जानिए, झारखंड में कहां-कितने पारा शिक्षकों ने दी गिरफ्तारी

कोडरमा/चतरा/गिरिडीह, जेएनएन। झारखंड में मंगलवार को मांगों के हक में हजारों पारा शिक्षकों ने गिरफ्तारी दी। 

जानें, कहां दी गिरफ्तारी
पूर्वी सिंहभूम में 484 पारा शिक्षकों ने गिरफ्तारी दी। जिले के 2198 पारा शिक्षकों में 67 ने योगदान दिया। इसमें डीएलएड का प्रशिक्षण लेने वाले 48 पारा शिक्षक शामिल हैं। इन पारा शिक्षकों ने पहले ही हड़ताल में शामिल न रहने की घोषणा कर रखी है। मंगलवार को इससे अलग 19 पारा शिक्षकों ने विभिन्न स्कूलों में योगदान दिया है।

पश्चिम सिंहभूम में मंगलवार को 1742 पारा शिक्षकों ने अपने-अपने थाना क्षेत्र में गिरफ्तारी दी। सभी को देर शाम निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। करीब 60 पारा शिक्षकों ने अपने-अपने विद्यालयों में मंगलवार को योगदान दिया। जिले में करीब 2200 पारा शिक्षक हैं।

लोहरदगा जिले में मंगलवार को कुल 835 में से 830 पारा शिक्षक हड़ताल पर रहे। जबकि विभिन्न विद्यालयों में मात्र 5 पारा शिक्षक कार्यरत रहे। जिले में 184 नव प्राथमिक विद्यालय और 3 सरकारी विद्यालय पारा शिक्षकों के भरोसे हैं। पारा शिक्षकों की हड़ताल की वजह से मंगलवार को कुल 83 विद्यालयों में पठन-पाठन कार्य ठप रहा। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत जिले के पांच थाना क्षेत्रों में कुल 380 पारा शिक्षकों ने गिरफ्तारी दी है।

कोडरमा में पारा शिक्षकों के आंदोलन को लेकर मंगलवार को  दिनभर पूरे जिले में गहमागहमी का माहौल रहा। विभिन्न थाना क्षेत्रों में पारा शिक्षक अपने प्रखंड इकाई के नेतृत्व में थाना में जाकर गिरफ्तारी दी। शाम तक पूरे जिले में 1127 पारा शिक्षकों ने मुखिया व अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ अपनी गिरफ्तारी दी। इससे पूर्व पारा शिक्षक जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए पारा शिक्षक थाना तक पहुंचे। यहां पुलिसकर्मियों के द्वारा पारा शिक्षकों को गिरफ्तार कर कैंप जेल में रखा गया। 

कोडरमा में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते पारा टीचर।

कोडरमा में सतगावां के उत्क्रमित मध्य विद्यालय सिहास में पारा शिक्षक हड़ताल पर रहने से सीआरपीएफ के जवानों ने संभाला स्कूल का दायित्व। यहां उग्रवाद उन्मूलन के लिए खोला गया है सीआरपीएफ का कैंप।

चतरा में पारा शिक्षक मांगों पर अडिग, 170 ने दी गिरफ्तारी
एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के तत्वाधान में मंगलवार को जेल भरो आंदोलन कार्यक्रम किया गया। जिसके तहत प्रखंड के 170 पारा शिक्षको ने गिरफ्तारी दी। हालांकि प्रशासन द्वारा करीब दो घंटे के बाद सभी पारा शिक्षकों को मुक्त कर दिया। पारा शिक्षकों की गिरफ्तारी प्रभारी थाना प्रभारी नाथुन सिंह, सहायक अवर निरीक्षक जयराम सिंह सहित अन्य अधिकारियों ने ली। इसके पूर्व प्रखंड अध्यक्ष रामकुमार यादव के नेतृत्व में मुक्त चौक से जुलूस निकाला गया। जो स्थानीय थाना पहुंचा। पारा शिक्षकों ने रघुवर सरकार हाय हाय,भाजपा होश में आओ,हमारी मांगें जल्द पूरा करो,गिरफ्तार पारा शिक्षकों को जल्द रिहा करो का नारा बुलंद किया।
आंदोलन मुख्य चौक से थाना परिसर तक किया गया।जिसमें सैकड़ों शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भाग लिया।

सरायकेला में गिरफ्तारी देते पारा शिक्षक।

गिरफ्तारी देने वालों में प्रखंड अध्यक्ष रामकुमार यादव, मुनेश्वर यादव, संदीप कुमार सिंह, सीआरसी अध्यक्ष सोहन राणा, श्रवण कुमार,मोहन कुमार, संजय कुमार दांगी, उपेन्द्र दांगी, विजय शंकर, ब्रह्मदेव पासवान,पायल प्रिया, ममता कुमारी, मीरा सिन्हा, बासुदेव साव, गंगाधर राणा, कविता कुमारी, मनोज कुमार,अमरेश, राजेश नापित, रामजीवन साव, ओमप्रकाश गुप्ता, कामदेव राणा, संजय तिवारी,विवेकानन्द तिवारी, दीपेश्वर यादव,फूलवन्ती कुमारी,सुनीता कुमारी,नीतू सिंह ऋषि कपूर वर्मा, सहित अन्य शामिल थे।

गिरिडीह में पांच हजार से अधिक पारा शिक्षकों ने दी गिरफ्तारी
गिरिडीह में लाठीचार्ज के विरोध में एवं स्थायीकरण समेत अन्य मांगों को लेकर मंगलवार को करीब पांच हजार से अधिक पारा शिक्षकों ने अपनी गिरफ्तारी दी है। गिरफ्तारी देने वालों में पारा शिक्षकों के अलावा उनके परिजन, रसोइया एवं राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ता भी शामिल हैं। जिले के सभी 13 प्रखंड मुख्यालयों में पारा शिक्षक सपरिवार सड़कों पर उतरे। सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए थाना पहुंचे और गिरफ्तारी दी।

गिरिडीह के पीरटांड़ में गिरफ्तारी देते पारा शिक्षक।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.