वैक्सीन लगवाने में जिले के युवाओं से अधिक सजग हैं बुजुर्ग

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को रोकने और उससे बचाव का फिलहाल एकमात्र उपाय टीकाकरण है। सरकार लोगों को सुरक्षित रखने के लिए व्यापक पैमाने पर टीकाकरण अभियान चला रही है।

JagranSun, 25 Jul 2021 08:55 PM (IST)
वैक्सीन लगवाने में जिले के युवाओं से अधिक सजग हैं बुजुर्ग

खूंटी : कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को रोकने और उससे बचाव का फिलहाल एकमात्र उपाय टीकाकरण है। सरकार लोगों को सुरक्षित रखने के लिए व्यापक पैमाने पर टीकाकरण अभियान चला रही है। जिले के विभिन्न स्थानों में टीकाकरण शिविर लगाए जाने के साथ सुदूरवर्ती गांवों तक मोबाइल वैक्सीनेशन वैन द्वारा लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं। टीकाकरण के शुरुआती दौर में हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से उन्हें ही टीका लगाया गया। इसके बाद वृद्धजनों और फिर 18 से 44 वर्ष उम्र वालों को टीकाकरण में शामिल किया गया। लेकिन, 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण के इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग के अनेक प्रयासों के बाद भी लक्ष्य का आंकड़ा दूर नजर आ रहा है। ऐसा नहीं कि इस टीकाकरण अभियान में आम नागरिक टीका से परहेज कर रहे हैं। शुरुआती दौर में टीका को लेकर लोगों में भ्रम फैला था। जागरूकता अभियान के बाद ग्रामीणों को वैक्सीन की सारी जानकारी मिली। लोगों को बताया गया कि वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और कोरोना संक्रमण से बचाव का एकमात्र उपाय है। वैक्सीन का महत्व जानने के बाद ग्रामीण वैक्सीन लगाने के लिए आगे आए। जिले के ग्रामीणों का रुझान ऐसा रहा कि जिले के एक दर्जन से अधिक गांवों में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया।

जिले में हेल्थ केयर व फ्रंटलाइन वर्करों का टीकाकरण लगभग पूरा हो गया है। जिले के 98 प्रतिशत हेल्थ केयर व 97 प्रतिशत फ्रंट लाइन वर्करों ने टीका की पहली डोज ले ली है। लेकिन 18 से 44 साल की आयु वर्ग के लोगों ने टीकाकरण के प्रति दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। इसका परिणाम है कि जिले में टीकाकरण की पहली डोज के लिए निर्धारित किए गए दो लाख 53 हजार 698 के लक्ष्य में से मात्र 65 हजार 427 लोगों ने टीका लगवाया है। हालांकि, जिन युवाओं ने टीके की पहली डोज ली उन्होंने दूसरी डोज लेने में काफी दिलचस्पी दिखाई। जिले में अब तक 92 प्रतिशत युवाओं ने टीका की दूसरी डोज लगवाई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि हालांकि युवाओं के लिए शुरुआती दौर में कम सेंटरों पर स्लॉट उपलब्ध हो रहे थे। सिविल सर्जन के अनुसार अब युवाओं के लक्ष्य तक पहुंचने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

-----------

बुजुर्गों ने टीकाकरण में दिखाई रुचि

टीकाकरण अभियान में सरकार के स्तर पर कम मिल रहे वैक्सीन के बावजूद बुजुर्गों ने टीकाकरण में रुचि दिखाई है। टीकाकरण अभियान के दौरान 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 52 प्रतिशत बुजुर्गों ने टीके की पहली डोज ले ली है। जिले में 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 52104 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसमें 27338 बुजुर्गो ने टीका लगवा लिया है। वहीं इसके विपरीत टीका का दूसरा डोज लगवाने में बुजुर्ग पीछे रह जा रहे हैं। 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 25288 लोगों को टीके की दूसरी डोज लगाने का लक्ष्य था, जिसमें 7933 ने ही दूसरा डोज लगवाई है। वैसे जिला में टीकाकरण के लिए निर्धारित लक्ष्य चार लाख 91 हजार 117 में अबतक एक लाख 38 हजार 306 लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है।

-----

कोरोना से बचाव में टीका ही एकमात्र उपाय है। लोगों को टीका अवश्य लगवाना चाहिए। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए बनी सभी टीके सुरक्षित हैं। जिले में टीकाकरण की रफ्तार ठीक है। संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए सभी योग्य लोगों को टीका लगवा लेना चाहिए। ताकि स्वयं के साथ पूरे परिवार व समाज इस महामारी से अछूता रहे। टीकाकरण में युवाओं को आगे आने की जरूरत है।

- डॉ प्रभात कुमार, सिविल सर्जन, खूंटी

---

आंकडों में खूंटी जिले का वैक्सीनेशन

आयु वर्ग - लक्ष्य - प्रथम डोज - प्रतिशत

18-44 उम्र - 253698 - 65427 - 26

45-59 उम्र - 83119 - 33644 - 40

60 से अधिक- 52104 - 27338 - 52

हेल्थ केयर - 2842 - 2790 - 98

फ्रंटलाइन वर्कर - 9354 - 9107 - 97

---

आयु वर्ग - लक्ष्य - दूसरा डोज - प्रतिशत

18-44 उम्र - 3425 - 3142 - 92

45-59 उम्र - 27644 - 10022 - 36

60 से अधिक- 25288 - 7933 - 31

हेल्थ केयर - 2713 - 2184 - 81

फ्रंट लाइन - 8805 - 7224 - 82

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.