top menutop menutop menu

कुएं से वृद्ध बिरजू महतो का शव बरामद

संवाद सूत्र, लेस्लीगंज : लेस्लीगंज थाना के मुकरूम गांव निवासी रामचंद्र महतो के कुआं से मंगलवार को बोहिता गांव निवासी 60 वर्षीय बिरजू महतो का शव बरामद किया गया है। कुएं में तैरते शव की पहचान मृतक के पुत्र और पुत्रवधू के साथ ग्रामीणों ने की। बिरजू महतो 12 जनवरी से ही अपने घर से लापता था। पुत्र नरसिंह यादव ने बताया कि बीते दिनों अपने पिता का अपहरण बोहिता गांव निवासी कवलधारी यादव, संतोष, ललू यादव, पहल यादव, राजकुमार यादव ने किया था। अपहरण के बाद बाद हत्या कर शव को कुआं मे फेंक दिया गया। काफी खोजबीन के बाद बस्ती के बाहर के पुराना कुआं से शव बरामद हुआ है। उसके पिता की हत्या ओझा-गुणी मामले में की गई है। बताया कि 16 जनवरी को लेस्लीगंज थाना में 10 लोगों पर अपहरण के नामजद प्राथमिकी के लिए शिकायत की थी।

जानकारी के अनुसार बीते दिनों बोहिता के संगीता और सविता नामक दो सगी बहनों की मौत बीमारी से हो गई थी। इस मामले को लेकर आठ जनवरी को बिरजू महतो को ओझा गुणी बताते हुए उसके साथ मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी भी दी गई थी। बाक्स : सफाईकर्मी ने सड़ी लाश निकालने से किया इनकार

शव बरामद करने घटनास्थल पर पहुंचे लेस्लीगंज एसडीपीओ अनुप बड़ाईक, थाना प्रभारी बीरेन मिज और पुलिस बल के जवान दो मेहतर के साथ पहुंचे थे। सड़ा-गला शव देख मेहतर ने कुंए से शव निकालने से इन्कार कर दिया। इसके बाद पुलिस जवानों ने पहले बांस, फिर टाट और खटिया का प्रबंध कर तैरता शव निकाला। शव सड़कर क्षत-विक्षत हो गया था। शव पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच मेदिनीनगर भेज दिया गया है।

---------------

बाक्स : क्या कहते हैं एसडीपीओ

एसडीपीओ अनूप बड़ाइक ने बताया कि घटना से संबंधित अपहरण का मामला लेस्लीगंज थाना में दर्ज है। प्रथम ²ष्टया घटना के पीछे ओझा गुनी का मामला ही प्रतीत होता है। आठ जनवरी को बिरजू महतो के साथ मारपीट भी की गई थी। 12 जनवरी से वह गायब था। घर वालों ने काफी खोजबीन की। नहीं मिलने पर लेस्लीगंज थाना में अपहरण से संबंधित नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.