पाकुड़ से कतर भेजा गया दो मिट्रिक टन कच्चु

जागरण संवाददाता पाकुड़ पाकुड़ के किसानों द्वारा उत्पादित दो टन कच्चु कतर जाएगा। मंगलवा

JagranPublish:Tue, 26 Oct 2021 07:13 PM (IST) Updated:Tue, 26 Oct 2021 07:13 PM (IST)
पाकुड़ से कतर भेजा गया दो मिट्रिक टन कच्चु
पाकुड़ से कतर भेजा गया दो मिट्रिक टन कच्चु

जागरण संवाददाता, पाकुड़: पाकुड़ के किसानों द्वारा उत्पादित दो टन कच्चु कतर जाएगा। मंगलवार को उपायुक्त वरूण रंजन व उप विकास आयुक्त अनमोल कुमार सिंह ने दो टन कचु से भरे वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मौके पर उपायुक्त ने कहा कि एडीपा भारत की संस्था है। उनके साथ मिलकर चास- हाट परियोजना चला रहे हैं। इस योजना से 8000 किसानों को जोड़ा गया है। उनके खेतों से जो प्रोडक्शन होगा उसको कोशिश करेंगे कि अंतर्राष्ट्रीय मानक के प्रोडक्शन हो ताकि अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय बाजार में प्रीमियम प्रोडक्ट के रूप में इसको भेज सकें।

इससे किसानों को संबल मिलेगा। किसानों की एक बड़ी समस्या रहती है कि प्रोडक्शन करने के बाद भी अच्छा बाजार उपलब्ध नहीं हो पाता। उस चुनौती को एपीडा के सहयोग से पूरा किया जा रहा है। आने वाले समय में पाकुड़ जिले के लिए कोशिश होगी कि यहां के किसानों को बेहतर से बेहतर बाजार दिला सकें।

कार्यशाला का आयोजन चास- हाट परियोजना को बढ़ाने को लेकर फसल उत्पादन बाजार एवं विपणन विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन मंगलवार को कलेक्ट्रेट में किया गया। जिला कार्यक्रम प्रबंधक ने चास- हाट परियोजना का विस्तृत परिचय किसानों को कराया। वहीं जेबीएल इंटरप्राइजेज कोलकाता के गोपाल शाह ने बाजार की आवश्यकता एवं विपणन पर किसानों को जागरूक किया। एपीडा के संदीप साहा ने व्यापार प्रबंधन एवं सरकारी सहायता के बारे में किसानों को विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर डीआइओ ऋषि राज, जेएसएलपीएस के जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रवीण मिश्रा मुख्य रूप से उपस्थित थे।