Ranchi Police: पुलिसकर्मियों के लिए 500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार, संक्रमित जवान व पदाधिकारी किए जाएंगे शिफ्ट

पुलिसकर्मियों की संक्रमण से सुरक्षा को लेकर 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर तैयार किया गया है।

Ranchi Police राजधानी रांची में पुलिसकर्मियों के बीच कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए रांची पुलिस गंभीर है। पुलिसकर्मियों के लिए कुटे स्थित विस्थापित भवन में 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर तैयार किया गया है। 250 बेड क्वारंटाइन के लिए और 250 बेड आइसोलेशन के लिए है।

Kanchan SinghFri, 16 Apr 2021 12:22 PM (IST)

रांची,जासं। राजधानी रांची में पुलिसकर्मियों के बीच कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए रांची पुलिस गंभीर है। पुलिसकर्मियों के लिए कुटे स्थित विस्थापित भवन में 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर तैयार किया गया है। जहां 250 बेड क्वारंटाइन के लिए और 250 बेड आइसोलेशन के लिए तैयार किया गया है। इसके साथ ही तीन डाक्टर और पर्याप्त नर्सिंग स्टाफ की प्रतिनियुक्ति की गई है। ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग की निगरानी में यह आइसोलेशन सेंटर  तैयार किया गया है।

इसके साथ ही एसएसपी सुरेद्र झा के आदेश पर कोविड-19 मेडिकल सपोर्ट टीम का भी गठन किया गया है। ये टीमें कोरोना से निपटने में मदद करेंगी। टीम डाक्टर व संबंधित विभाग से समन्वय स्थापित कर काम करेगी। कोविड- मेडिकल सपोर्ट टीम को तीन अलग-अलग टीमों में बांटा गया है जिसमें हटिया एएसपी विनीत कुमार, सदर डीएसपी प्रभात रंजन बरवार और सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह को प्रभारी बनाया गया है। इस टीम का सहयोग बरियातु थाना प्रभारी सपन कुमार महथा, मेजर सन्नी कुमार और डीएसपी नीरज कुमार करेगें।

टीम एक कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों को मेडिसिन, इम्युनिटी बुस्टर तथा आपातकाल में एंबुलेस, ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था करेगी। टीम दो कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मी व उनके परिवार के सदस्यों से बात कर स्वास्थ्य व आवश्यकताओं पर ध्यान देगी। जबकि टीम तीन कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों की सहायता के लिए उनके परिवार के सदस्यों को मास्क, सेनेटाइजर, ग्लब्स, सर्जिकल कैप, ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर सहित अन्य समान की व्यवस्था करेगी। इस टीम का संपूर्ण प्रभार ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग को दिया गया है।

आइसोलेशन सेंटर की विशेष निगरानी, एएसपी हटिया को प्रभार :

कोविड के व्यापक फैलाव के कारण पुलिस पदाधिकारी व कर्मी के साथ साथ उनके परिवार भी इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। संक्रमित पुलिसकर्मी व परिजनों को कोविड आइसोलेसन सेंटर में रखा जा रहा है। तीनों सपोर्टिक टीम के अलावे आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कर्मी के लिए दैनिक कार्य कारिणी संचालन समिती का गठन किया गया है। आइसोलेशन सेंटर का संपूर्ण प्रभार हटिया एएसपी विनीत कुमार को दिया गया है। समिति में बेड़ो अंचल के इंस्पेक्टर नीरज सहित अन्य को लगाया गया है। समिति सपोर्ट टीम से समन्यवय स्थापित करते हुए कोविड आइसोलेसन सेंटर के कमांड कंट्रोल सेंटर में प्रशासनिक पदाधिकारियों के रुम में पालीवार कार्य करेगी।

मेस कमेटी पैष्टिक भोजन पर रखेगा नजर

आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कराये गये मरीज को बेहतर इलाज के साथ साथ खान पान की भी विशेष निगरानी रखी जाएगी। इसके लिए मेस कमेटी का गठन किया गया है। जो आइसोलेसन सेंटर में भर्ती पुलिस पदाधिकारी कर्मी व उनके परिवार के सदस्यों के लिए पौष्टिक भोजन का प्रवाधान करेगें। मेस टीम की निगरानी प्रशासनिक टीम करेगा।

इमरजेंसी मरीज को तत्काल हॉस्पीटल भेजने की व्यवस्था :

आइसोलेसन सेंटर में भर्ती मरीज को विशेष परिस्थिति में प्रशासनिक पदाधिकारी शहर के मुख्य कोविड अस्पताल में इमरजेंसी मरीज को लिंक पदाधिकारी व लाइजनिंग पदाधिकारी के माध्यम से भेजेंगे। प्रशासनिक पदाधिकारी आवश्यकतानुसार लिंक या लइजनिंग पदाधिकारी से समन्यवय स्थापित करते हुए मुख्य कोविड अस्पताल में भेजे गए मरीज की जानकारी लिंक या लाइजनिंग पदाधिकारी से संपर्क कर दैनिक पंजी में प्रविष्टि करना होगा।

आइसोलेसन सेंटर में अन्य गंभीर मरीज का नही होगा इलाज :

कोविड सेंटर में कोरोना संक्रमित मरीज के अलावे अन्य गंभीर बीमारी से ग्रसित कर्मी को भर्ती नही किया जाएगा। आइसोलेसन सेंटर में प्रशासनिक पदाधिकारी एसिम्टोमेटिक मरीज के भर्ती करने के दौरान समय सारणी, विभाग, पदस्थापन व संक्रमण लक्षण संचिका में प्रविष्ट करेंगे। संक्रमित व्यक्ति के भर्ती के दौरान पंजीयन संख्या आवंटित करेंगे। साथ ही भर्ती के दौरान चिकित्सक से मरीज के ब्लड प्रेशर, टेंप्रेचर, वजन की जानकारी पंजीयन में रखेंगे। भर्ती के समय संबंधित मरीज के अन्य किसी रोग से ग्रसित होने के बारे में जानकारी मिलती है तो विशेषज्ञ अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।

साफ सफाई से लेकर सुरक्षा पर विशेष ध्यान :

प्रशासनिक टीम मेडिकेयर संस्था के बायो वेस्ट डिस्पोजल तथा कोविड हाउस कीपिंग की टीम से समन्यवय स्थापित करते हुए दैनिक साफ सफाई पर विशेष निगरानी रखेगी। आइसोलेसन सेंटर में व्यवस्थापित लॉजिस्टिक स्टोर का भी नियमित सेनेटाइजेशन किया जाएगा, वही इंफेक्शन प्रीवेंशन प्रोटोकॉल का पूर्णतः पालन करने पर ध्यान दिया जाएगा। पीपीई कीट पहनने व उतारने के लिए चेजिंग रुम चिह्नित किया गया है। चिकित्सक, निर्सिंग स्टाप व अन्य पीपीई कीट पहनने व उतारने के दौरान अपने आप को पूर्ण सेनीटाइज करेंगे। इसके लिए सेनीटाइजिंग फोगिंग मशीन की भी व्यवस्था की गई है।

दैनिक जानकारी रखना :

-मरीजों को किस समय कौन सी दवा दी गयी है।

-मरीज का ऑक्सीजन लेवल, टैम्प्रेचर, ब्लड प्रेशर की जानकारी।

-दैनिक कुशल क्षेम की जानकारी।

-रात के नौ बजे तक कार्यालय कोविड केयर बुलेटिन की जानकारी देनी होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.