभी को मंत्रमुग्ध : कार्यक्रम के अंत में भजन गायक अनूप जलोटा ने अपने गानों से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। सदाबहार गाना चिठ्ठी आई है, आई है.. के गाने पर सभी थिरकने लगे। उनका हर एक गाने ने पुरानी यादों को जिदा कर देने जैसा था। सभागार में मौजूद सभी चार्टर्ड एकाउंटेंट एक पल के सभी कुछ भुलाकर बस संगीत की दुनिया में रम गए। एक से बढ़कर एक भजन पेश कर अनूप जलोटा ने समा बांध दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.