Railway News : रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, ट्रेनों में जल्‍द शुरू होगी पैंट्रीकार की सेवा, डेढ़ साल बाद यात्रियों को अब ट्रेन में मिलेगा ताजा खाना

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी है। रेलवे में ई कैटरिंग सेवा के बाद जल्द ही ट्रेनों में सामान्य कैटरिंग पैंट्रीकार की सेवा बहाल की जा रही है। सबकुछ ठीक रहा तो इस माह में रेल यात्रियों को ट्रेनों में डेढ़ साल बाद पैंट्रीकार का ताजा खाना मिल सकेगा।

Uttamnath PathakSun, 01 Aug 2021 09:09 PM (IST)
big news for railway डेढ़ साल बाद ट्रेन में यात्रियों को मिलेगा ताजा भोजन।

अरविंद चौधरी, झुमरीतिलैया (कोडरमा): कोरोना काल के तकरीबन डेढ़ साल से ऊपर का समय गुजर चुका है। ट्रेन में न लोगों को अभी बेडरोल मिल रहा है और न ही पैंट्री कार के ताजा खाना की सुविधा। रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी है। रेलवे में ई कैटरिंग सेवा के बाद जल्द ही ट्रेनों में सामान्य कैटरिंग पैंट्रीकार की सेवा बहाल की जा रही है। सबकुछ ठीक रहा तो इस माह में रेल यात्रियों को ट्रेनों में पैंट्रीकार का ताजा खाना मिल सकेगा।

वर्तमान में ट्रेनों में यात्रियों को रेडी टू इट खाने से काम चलाना पड़ता है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक ट्रेनों की कैटरिंग सॢवस शुरू होने से लाखों रेल यात्रियों को खानपान की समस्या से राहत मिलेगी। इसबार खास यह है कि पेंट्रीकार में चूल्हे नहीं जलेंगे। ठेकेदार अपने बेस किचन में तैयार भोजन यात्रियों को परोसेंगे।

वीआइपी ट्रेनों से होगी शुरूआत

पहले चरण में देश की हाईस्पीड वीआइपी व राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में यह सेवा बहाल की जाएगी। इसके बाद अन्य मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में पेंट्रीकार शुरू की जाएगी। कोरोना की वजह से अभी वीआइपी समेत सभी ट्रेनों में कैटरिंग सॢवस बंद है। जिसको बहाल करने की तैयारी की जा रही है। यात्रियों को रेडी टू इट की जगह ताजा भोजन परोसा जाएगा।

रेलवे बोर्ड से हो चुका है पत्राचार

रेलवे सूत्रों के अनुसार रेलवे बोर्ड को ट्रेनों में पेंट्रीकार सेवा बहाल करने के बाबत पत्राचार किया जा चुका है। जहां सुविधाओं को देखते हुए ई.कैटरिंग के बाद ट्रेनों की कैटरिंग शुरू करने को लेकर हरी झंडी देने पर विचार किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक सभी डिवीजन और आइआरसीटीसी के सीनियर ऑफिसर्स ट्रेनों की कैटरिंग सॢवस शुरू करने के लिए पहले ही रेलवे बोर्ड को पत्र लिख चुके हैं।

स्पेशल ट्रेन के टैग से यात्रियों को काफी आर्थिक नुकसान, सुविधाएं नगण्य

अभी सभी ट्रेनों को स्पेशल का टैग लगाकर चलाया जा रहा है। इन ट्रेनों की टिकट दर जहां काफी ज्यादा होती है। वहीं इनमें किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जाती है। ऊपर से एक्सप्रेस ट्रेनों में व राजधानी एक्सप्रेस में बेडरोल व खाने की भी व्यवस्था बंद कर दी गई है। लेकिन भाड़ा पहले से ज्यादा यात्रियों से वसूला जा रहा है। दिल्ली रांची राजधानी एक्सप्रेस से उतरे यात्री अमरनाथ सिंह ने बताया किजब सबकुछ सामान्य हो रहा है तो तत्काल स्पेशल का टैग ट्रेनों से हटाया जाए। जिससे यात्रियों के जेब पर अधिक बोझ न पड़े और रियायत टिकट का भी लाभ उन्हें मिल सके। सुविधाएं खत्म कर रेलवे अभी अधिक से अधिक पैसे की उगाही कर रहा है। जब खाना ट्रेन में वेंडर बेच रहा है तो रेलवे को इसे यात्रियों को देने में क्या दिक्कत है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.