ट्रेन से गिर ट्रैक किनारे पड़ा रहा यात्री, बारिश की फुहार से आया होश,बची जान

होश आने पर बताया चलती ट्रेन में किसी ने धक्का दे दिया था इसके बाद क्या हुआ पता नहीं फोटो

JagranFri, 18 Jun 2021 07:49 PM (IST)
ट्रेन से गिर ट्रैक किनारे पड़ा रहा यात्री, बारिश की फुहार से आया होश,बची जान

होश आने पर बताया, चलती ट्रेन में किसी ने धक्का दे दिया था, इसके बाद क्या हुआ पता नहीं

फोटो 18 डालपी 19 व 20

कैप्शन : स्वजन के साथ ट्रेन से गिरकर घायल निरंजन कुमार यादव व ट्रेन से गिरने के बाद निरंजन की मरहम पट्टी करते चिकित्सक संवादसूत्र विश्रामपुर (पलामू) : बारिश किसी के लिए आफत है तो किसी के लिए वरदान भी है। गढ़वा रोड जंक्शन पर गुरुवार की देर रात एक रेलयात्री ट्रेन से गिरकर बेहोश हो पांच घंटे तक पड़ा रहा। देर रात हुई बारिश में भीगने के बाद उसे होश आया। वह ट्रैक के किनारे से उठकर प्लेटफार्म पहुंचा।

पलामू जिले के छतरपुर प्रखंड के लठेया गांव निवासी उदेश्वर यादव के पुत्र निरंजन कुमार यादव गुरुवार की रात गढ़वा रोड स्टेशन से रांची- इंटरसिटी ट्रेन में रांची जाने के लिए सवार हुआ। इस बीच चलती ट्रेन में किसी ने उसे धक्का देकर गिरा दिया। इसके बाद उसे कुछ भी पता नहीं। उसके सिर से खून निकल रहा था। हाथ की अंगुली कटी हुई थी व चेहरे पर जख्म था। युवक के पास मोबाइल था जो बारिश में भीगने के कारण बंद हो गया था। यात्रियों ने उसके डिस्चार्ज मोबाइल को चार्जकर उसके एक नंबर को मिलाया जो उसके ससुराल का था। साथ ही उसकी गंभीर स्थिति की जानकारी दी गई। सूचना के बाद उसकी सास व साला तड़के 3.17 बजे स्टेशन पहुंचे। यहां प्राथमिक इलाज के बाद युवक को ससुराल वालों को सौंप दिया। युवक का ससुराल विश्रामपुर थाने के घरटिया में है। स्टेशन पर दर्द से छटपटाता रहा युवक, एक घंटे के बाद पहुंचे डाक्टर ट्रेन से गिरकर घायल निरंजन कुमार यादव को स्थानीय लोग एक नंबर प्लेटफार्म पर ले गए। यहां आरपीएफ के कांस्टेबल अर्जुन प्रसाद ने देखा तो वह बेहोशी की हालत में था। वह कुछ भी बताने कि स्थिति में नहीं था। उन्होंने प्राथमिक उपचार के लिए स्टेशन मास्टर के पास गए। घायल निरंजन कुमार का इलाज कराने के लिए कांस्टेबल प्रसाद ने कई लोगों को फोन किया। एक घंटे बाद डाक्टर पहुंचकर घायल युवक की मरहम पट्टी कर दवाएं दीं। इसके बाद उसे राहत मिली।

बारिश में भीगा घायल युवक कांप रहा था। एसआइएस का जवान विकास त्रिवेदी ने उससे अपनी वर्दी, फुल पैंट, बिस्किट व एक बोतल पानी देकर मानवता की मिसाल पेश की। युवक होश में आया तो पूरी घटना की जानकारी दी। कोट --- घटना से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं मिली है। पूरी रात स्टेशन परिसर में आरपीएफ, जीआरपीएफ व अन्य रेल कर्मियों का मूवमेंट रहता है। ऐसे में युवक का गिरना व लोगों द्वारा नहीं देखा जाना आश्चर्य की बात है। फिर भी घटना की पूरी जानकारी ली जा रही है।

- सतीश कुमार, स्टेशन प्रबंधक, गढ़वा रोड, पलामू।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.