top menutop menutop menu

निगम व विश्रामपुर नप कार्यालय में कोरोना की दस्तक

निगम व विश्रामपुर नप कार्यालय में कोरोना की दस्तक
Publish Date:Thu, 13 Aug 2020 08:45 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, मेदिनीनगर : कोरोना संक्रमण का दायरा तेजी से बढ़ रहा है। नगर निगम मेदिनीनगर और नगर परिषद विश्रामपुर के एक-एक सहायक भी संक्रमण के शिकार हो गए हैं। पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ट्रू नेट से हुई जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई है। बुधवार की रात आरटीपीसीआर की जारी रिपोर्ट में तीन अन्य संक्रमित भी मिले हैं। तीनों लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के हैं। संक्रमितों को इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया है। नगर निगम के संक्रमित सहायक का पुन: सैंपल लेकर आरटीपीसीआर से जांच कराई जा रही है। सहायक के संक्रमण होते ही नगर निगम कार्यालय प्रबंधन सतर्क हो गया है। गुरुवार को आम दिनों की तरह कार्यालय खुला लेकिन आम लोगों के लिए प्रवेश निषेध था। पांच नए कोरोना मरीजों की पुष्टि के साथ ही पलामू में संक्रमितों का आंकड़ा 958 पहुंच गया है। कोविड केयर सेंटर में उपचार के बाद कोरोना को मात देकर 520 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। 14 दिनों की होम क्वारंटाइन की हिदायत के साथ स्वास्थ्य विभाग की ओर से संक्रमितों को घर भेजा जा चुका है। शेष 436 संक्रमितों का उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। मालूम हो कि रविवार की रात आरटीपीसीआर की जारी रिपोर्ट में भी 61 और सोमवार की रात जारी रिपोर्ट में 60 और मंगलवार की रात जारी रिपोर्ट में 128 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हुई थी। पलामू के सिविल सर्जन डा जॉन एफ केनेडी ने कहा कि संक्रमण का शिकार होने वाले व्यक्ति को इलाज के लिए तत्काल कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया जा रहा है। आयुष मंत्रालय की जारी गाइडलाइन के अनुसार सबका इलाज चल रहा है। संक्रमित तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं। लोग घबराएं नहीं, बल्कि कोरोना से बचाव के लिए सावधानियां बरतें।

बाक्स..958 में 520 ने दी कोरोना को मात, 510 रिपोर्ट पेंडिगमेदिनीनगर (पलामू) : पलामू में अब तक 19313 लोगों की जांच की गई। आरटीपीसीआर से 12739, ट्रू नेट से 5066, एंटीजेन से 1690 व निजी लैब से हुई 18 जांच भी शामिल है। इसमें 17635 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव व 958 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 510 लोगों की रिपोर्ट अब भी पेंडिग है। 320 लोगों ने कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। शेष 436 लोगों का इलाज चल रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.