पंच सरोवर पोखरा सूखा,जल स्तर गिरा

पंच सरोवर पोखरा सूखा,जल स्तर गिरा

बाटम सहेज लो बूंद गर्मी शुरू होते ही प्रखंड क्षेत्र के अधिकांश जलस्रोत सूख गए गहराने लगा है जल

JagranThu, 29 Apr 2021 06:47 PM (IST)

बाटम

सहेज लो बूंद

गर्मी शुरू होते ही प्रखंड क्षेत्र के अधिकांश जलस्रोत सूख गए, गहराने लगा है जल सकंट संवादसूत्र, हुसैनाबाद (पलामू) : हुसैनाबाद प्रखंड क्षेत्र में पड़ रही प्रचंड गर्मी के कारण दिन-ब-दिन भूजल स्तर काफी नीचे गिरता जा रहा है। इससे क्षेत्र के विभिन्न पोखर, तालाब सूखते जा रहे हैं। जमीन में दरारें पड़नी शुरू हो गईं हैं। पशु-पक्षी को भी जल नही मिल पा रहा है। हुसैनाबाद ब्लाक रोड स्थित पंचसरोवर पोखरा पूरी तरह सूख चुका है। इसका निर्माण दशकों पूर्व जल संचयन के लिए किया गया था। यह पोखरा जल संचयन का प्रमुख स्रोत है। इस पोखरा में बरसात के दिनों में पानी भर जाने से पुरन्दरबीघा गांव के अलावे उसके इर्द-गिर्द के खेतों के पटवन का एक वैकल्पिक साधन है। जरूरत के मुताबिक लोग इस पोखरा से पानी का उपयोग अपने खेतों के लिए किया करते हैं। इस का सौंद्रीयकरण 8-10 वर्ष पूर्व की गई है। यह पोखरा आध्यात्मिक ²ष्टिकोण से भी जुड़ा हुआ है। पोखरा के पिड पर मंदिर है। लोग यहां लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा करते है। सैकड़ों की संख्या में लोग इस पोखरा में आस्था की डुबकी लगाते हैं। मंदिर में पूजा-अर्चना कर सुख-शांति की कामना करते हैं। क्षेत्र में जल स्तर को बनाए रखने में यह पोखरा काफी हितकर साबित होता रहा है। लोग इस पोखरा से गर्मियों के दिनों में भी काफी लाभांवित हुआ करते थे। । आस-पास का जलस्तर बना रहता था। इस पंच सरोवर पोखरा में सालों भर पानी बना रहे इसके लिए सरकारी स्तर पर सक्रियता के साथ कार्य करने की जरूरत है। ऐसा नहीं हुआ तो लोग बूंद-बूंद के लिए तरसेंगे। बाक्स: फोटो: 29 डीजीजे 19 कैप्शन- वार्ड पार्षद अखिलेश कुमार यादव हुसैनाबाद: पंच सरोवर पोखरा प्राचीन होने के साथ-साथ लोक आस्था से जुड़ा हुआ है। पोखरा में शुद्ध व स्वच्छ जल का संचयन सालोंभर रहे इसके लिए हम सभी को जागरूक रहने की जरूरत है। इस पोखरा में पानी भरा रहने से क्षेत्र का जलस्तर बना रहता है। सरकार व नगरपंचायत इस पर ध्यान दे। सबके सहयोग से इसे उपयोगी बनाया जाए। अखिलेश यादव, वार्ड पार्षद हुसैनाबाद। बाक्स: फोटो 29 डीजीजे 20 कैप्शन: श्रमण कुमार अग्रवाल हुसैनाबाद: पंच सरोवर पोखरा काफी पुराना एवं जल संचयन का बहुत बड़ा स्रोत है। यह पोखरा इस गर्मी के पूर्व कभी नहीं सूखा है। हम सभी को जल का एक-एक बूंद को बचाने की सख्त जरूरत है। सरकारी स्तर पर भी कार्य करने की जरूरत है। इसके लिए स्थानीय स्तर पर बैठक कर इस पोखरा को उपयोगी बनाने के लिए सरकार व नगर पंचायत प्रबंधन से मांग की जाए। श्रवण कुमार अग्रवाल, सांसद प्रतिनिधि हुसैनाबाद।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.