Bharat Bandh Today: GST के विरोध में व्यापारियों-ट्रांसपोर्टर्स का भारत बंद, झारखंड में आंशिक असर

Bharat Bandh Today: भारत बंद के चलते अधिकतर व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं। जागरण

Bharat Bandh Today वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रावधानों में नए संशोधन को रद करने की मांग को लेकर व्यापारिक संगठन कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स द्वारा बुलाए गए भारत बंद (Bharat Bandh Today Update) का रांची में मिला-जुला असर दिख रहा है।

Alok ShahiFri, 26 Feb 2021 05:51 AM (IST)

रांची, जासं। Bharat Bandh Today, Bharat Bandh LIVE Update, Jharkhand Coal sector affected by Bharat Bandh Today वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रावधानों में नए संशोधन को रद करने और समीक्षा की मांग को लेकर व्यापारिक संगठन कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी-कैट) ने शुक्रवार को भारत बंद (Bharat Bandh Today LIVE Update) का आवाह्न का झारखंड में आंशिक असर देखने को मिला। कैट के आग्रह पर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने बंद का समर्थन करते हुए माल ढुलाई, लोडिंग एवं अनलोडिंग का काम ठप रखा। वहीं, कुछ व्यापारियों ने स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठान और दुकानें भी बंद रखीं। कैट की तरफ से बयान जारी करके कहा गया है कि सरकार (Modi Sarkar) के द्वारा जीएसटी बिल व्यापारिक सुविधाओं के विकास के लिए लाया गया था। मगर अब ये हमारी लिए मुसीबत बनती जा रही है। केंद्र सरकार (Union Government) के द्वारा जीएसटी (GST) में संशोधन से व्यापारियों की समस्या काफी बढ़ गयी है। इसलिए अपनी बात सरकार तक पहुंचाने के लिए भारत बंद (Bharat Bandh Today) का सहारा लिया जा रहा है। इधर, भारत बंद का रांची में आंशिक असर देखने को मिला। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के समर्थन के बाद रांची में ट्रकों का आवागमन बाधित रहा। इस बीच रांची गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के सदस्यों ने बैठक की।

भारत बंद के चलते रांची के बूटी मोड़, जुमार पुल के पास खड़े ट्रक व मालवाहक।

कैट की अपील पर भारत बंद : जानें झारखंड का अब तक का हाल  LIVE Bharat Bandh Today

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रावधानों में समीक्षा की मांग को लेकर व्यापारिक संगठन कंफेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स(सीएआईटी-कैट) की ओर से घोषित भारत बंद का असर दिख रहा। शुक्रवार की सुबह राजधानी रांची में अधिकांश दुकानों के शटर नहीं खुले। बाजार में पहुंचने वाले वाहनों की संख्या आम दिनों की अपेक्षा बहुत कम रही। दूध, ब्रेड और सब्जी जैसी सामानों के लिए सुबह लोग इधर-उधर भटकते हुए दिख रहे हैं।

संगठन की ओर से व्यापारियों से समर्थन की अपील का असर दिख रहा है। बंद सफल बनाने के लिए गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। संगठन जीएसटी के साथ-साथ ई- वे बिल की वैद्यता घटाने का विरोध कर रहा है। रांची गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने आंदोलन के समर्थन किया है। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जालान रोड में लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के सदस्यों के साथ मिलकर कामकाज को बंद रखा है। लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के संरक्षक बिंदुल वर्मा ने कहा कि ई-वे बिल की वर्तमान व्यवस्था व्यवसाय को बर्बाद करने वाली है, सभी परिवहन व्यवसायी एकजुटता से विरोध कर रहे हैं।

एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषिदेव यादव ने कहा कि जालान रोड के सभी स्थानीय ट्रांसपोर्ट के सभी कार्यालय पूरी तरह बंद हैं। किसी भी प्रकार की माल की बुकिंग, डिलीवरी,लदाई/उतराई  नहीं हो रही है। रांची गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की ओर से माल ढुलाई व उठाव ठप रखा गया है।  एसबी सिंह, सुनील सिंह चौहान, रनजीत तिवारी, बिंन्दुल वर्मा, ऋषिदेव यादव, दिनेश चौबे, पवन केडिया, श्याम लाल अग्रवाल, अरुण सिंह,सुभाष पिलानी, सतीश कुमार इंद्रेश कुमार की ओर से सुबह आंदोलन का प्रारंभिक जायजा लिया गया।

धीरे-धीरे और साफ होगी तस्वीर

देशभर के साथ रांची में भी आंदोलन का असर दिख रहा है। दिन चढ़ने के साथ आंदोलन की स्थिति धीरे धीरे और साफ होगी।  कैट की ओर से बताया गया है कि भारत बंद में व्यापारियों का पूर्ण समर्थन मिलेगा। देशभर के करीब आठ करोड़ व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद रख रहे हैं। व्यवसायियों का कहना है कि जीएसटी में कई प्रावधान बेतुके और तर्कहीन है। इससे व्यवसायी बेवजह परेशान होते हैं।

