शौच के बहाने पुलिस को चकमा दे आरोपित फरार, तेलियातू से धराया

संवाद सूत्र बरकाकाना(रामगढ़) शौच करने के बहाने पतरातू थाना पुलिस की कस्टडी से एक और आरेापित फरार हो गया।

JagranMon, 27 Sep 2021 07:12 PM (IST)
शौच के बहाने पुलिस को चकमा दे आरोपित फरार, तेलियातू से धराया

संवाद सूत्र, बरकाकाना(रामगढ़): शौच करने के बहाने पतरातू थाना पुलिस की कस्टडी से एक आरोपी के भागने का मामला प्रकाश में आया है। हालांकि बरकाकाना ओपी पुलिस और स्थानीय ग्रामीणों की तत्परता से आरोपित को पकड़ लिया गया। मामला सोमवार को क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा। जानकारी के अनुसार आरोपी नौशाद आलम निवासी बुढ़मू को पतरातू थाना पुलिस अपनी कस्टडी में लेकर रामगढ़ न्यायालय ले जा रही थी। बरकाकाना में रेलवे जोड़ा तालाब के समीप नौशाद ने शौच करने की बात कहा। एक चौकीदार की देखरेख में आरोपी खुले में शौच करने तालाब के समीप गया। इसी क्रम चौकीदार को लापरवाह होता देख आरोपित हाथ में लगे हथकड़ी निकालकर फरार हो गया। चौकीदार के शोर मचाने पर अन्य पुलिसकर्मी तालाब के समीप पहुंचे। तब तक आरोपी तेलियातू की तरफ भाग निकाला था। मामले की जानकारी बरकाकाना ओपी प्रभारी मंटू चौधरी को दी गई। ओपी प्रभारी मंटू चौधरी ने दलबल के साथ तेलियातू और आसपास ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी। लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद ग्रामीण युवकों के सहयोग से घेराबंदी कर आरोपी को पीरी बस्ती व तेलियातु के उडराउडरी जगह के समीप छिपे आरोपी को पकड़ लिया गया। आरोपी को पतरातू पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। जिसे पुलिस रामगढ़ ले गई। घटना के बाद पतरातू पुलिस की कार्यशैली पर लोग कई तरह कयास लगाते रहे। मामले में पूछे जाने पर पतरातू थाना प्रभारी शशि प्रकाश ने कहा कि आरोपी पकड़ लिया गया है। मामले को तूल देने की जरूरत नहीं है। वहीं बरकाकाना ओपी प्रभारी मंटू चौधरी ने कहा कि एक घंटे के भीतर ग्रामीणों के सहयोग से आरोपी पकड़ लिया गया है। क्षेत्र की विधि-व्यवस्था बनाए रखने में बरकाकाना पुलिस पूरी तरह से तत्पर है। आरोपित को पकड़े जाने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.