सीसीएल रजरप्पा के बारूदघर के आसपास जंगलों में धधक उठीं आग की लपटें, मची अफरा-तफरी

सीसीएल रजरप्पा के बारूदघर के आसपास जंगलों में धधक उठीं आग की लपटें, मची अफरा-तफरी

संवाद सूत्र रजरप्पा(रामगढ़) रजरप्पा कोयलांचल स्थित महाप्रबंधक कार्यालय व रजरप्पा थाना के पीछे सीसीएल बारूद घर के समीप जंगल में आग लग गई।

JagranSun, 18 Apr 2021 08:17 PM (IST)

संवाद सूत्र, रजरप्पा(रामगढ़): रजरप्पा कोयलांचल स्थित महाप्रबंधक कार्यालय व रजरप्पा थाना के पीछे के जंगलों में रविवार को एकाएक आग की लपटें धधकने लगी। इससे यहां मैगजीन (बारूदघर) के अलावा केंदुआटांड बस्ती, एसके नगर और सीसीएल के हॉस्पिटल कॉलोनी के आसपास अफरातफरी का माहौल बन गया। घटना दिन के करीब 11 बजे की है। इसकी खबर मिलने के तुरंत बाद प्रबंधन हरकत में आ गई। रविवार होने के बावजूद रजरप्पा क्षेत्र के महाप्रबंधक आलोक कुमार अपने कार्यालय पहुंचे हुए थे। उन्होंने तत्काल वाटरटैंक को घटनास्थल पर भेज कर आग को नियंत्रित करने का निर्देश दिया। दूसरी ओर आग का विकराल रूप देख बगल के गांव में हड़कंप मच गया। गांव में आग ना फैले, इसके लिए ग्रामीणों की सूचना के बाद चितरपुर बीडीओ उदय कुमार ने तत्काल रामगढ़ स्थित फायर बिग्रेड कार्यालय को सूचना दी। सूचना मिलते ही रामगढ़ से फायर बिग्रेड की गाड़ी मौके पर पहुंचकर आग बुझाने का प्रयास में जुट गई। लगभग चार घंटे के प्रयास के बाद दोपहर तीन बजे आग पर काबू पाया गया। इसके बाद ग्रामीणों के साथ-साथ सीसीएल प्रबंधन के पदाधिकारियों ने राहत की सांस ली।

---

अफरा-तफरी के माहौल, आग कैसे लगी, इस पर सिर्फ कयास ही लग रहा है

पहले तो आग कम थी, लेकिन हवा तेज चलने से आग भड़कती चली गई। आग से कई छोटे-बड़े पेड़ जलकर राख हो गए। आग लगने के बाद पूरे क्षेत्र में अफरा तफरी का माहौल बन गया। आग की लपटें दूर से ही देखी जा सकती थी। पूरे क्षेत्र को धुआं ने अपने आगोश में ले लिया। अफरा-तफरी के माहौल इसलिए बना, क्योंकि आग की लपटे धीरे-धीरे सीसीएल रजरप्पा क्षेत्र के बारूदघर की ओर बढ़ रही थी। आग बारूदघर तक पहुंच जाती तो स्थिति काफी विस्फोटक हो सकती थी। इधर, सीसीएल के वाटर टैंकर जैसे ही आग पर काबू पाया, तेज हवा के कारण आग की लपटें केंदुआटांड बस्ती और सीसीएल के हॉस्पिटल कॉलोनी के एमडीएस क्वार्टर की ओर बढ़ गया। इस प्रकार, आग की लपटें कई एकड़ जंगल में फैल गई। आग कैसे लगी, इस पर किसी प्रकार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। परंतु आसपास के लोगों का कहना है कि शरारती तत्वों द्वारा जंगल के सूखे झाड़ियों में माचिस जलाकर फेंक देने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई।

---

बीडीओ व थाना प्रभारी घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीणों से की पूछताछ इधर, आग पर काबू पाने के बाद चितरपुर बीडीओ उदय कुमार, रजरप्पा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विपिन कुमार, सीसीएल रजरप्पा क्षेत्र के वरीय कार्मिक प्रबंधक पीएन मिश्रा घटनास्थल पर पहुंचकर आसपास के ग्रामीणों से पूछताछ किया। ग्रामीणों ने आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं कर पाए, परंतु लोगों का कहना है कि जंगल के आसपास आवारा लोगों की अड्डेबाजी होती है। यहां शराब और सिगरेट पीते हैं, इन्हीं लोगों ने यहां आग लगाया होगा।

--

आग बुझा लिया गया है, मैगजीन सुरक्षित आग कैसे लगी, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। परंतु चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है। आग को मैगजीन तक नहीं बढ़ने दिया गया। मैगजीन अभी पूरी तरह से सुरक्षित है।

-आलोक कुमार

जीएम, सीसीएल रजरप्पा क्षेत्र।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.