राम मंदिर के लिए चंदा देने में न आएं किसी के झांसे में, अब सिर्फ ऑनलाइन ऐसे जमा करें

Ayodhya Ram Mandir Donation अब हजारों कार्यकर्ता ऑडिट के काम में लगेंगे।

Ayodhya Ram Mandir Donation मंदिर का काम जब तक जारी रहेगा ट्रस्ट के माध्यम से निधि संग्रह का अभियान चलता रहेगा। विहिप ने कहा कि निधि समर्पण अभियान की समाप्ति के बाद अब हजारों कार्यकर्ता ऑडिट के काम में लगेंगे।

Sujeet Kumar SumanTue, 02 Mar 2021 04:07 PM (IST)

रांची, [संजय कुमार]। Ayodhya Ram Mandir Donation विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए विहिप और आरएसएस की ओर से चलाया गया निधि समर्पण अभियान समाप्त हो गया, परंतु अब भी लाखों परिवार वैसे हैं जिन्हें निधि समर्पण करने का मौका नहीं मिल पाया। देश में कई करोड़ परिवार ऐसे बच हैं, जो निधि समर्पण करने के लिए व्याकुल हैं। वे अभियान के लोगों का इंतजार कर रहे थे परंतु किसी कारणवश हमारे कार्यकर्ता उन घरों तक नहीं पहुंच सके।

वैसे राम भक्तों को निराश होने की जरूरत नहीं है। आप श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की अधिकृत वेबसाइट srjbtkshetra.org पर जाकर ऑनलाइन मंदिर निर्माण में सहयोग कर सकते हैं। इसके साथ ही एसबीआइ नया घाट, अयोध्या की खाता संख्या 39161495808, 39161498809 में (आइएफएस कोड SBIN0002510) आरटीजीएस के द्वारा राशि ट्रांसफर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मंदिर का काम जब तक जारी रहेगा, ट्रस्ट के माध्यम से निधि संग्रह का अभियान चलता रहेगा।

अब विभिन्न संगठन के कार्यकर्ता घर-घर नहीं जाएंगे। इस अभियान के दौरान प्रारंभ में 11 करोड़ परिवारों तक पहुंचने का जो लक्ष्य तय किया था, वह लगभग पूरा हो गया। अभियान की समाप्ति के बाद अब हजारों कार्यकर्ता ऑडिट के काम में लगेंगे। सभी जिलों में ऑडिटर नियुक्त किए जा रहे हैं। सभी जिलों में ऑडिट कराने के बाद कटी और बची हुई रसीद तथा कूपन प्रांत मुख्यालय में जमा करना है।

ट्रस्ट की वेबसाइट से राशि ट्रांसफर करने पर मेल से रसीद

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि अभियान के दौरान कई लोगों ने कहा कि मैं बाद में राशि दूंगा। वैसे लोगों को लग रहा था कि अभियान का समय बढ़ने वाला है। परंतु आरएसएस व विहिप का काम समय से शुरू होता है और समय से समाप्त होता है। परंतु वैसे लोगों को निराश होने की जरूरत नहीं है। ट्रस्ट की वेबसाइट पर जाकर मंदिर निर्माण के लिए विस्तृत जानकारी के साथ राशि जमा करेंगे तो आपको मेल पर रसीद मिल जाएगी। इस बात का जरूर ध्यान रखें कि वेबसाइट अधिकृत ही हो। बारकोड स्कैन कर राशि जमा करने से बचें। ट्रस्ट के अधिकृत ट्वीटर हैंडल @ShriRamTeerth पर भी पूरी जानकारी उपलब्ध है। वैसे फर्जीवाड़ा करने वालों पर विहिप की सोशल मीडिया टीम की पूरी नजर है।

चेक क्लियर होने पर SRBTK से मैसेज आता है

बंसल ने कहा कि आपके दिए चेक के माध्यम से राशि ट्रस्ट के खाते में जमा होने पर SRBTK से ट्रस्ट की ओर से धन्यवाद का मैसेज भी आता है। ऑडिट में बैंक में जमा राशि और जमाकर्ताओं के मोबाइल में लोड एप पर दर्ज की गई राशि से मिलान किया जाएगा। कूपन की अधकट्टी पर निधि समर्पण करने वालों का पता और मोबाइल नंबर भी दर्ज है। अभियान के समय नियुक्त जमाकर्ताओं के एप में कूपन से लेकर राशि तक की विस्तृत जानकारी उपलब्ध है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.