दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

CBSE Class 12 Board Exams 2021: सुप्रीम कोर्ट में सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा, छात्र बेचैन; देखें Latest Update

CBSE Class 12 Board Exams 2021: सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा रद कराने को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई।

CBSE Class 12 Board Exams 2021 केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर संशय लगातार बढ़ता जा रहा है। परीक्षा रद होने या आयोजित होने को लेकर छात्र दुविधा में हैं। इस बीच सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा रद करने को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर हुई।

Alok ShahiSat, 15 May 2021 04:10 AM (IST)

रांची, जेएनएन। CBSE Class 12 Board Exams 2021: केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर संशय लगातार बढ़ता जा रहा है। परीक्षा रद होने या आयोजित होने को लेकर छात्र दुविधा में हैं। इस बीच सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा रद करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। जबकि सीबीएसई ने कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा रद किए जाने की तमाम मीडिया रिपो‍र्ट्स को खारिज कर दिया है। जानकारी के मुताबिक सीबीएसई (CBSE) 12 वीं बोर्ड परीक्षा 2021 को रद करने की याचिका वकील ममता शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की है। याचिकाकर्ता ने नई मूल्‍यांकन पद्धति या फिर इंटरनल असेसमेंट के जरिये रिजल्‍ट जारी करने की गुहार लगाई है। बहरहाल, अब देशभर के छात्रों की नजरें सुप्रीम कोर्ट पर टिक गई हैं।

सुप्रीम कोर्ट पर टिक गईं छात्रों की नजरें

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बिगड़ते हालात के चलते 12वीं कक्षा के छात्र और अभिभावक इस साल परीक्षा रद करने की उम्‍मीद कर रहे हैं। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर केंद्र और सीबीएसई के जवाब के बाद ही आगे की स्थिति साफ हो पाएगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं की बोर्ड परीक्षा को स्‍थगित करने के बाद पहले ही 1 जून को परिस्थितियों का आकलन करने के बाद अंतिम निर्णय करने का एलान कर चुका है। 

ऑनलाइन परीक्षा की चर्चा

उच्‍चतम न्‍यायालय में दाखिल की गई याचिका में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि के कारण अभी कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी सूरत में आयोजित करना संभव नहीं है। ऐसे में कक्षा 12 के परिणाम घोषित होने में देरी होगी। जिससे देश-विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने के इच्‍छुक छात्रों को परेशानी उठानी पड़ेगी। याचिकाकर्ता ने सीबीएसई को निश्चित समय के भीतर छात्रों का परिणाम घोषित करने के लिए निर्देश देने की बात कही है।

1 जून को होगा अंतिम फैसला

बता दें कि 4 मई से 14 जून के बीच होने वाली सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा को कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के चलते स्थगित कर दिया गया था। इससे उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिला चाहने वाले छात्रों को बड़ा झटका लगा है। हालांकि, सीबीएसई ने कहा है कि 1 जून को स्थिति की समीक्षा करेगी। इसके बाद छात्रों को परीक्षा शुरू होने से 15 दिन पहले नोटिस दिया जाएगा। 

सीबीएसई ने परीक्षा रद करने की रिपोर्ट को किया खारिज

इस बीच, सीबीएसई ने उन मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया है जिसमें दावा किया गया था कि सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षाओं को रद कर सकता है। केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड ने आज यह स्पष्ट किया है कि सीबीएसई कक्षा 12 परीक्षाओं के संबंध में ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है। जैसा कि मीडिया के कुछ वर्गों में अनुमान लगाया जा रहा है। इस मामले में लिए गए किसी भी निर्णय को आधिकारिक तौर पर आम लोगों और छात्रों तक पहुंचाया जाएगा।

छात्र सोशल मीडिया में चला रहे अभियान

इधर कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच कई छात्रों ने हैशटैग #saveboardstudents और #cancel12thboardexam के जरिये सोशल मीडिया में परीक्षा दर करने के लिए ऑनलाइन अभियान शुरू किया है। हालांकि परीक्षा रद करने के संबंध में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। सीबीएसई का कहना है कि कक्षा 12 की परीक्षा रद करने पर कोई निर्णय नहीं हुआ है, सारी अटकलों को खारिज किया जाता है। 

अबतक नहीं हुआ परीक्षा रद करने का फैसला

केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड ने आज मीडिया रिपोर्ट्स का खंडन करते हुए कहा कि कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं को रद करने पर कोई निर्णय नहीं हुआ है, यह स्पष्ट किया जाता है कि सीबीएसई कक्षा 12 परीक्षाओं के संबंध में ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है जैसा कि मीडिया के कुछ वर्गों में अनुमान लगाया जा रहा है।  इस मामले में लिए गए किसी भी निर्णय को आधिकारिक तौर पर सबको सूचित किया जाएगा। 

छात्रों के जीवन से खिलवाड़ सही नहीं

आज सुप्रीम कोर्ट में दायर एक याचिका में इस साल की सीबीएसई कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा रद करने की मांग की गई है। वकील ममता शर्मा द्वारा दायर याचिका में परीक्षा रद कर सीधे परिणाम घोषित करने की मांग की गई है। याचिकाकर्ता ने कहा है कि जो छात्रा कोरोना पॉजिटिव होंगे ऐसे छात्रों की जिम्‍मेवारी कौन लेगा। क्‍या वर्तमान परिस्थितियों में परीक्षा का संचालन छात्रों के जीवन के लिए जोखिम भरा नहीं है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.