पुलिस को सूचना दे गिरफ्तार कराया, इसलिए कांग्रेसी नेता कमलेश की कर दी हत्या : एसपी

जागरण संवाददाता रामगढ़ भुरकुंडा सेंट्रल सौंदा निवासी सहारा इंडिया के सेक्टर मैनेजर हत्याकांड का पर्दाफाश हो गाय।

JagranMon, 18 Oct 2021 06:58 PM (IST)
पुलिस को सूचना दे गिरफ्तार कराया, इसलिए कांग्रेसी नेता कमलेश की कर दी हत्या : एसपी

जागरण संवाददाता, रामगढ़ : भुरकुंडा सेंट्रल सौंदा निवासी सहारा इंडिया के सेक्टर मैनेजर व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कांग्रेसी नेता कमलेश नारायण शर्मा हत्याकांड का पर्दाफाश सोमवार को एसपी प्रभात कुमार ने कर दिया। पुलिस ने कांड में प्रयुक्त एक लोहे का सब्बल व एक रड को भी बरामद कर लिया था। दो दिनों की ताबड़तोड़ छापेमारी में पुलिस ने एक दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। हिरासत में लिए गए लोगों में से चार लोगों ने हत्याकांड को अंजाम दिया था। गिरफ्तार आरोपितों में मृतक कमलेश शर्मा के ही पड़ोसी दो सगे भाई विजय चौधरी उर्फ नागो, राजा चौधरी उर्फ कारू चौधरी के अलावा राम अचल तथा राहुल कुमार चौधरी शामिल थे। एसपी ने चारों हत्यारोपितों को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए बताया कि बदले की भावना से ही कांग्रेसी नेता कमलेश शर्मा की हत्या उक्त चारों ने मिलकर की थी। पूछताछ के दौरान हत्यारोपितों ने बताया कि चोरी के एक मामले में पुलिस को सूचना देकर उनलोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजवा दिया था। इसलिए जेल से बाहर निकलने के बाद बदला लेने की नियत से लोहे की रड से वार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया था। एसपी ने बताया कि भुरकुंडा क्षेत्र के सेंट्रल सोंदा क्वार्टर में रहने वाले कमलेश नारायण शर्मा काफी अच्छे स्वभाव के व्यक्ति थे। उन्होंने हमेशा गलत के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। गत 15 अक्टूबर यानी विजयादशमी की रात उनके मोहल्ले के ही विजय चौधरी, राजा चौधरी, रामअचल व राहुल चौधरी ने मिलकर उनकी निर्दयता पूर्वक हत्या कर दी थी, जबकि उनकी पत्नी को घायल कर दिया था। एसपी ने बताया कि विजय, राजा, रामअचल और राहुल चारों शातिर अपराधी रहे हैं। उनका अपराधिक इतिहास भी है। क्षेत्र में अगर उन लोगों के द्वारा अपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जाता रहा है। कमलेश शर्मा ने उन लोगों की सूचना पुलिस को दी थी। इसके आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था और जेल भी भेजा था। उन्होंने बताया चोरो अपराधियों ने जेल जाने के बाद ही कमलेश की हत्या करने का प्लान बना लिया था। जेल से निकलने के बाद उन लोगों ने कमलेश नारायण शर्मा की पूरी रेकी की थी। विजयादशमी के दिन उन लोगों ने नशे में धुत होकर उनके घर पर हमला कर दिया। खिड़की तोड़कर अंदर घुसे और लोहे की रॉड से मारकर उनकी हत्या कर दी। अपराधियों ने बीच-बचाव करने पहुंची कमलेश नारायण शर्मा की पत्नी चंचला देवी को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया था। एसपी ने बताया कि घटना के बाद तत्काल कार्रवाई शुरू करते हुए पतरातू एसडीपीओ डा वीरेंद्र कुमार चौधरी, इंस्पेक्टर लिलेश्वर महतो भुरकुंडा ओपी प्रभारी अजीत भारती के नेतृत्व में टीम गठित कर उक्त चारों अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.