युवाओं को हुनरमंद बना रही सरकार: नीरा

कोडरमा : समाहरणालय परिसर के प्रागंण में झारखण्ड कौशल विकास मिशन सोसाईटी द्वारा कैंपस ड्राइव के तहत रोजगार मेला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्यअतिथि डॉ. नीरा यादव, उपायुक्त रमेश घोलप, कौशल विकास सोसाइटी के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी अमर झा, डीडीसी आलोक त्रिवेदी ने संयुक्त रुप से द्वीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि आज युवाओं में लाइफ स्टाइल चेंज करने की ललक है। हर लोग अपनी क्षमता का प्रदर्शन करना चाहते है। युवाओं में नौकरी पाने की ललक कुछ कर दिखाने की क्षमता को लेकर है, जो भविष्य के लिए बेहतर संकेत है। उन्होंने कहा कि सरकार तेजी से युवाओं को हुनरमंद बना रही है। कौशल विकास सोसाइटी का गठन कर प्रधानमंत्री के सोच को साकार किया जा रहा है। आज कोडरमा में भी सैकड़ों युवा कौशल विकास कर आत्म निर्भर बन रहे है। राज्य में वर्ष 2018 में 26 हजार तथा 19 में स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर एक लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा गया, जो युवाओं के उत्थान के दिशा में सरकार की बेहतर पहल है। उन्होंने कहा कि अब बच्चों की प्रतिभा को निखारने के दिशा में लगातार काम चल रहा है। कौशल विकास के बढ़ावा से पलायन पर अंकुश लगा है। राज्य के युवाओं को दूसरे शहरों में काम की तलाश में जाने की आवश्यकता नहीं है। युवाओं को यह नहीं सोचना है कि वह पढ़े कितना है, बल्कि वे यह प्रयास करे की उन्हें किस क्षेत्र में अपने हुनर को आजमाना है। सरकार हर ऐसे लोगों को सहयोग कर रही है। उपायुक्त ने कहा कि राज्य में जिस सोच से कौशल विकास मिशन की शुरुआत हुई है, उसका असर अब गांवों में भी दिख रहा है। गांवों के बच्चे भी विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण प्राप्त कर क्षमतावान बन रहे है। कहा कि जो बच्चे जिस क्षेत्र में नौकरी करना चाहते हैं, उनको रोजगार प्रदान करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कौशल विकास के कार्यक्रम जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। वहीं मिशन के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी ने मिशन द्वारा किये जा रहे कार्याें की जानकारी दी। कहा कि मिशन के तहत राज्य में हर क्षेत्र में युवाओं को कुशल बनाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान का सकारात्मक परिणाम सामने आ रहा है। युवक-युवतियां कुशल बनकर आत्मनिर्भर बन रही है। उन्होंने कौशल विकास के कार्यक्रम को वर्तमान परिदृश्य में पूरे विश्व की आवश्यकता बताई एवं इससे व्यक्तिगत के साथ-साथ पूरे देश के आर्थिक संवर्धन की बात कही। 14 से अधिक कंपनियों के लगाए गए स्टॉल :

कोडरमा: जिले के समाहरणालय परिसर में आयोजित रोजगार मेले में 14 से अधिक कंपनियों के स्टॉल लगाये गये।मिशन के अधिकारियों के अनुसार इस मेले में दर्जनों लोगों को रोजगार व कंपनियों में नौकरी से जोड़ा गया। जबकि 292 युवा-युवतियों को रोजगार से जोड़कर ऑफर लेटर दिया गया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.