गुरु सिंह सभा के नए प्रधान सरदार परमदीप सिंह जानू ने रिकॉर्ड मतों से दर्ज की जीत

संवाद सहयोगी रामगढ़ गुरु सिंह सभा के नए प्रधान पद पर अब तक के सबसे युवा प्रधान के रूप में

JagranPublish:Tue, 30 Nov 2021 07:59 PM (IST) Updated:Tue, 30 Nov 2021 07:59 PM (IST)
गुरु सिंह सभा के नए प्रधान सरदार परमदीप सिंह जानू ने रिकॉर्ड मतों से दर्ज की जीत
गुरु सिंह सभा के नए प्रधान सरदार परमदीप सिंह जानू ने रिकॉर्ड मतों से दर्ज की जीत

संवाद सहयोगी, रामगढ़ : गुरु सिंह सभा के नए प्रधान पद पर अब तक के सबसे युवा प्रधान के रूप में सरदार परमदीप सिंह कालरा उर्फ जानू ने रिकॉर्ड मतों से एकतरफा मुकाबले में जीत दर्ज की है। जानू ने मंगलवार को हुए मतदान के दौरान अपने निकटतम प्रतिद्वंदी निवर्तमान प्रधान रमिदर सिंह गांधी को 126 व पूर्व प्रधान बलजीत सिंह बेदी को 192 मतों से पराजित कर इतिहास रच दिया है। चुनाव में सिख समुदाय के 415 मतदाताओं में 387 मतदाताओं ने मतदान किया। शत-प्रतिशत मतदान ने यह साबित कर दिया है कि सिख समाज के वोटरों ने पूरे उत्साह के साथ वोटिग में भाग लेकर युवा प्रधान पर अपना विश्वास जताया है। सुबह चुनाव साढ़े आठ बजे से शुरू हुआ। अंतिम वोटिग दोपहर ढाई बजे डाला गया इसके साथ ही मतदान समाप्त किया गया। चुनाव कमेटी के पदाधिकारियों ने अपनी देख-रेख में पूरा चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराया। चुनाव को लेकर सुबह से ही गुरुद्वारा साहेब परिसर में गहमागहमी का माहौल शुरू हो गया था। वोटरों सहित प्रधान पद पर खड़े तीनों प्रत्याशियों के समर्थक आइकार्ड लगाकर पूरे उत्साह के साथ वोटरों को अपने विश्वास में लेने का काम शुरू कर दिया। इससे इतर खामोश मतदाताओं ने अपना इरादा किसी के पास स्पष्ट नहीं कर पूरे शालीनता के साथ अपना मत अपने चाहने वाले के पाले में डाला।

चुनाव को लेकर दोपहर तीन बजे से मतपत्रों की गिनती शुरू की गई। शाम चार बजे चुनाव कमेटी ने वोटों की गिनती पूरी कर विजयी प्रत्याशी की घोषणा की। उसके बाद जीत दर्ज करने वाले प्रधान परमदीप सिंह कालरा सबसे पहले दीवान पर जाकर मत्था टेका। वहां पर अरदास की गई। अरदास के बाद वे जैसे ही गुरुद्वारा से नीचे उतरे समर्थकों ने जमकर बाहर में आतिशबाजी कर उत्साह मनाना शुरू कर दिया। साथ ही फूलों की वर्षा शुरू कर दी। जीत दर्ज करने वाले प्रधान परमदीप सिंह कालरा को निवर्तमान प्रधान रमिदर सिंह गांधी व पूर्व प्रधान बलजीत सिंह बेदी ने जीत की बधाई दी। इधर, गुरुद्वारा से बाहर आकर नए प्रधान ने सभी दुकानदारों व समाज के लोगों से मुलाकात कर आभार प्रकट किया। जबकि प्रधान के पद पर सबसे कम उम्र के प्रधान के रूप में जीत दर्ज करने वाले परमदीप सिंह कालरा के समर्थक सडकों पर झूमते रहे।

----------

सबसे पहले अपने चाचा को लगाया गले

प्रधान पद पर जीत दर्ज करने के बाद जानू गुरुद्वारा के बाहर आकर सबसे पहले अपने बड़े चाचा प्रीतम सिंह कालरा के दुकान पर जाकर आशीर्वाद लिया। चाचा ने गले लगाकर पीठ थपथपाई। साथ ही शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस दौरान जानू भावविभोर हो गए। बाद में लोगों ने समझाते हुए कहा कि यह तो खुशी के आंसू है।

-----------

गुरुनानक अस्पताल का निर्माण प्राथमिकता : परमदीप

प्रधान पद पर जीत दर्ज करने वाले परमदीप सिंह कालरा उर्फ जानू ने कहा कि जो वादा किया था उसे पूरा करना है। सबसे पहले कांकेबार स्थित अर्धनिर्मित गुरुनानक अस्पताल का काम पूरा करना है। उसके बाद जो वादा समाज से किया है सभी को करना है। उन्होंने संगत के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि संगत ने जो विश्वास जताया है उसे कभी टूटने नहीं देंगे। समाज का साथ व विश्वास हमारे दिल में रहेगी। साथ ही सभी का सहयोग भी अपेक्षित है।

------------

सिख समाज के ये थे मौजूद

गुरुद्वारा चुनाव के चेयरमैन सरदार नरेंद्र सिंह चमन, इलेक्शन कमेटी के सदस्य इंद्रपाल सिंह छाबड़ा, गुरजीत सिंह सलूजा, हरविदर सिंह जॉली और नरेंद्र पाल सिंह गुजराल के अलावे परमिदर सिंह गांधी, बलजीत सिंह गांधी, बन्नी गांधी, सरदार अनमोल सिंह, बिट्टी सिंह चंडोक, प्रीतम सिंह कालरा, गुल्लू आनंद, जितेंद्र सिंह पवार, बिट्टी छाबड़ा, सोनू कालरा आदि मौजूद थे।