top menutop menutop menu

अनुशासनहीनता के आरोप में आरक्षी निलंबित

फोटो फाइल संख्या 22 पीकेआर 5 में

-शराब के नशे में आरक्षी ने थाने में किया बवाल, पुलिस कर्मियों को दी गालियां

-चौकी को लेकर उत्पन्न विवाद में वर्दी और टोपी जलाने का आरोप

-एसडीपीओ व पुलिस निरीक्षक ने की मामले की जांच

संवाद सूत्र, हिरणपुर(पाकुड़) : बीती सोमवार की रात हिरणपुर थाने में नशे में धुत्त कार्यरत आरक्षी अशोक प्रियदर्शी ने चौकी(बेड) को अपने कमरे में ले जाने के जिद्द में हुए विवाद में करीब एक घंटे तक थाने में बवाल मचाता रहा। इस दौरान उसने अपने थाना प्रभारी सहित अन्य अधिकारियों के साथ बदसूलकी करते हुए गाली ग्लौज करते हुए मारपीट को उतारू हो गए। नशे में सुधबुध खो चुके जवान ने नग्न अवस्था में अपनी वर्दी, टोपी, किताबें, इलेक्ट्रॉनिक हीटर, फर्नीचर को आग के हवाले कर दिया। जबकि बैरक में रखे बर्तन व खाद्य सामग्री को बाहर फेंक दिया। थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस कर्मियों के समझाने बुझाने के बाद भी नहीं मानने पर उसे हाजत में डाल दिया गया।

मामले की जानकारी देते हुए थाना प्रभारी बृजमोहन राम ने बताया कि घटना के दिन आरक्षी अशोक प्रियदर्शी चौकी लेने के लिए एसआई शिवलाल राम के कमरे में गया हुआ था। वह चौकी जबरन ले जाना चाहता था। जिसका विरोध करने पर आरक्षी ने एसआई शिवलाल व एएसआई प्रेम मुर्मू के साथ उसने गाली देने लगा। हो हल्ला को सुन जब वे थाना परिसर पहुंचे तो पाया कि जवान अशोक को हल्ला करते हुए पाया। बाद में इसकी सूचना पर सार्जेंट मेजर अवधेश कुमार दलबल के साथ हिरणपुर थाने पहुंच कर आरक्षी को अपने साथ पाकुड़ लेते गए। एसडीपीओ ने की मामले की जांच

एसडीपीओ अशोक कुमार सिंह, पुलिस निरीक्षक हरिपद हांसदा बुधवार को हिरणपुर थाने पहुंच कर थाना प्रभारी व एसआई शिवलाल राम से घटना की पूरी जानकारी ली। इस दौरान पूरे मामले की जानकारी दी गई। एसपी ने आरक्षी को किया निलंबित

थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस पदाधिकारियों के साथ अभद्र व्यवहार करनेवाले आरक्षी मिली शिकायत के बाद एसपी ने मामले की जांच कराई। जिसमें मामले को सत्य पाए जाने पर उसे निलंबित कर दिया गया। वर्जन..

एसआई शिवलाल के कमरे में रखे चौकी को लेकर विवाद हुआ था। इसी बात को लेकर दोनों ओर से गाली-ग्लौज हुई थी।

अशोक प्रियदर्शी, आरक्षी हिरणपुर थाना, पाकुड़ जांच के बाद मामला सही पाया। आरक्षी ने नशे की हालत में अनुशासनहीनता का कार्य किया है। तत्काल उसे निलंबित किया गया है। जांच के बाद आगे भी कार्रवाई हो सकती है।

अशोक कुमार सिंह, एसडीपीओ

पाकुड़

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.