नक्सलियों के गढ़ नावागढ़ में डीसी ने पत्नी के साथ जलाई शिक्षा की अलख

नक्सलियों के गढ़ नावागढ़ में डीसी ने पत्नी के साथ जलाई शिक्षा की अलख

जागरण संवाददाता लातेहार कभी नक्सलियों का गढ़ समझा जाने वाला नावागढ़ उपायुक्त ने बच्चों को पाठ पढ़ाया।

JagranFri, 26 Feb 2021 06:21 PM (IST)

जागरण संवाददाता, लातेहार : कभी नक्सलियों का गढ़ समझा जाने वाला नावागढ़ उपायुक्त अबू इमरान, पत्नी जबीन फातिमा के साथ पहुंचे। उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में शिक्षा का अलख जगाया। उपायुक्त ने अपनी पत्नी के साथ इंटर व मैट्रिक के बच्चों की क्लास ली एवं जीवन में सफलता के मूलमंत्र दिए। कभी यहां के युवा हाथों में बंदूक उठाया करते थे। उपायुक्त व उनकी पत्नी ने विद्यालय पहुंच कर बच्चों का उत्साह बढ़ाने के लिए कलम एवं डायरी दी एवं जीवन में कभी पढ़ाई या रोजगार में शार्टकट नहीं अपनाने की बात कही।

बच्चों का बढ़ाया उत्साह :

सदर प्रखंड के नावागढ़ गांव कभी नक्सलियों का गढ़ माना जाता था। यहां के युवा कलम कम बंदूक ज्यादा थामते थे। उपायुक्त एवं उनकी पत्नी जबीन फातिमा प्लस टू उच्च विद्यालय नावागढ़ में बच्चों का क्लास लेते हुए उनका खूब उत्साह बढ़ाया। इस दौरान सवालों का सही जबाव देने वालों को हाथों में कलम एवं डायरी दिया। इस दौरान उपायुक्त ने बच्चों को पढ़ाई या रोजगार में कभी भी गलत रास्ता नहीं चुनने की अपील की। उपायुक्त के द्वारा जीवन में पढ़ाई के महत्व एवं कलम की ताकत की भी जानकारी दी गई।

पढ़ाई या रोजगार में कभी शार्टकट न हो : उपायुक्त

सदर प्रखंड के नावागढ़ गांव स्थित उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में इंटर एवं मैट्रिक के बच्चों को पढ़ाने पहुंचे उपायुक्त ने जीवन के सफलता के मूलमंत्र दिया। उन्होंने कहा कि पढ़ाई हो या रोजगार कभी भी शाटकर्ट नहीं अपनाएं। उन्होंने बताया कि पढ़ाई सिर्फ परीक्षा पास करने के लिए ही नहीं करें बल्कि जीवन में सफलता के लिए करें। किसी भी विषय की जानकारी जीवन को नया आयाम देता है आप पूरी लगन एवं ईमानदारी से पढ़ाई करें एवं आत्मविश्वास बनाए रखें।

------------

सफलता के लिए आत्मविश्वास जरूरी : फातिमा

नावागढ़ उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में पढ़ाने पहुंची उपायुक्त की पत्नी जबीन फातिमा ने छात्रों को जीवन में समय के महत्व को समझाया और क्लास में पढ़ाते हुए लक्ष्य निर्धारित कर करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जीवन में अगर सफल होना है तो सबसे पहले खुद में आत्मविश्वास पैदा करना होगा। इस दौरान उन्होंने बच्चों को पूरी लगन के साथ समय निर्धारित कर पढ़ने की बात कही एवं महत्वपूर्ण तथ्यों को दिमाग में रख कर ही सफल होने की बात बताई।

सिलेबस आधारित पढ़ाया पाठ :

सदर प्रखंड के नावागढ़ स्थित उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में इंटर एवं मैट्रिक के बच्चों को पढ़ाने पहुंचे उपायुक्त व उनकी पत्नी ने सिलेबस आधारित पाठक्रम को पढ़ाया। इस दौरान उपायुक्त ने इंग्लिश, इतिहास, राजनीति शास़्त्र, भूगोल व गणित पाठक्रम आधारित पाठ पढ़ाया। उपायुक्त ने बच्चों को अंग्रेजी बोलने एवं पढ़ने की कला सिखाई। वहीं इतिहास, राजनीति शास्त्र समेत अन्य विषयों की तथ्यों को याद करने के तरीकों से अवगत कराया।

उपायुक्त ने खुद छात्र बन जानी बच्चों की कमियां व बढ़ाया आत्मविश्वास :

नावागढ़ उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में इंटर व मैट्रिक के बच्चों को पढ़ाने पहुंचे उपायुक्त अबू इमरान खुद छात्र बन गए एवं बेंच पर बच्चों के साथ ही बैठकर उनकी कमियों को जाना। इस दौरान उपायुक्त ने बच्चों में पढ़ाई के प्रति आत्मविश्वास भी भरा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.