अन्य व्यापारिक संगठनों ने भी दिया है।

चैंबर ऑफ कॉमर्स का नैतिक समर्थन

झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष प्रवीन जैन छाबड़ा ने कहा कि जीएसटी के वर्तमान संशोधन से हर व्यापारी परेशान है ऐसे में झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स ने तय किया है कि वह कैट के द्वारा बुलाए गए भारत बंद का नैतिक समर्थन कर रहा है। चेंबर ऑफ कॉमर्स की कार्यकारिणी के बैठक में लिए गणना के अनुसार व्यापारियों से आंदोलन को नैतिक समर्थन देने का आग्रह किया गया हैं। झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स की सभी जिला इकाइयों ने वित्त मंत्रालय को अपनी तरफ से 1-1 ज्ञापन भी सौंपने वाले हैं। जिस की कॉपी फेडरेशन ऑफ झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स को भी भेजी जाएगी। इनके अपनों को एक साथ कंपाइल करके हम अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं।

वहीं भारत बंद (Bahrat Bandh Today) पर बोलते हुए झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स (Chamber of Commerce) के वर्तमान अध्यक्ष प्रवीन जैन छाबड़ा ने कहा कि जीएसटी (GST) के वर्तमान संशोधन से हर व्यापारी परेशान है। ऐसे में झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स ने तय किया है कि वह कैट के द्वारा बुलाए गए भारत बंद का नैतिक समर्थन करेगा। यह फैसला चैंबर ऑफ कॉमर्स की कार्यकारिणी के बैठक में लिया गया है। साथ ही, हमने तय किया है कि झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स की सभी जिला इकाइयों वित्त मंत्रालय को अपनी तरफ से 1-1 ज्ञापन पत्र भी सौंपेंगे जिस की कॉपी फेडरेशन ऑफ झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स को भी भेजी जाएगी। इनके अपनों को एक साथ कंपाइल करके हम अपना विरोध दर्ज कराएंगे।

चुकी बंद कैट के द्वारा बुलाया गया है इसलिए हम अलग से किसी बंदी का आवाहन नहीं कर रहे हैं। नैतिक रुप से समर्थन का अर्थ है कि हम विरोध में शामिल हैं, व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद करना या नहीं करना यह व्यापारी की अपनी मर्जी पर होगा। इसके लिए झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स के द्वारा किसी तरह की कोई गाइडलाइन जारी नहीं की जाएगी। हालांकि हमें उम्मीद है कि जीएसटी के नए संशोधन से परेशान व्यापारी निश्चित रूप से कल अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान को बंद करके विरोध दर्ज करा सकते हैं। 

बंद सफल बनाने के लिए गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। संगठन जीएसटी के साथ-साथ ई- वे बिल की वैद्यता घटाने का विरोध कर रहा है। रांची गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने आंदोलन के समर्थन रैली निकाल कर एकजुटता का परिचय दिया। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जालान रोड में लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठक की। लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिशन ने बंद के समर्थन की बात कही। लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के संरक्षक बिंदुल वर्मा ने कहा कि ई-वे बिल की वर्तमान व्यवस्था व्यवसाय को बर्बाद करने वाली है, सभी परिवहन व्यवसायी एकजुटता से विरोध करेंगे।

ठप रहेगा माल ढुलाई

एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषिदेव यादव ने कहा कि जालान रोड के सभी स्थानीय ट्रांसपोर्ट के सभी कार्यालय पूरी तरह बंद रहेंगे, किसी भी प्रकार की माल की बुकिंग, डिलीवरी,लदाई/उतराई बन्द रहेगी। रांची गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की ओर से माल ढुलाई व उठाव ठप रखने की घोषणा की गई है। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रवक्ता सुनील सिंह चौहान ने बताया कि शुक्रवार को रांची में लगभग 500 ट्रक गुड्स की सप्लाई बाधित रहेगी। इसमें रोजमर्रा की जरूरत की सामान शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इस दौरान रांची में सामान की न ही कोई गाड़ियां आएंगी और न ही यहां से कोई गाड़ी जाएगी। इसका असर लोकल ट्रांसपोर्टेशन पर भी पड़ सकता है।

लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने चैंबर अध्यक्ष से की मुलाकात

लोकल ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के संरक्षक विन्दुल बर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने झारखंड चेंबर आफ कॉमर्स के अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबड़ा से चैंबर भवन में मुलाकात कर ट्रेड लाइसेंस बनाने में आ रही कठिनाइयों का समाधान के लिए ज्ञापन दिया। प्रवीण जैन छाबड़ा ने पूरी बातों को गंभीरता पूर्वक सुनकर यथा शीघ्र संबंधित पदाधिकारियों से बातकर सरलीकरण करने का प्रयास करने का भरोसा दिलाया। प्रतिनिधिमंडल में लोकल ट्रांसपोर्ट के अध्यक्ष ऋषि देव यादव, मंत्री दिनेश चौबे, जितेंद्र सिंह, पवन, महेंद्र कच्ची शामिल थे। 

भारत बंद में ये हैं साथ

भारत में कई दूसरे व्यापारिक संगठन हैं। जिसमे ट्रांसपोर्ट सेक्टर के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन, ऑल इंडिया एफएमसीज़ी डिस्ट्रिब्युटर्ज़ फेडरेशन, फेडेरेशन ऑफ अलूमिनियीयम यूटेंसिलस मैन्यूफैकचररस एंड ट्रेडर्ज एसोसिएशन, नार्थ इंडिया स्पाईसिस ट्रेडर्स एसोसिएशन, आल इंडिया वूमेंन एंटेरप्रिनियर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया कम्प्यूटर डीलर एसोसीइएशन, आल इंडिया कॉस्मेटिक मनुफक्चरर्स एसोसिएशन आदि शामिल हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.