शहर में रही पुलिसिया धमक, ग्रामीण इलाकों में नहीं दिखी हनक

शहर में रही पुलिसिया धमक, ग्रामीण इलाकों में नहीं दिखी हनक

संवाद सहयोगी रामगढ़ देश भर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारी तबाही मचा रखी है

JagranSun, 16 May 2021 08:31 PM (IST)

संवाद सहयोगी, रामगढ़ : देश भर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारी तबाही मचा रखी है। हर कोई परेशान व हैरान हो रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए राज्य और केंद्र सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। ताकि इसके चेन को तोड़ा जा सके। इस महामारी को रोकने के लिए देशभर के कई राज्यों में लॉकडाउन और नाइट क‌र्फ्यू जैसे कड़े कदम उठाए है। सरकार ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह चार में कड़े प्रावधान लाए हैं। अब बिना ई-पास के सड़कों पर वाहनों को चलाना मुश्किल हो गया है। बिना काम के सड़क पर वाहन नहीं लाया जा सकता है। स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह चार के आरंभ होते ही चौक चौराहों पर पुलिस और अधिकारी नजर आने लगे हैं। इसका असर रविवार को शहरी इलाकों में देखा गया। पुलिसिया धमक शहर में जबरदस्त देखा गया। वहीं ग्रामीण इलाकों में इसकी हनक नहीं दिखी। लोग पूर्व की तरह ही सड़कों पर दिखे, बाइक भी चलाते दिखे। जबकि शहरी इलाकों में पुलिस सुबह से ही सड़क पर उतरकर हरकत में आ गई थी। शहर में सुबह में चहल-पहल दिखा पर पुलिसिया दबाव भी दिखाई दिया। दोपहर बाद तो सुभाष चौक मुख्य सड़क पूरी तरह सन्नाटे में तब्दील रहा। वहीं भुरकुंडा-बरकाकाना मुख्य मार्ग में कुछ आटो चलते देखा गया। अमूमन सन्नाटा ही रहा। ग्रामीण इलाकों में पुलिसिया पहुंच नहीं होने के कारण सब कुछ सामान्य सा रहा। शहर को छोड़कर करीब-करीब जगहों पर लोग बेबाक दिखे। शहर में तो पुलिस सुभाष चौक, थाना चौक, पटेल चौक, नईसराय चौक, बाजार टांड़ आदि में जबरदस्त उपस्थिति दर्ज कराते हुए ई-पास से लेकर मोटरसाइकिल तक की चेकिग करते रहे। दुकानें भी निर्धारित समय पर बंद हो गई। शहर में तो सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। ग्रामीण इलाकों में लोग घरों से निकले और तफरी भी करते रहे। वहां पर पुलिसिया दबाव कम दिखाई दिया। वैसे पहले दिन होने के कारण यह हालात रहा। सूत्र बताते है कि सोमवार से यह दबाव और बढ़ेगा। लॉकडाउन चार के बाद सड़कों पर निकलने के लिए लोग परेशान रहे। इसके लिए सभी ई-पास बनाने में अपनी दिन-चर्या लगा दिए। ई-पास बनाना उनके लिए लोहा चबाने जैसा साबित हो गया। क्योंकि सर्वर अचानक पूरी तरह स्लो हो गया। उसके बाद लोग पूरी तरह हलकान हो गए। जिन लोगों के पास मोबाइल था और वे टेक्नोक्रेट थे वे तो किसी तरह जद्दोजहद कर पास बनवा लिया। ग्रामीण व आमलोग इससे काफी परेशान हो गए।

------------

बस पड़ाव पर पसरा रहा सन्नाटा

लॉकडाउन के पूर्व से यह घोषणा की गई थी की रविवार से होने वाले लॉकडाउन में बसें नहीं चलेगी। ना तो बाहर से आएगी ना ही राज्य से बाहर जाएगी। इसे लेकर बस संचालकों ने बंद के पूर्व ही सब कुछ तय कर लिया था। उसके बाद भी बस पड़ाव में यात्रियों को देखा गया। जबकि बस पड़ाव पूरी तरह सन्नाटे में तब्दील रहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.